BREAKING NEWS

हैदराबाद में GHMC चुनाव की मतगणना जारी, प्रचार अभियान में BJP ने झोंक दी थी पूरी ताकत◾TOP 5 NEWS 04 DECEMBER : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾दुनियाभर में कोरोना महामारी का हाहाकार, संक्रमितों का आंकड़ा साढ़े 6 करोड़ के पार ◾आज का राशिफल ( 4 दिसंबर 2020 )◾अगले सप्ताह सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात जा सकते हैं सेना प्रमुख जनरल नरवणे ◾PM मोदी IIT 2020 वैश्विक शिखर सम्मेलन को करेंगे संबोधित◾अमरिंदर ने शाह से मुलाकात की : केंद्र किसानों से जल्द गतिरोध समाप्त करने की अपील की◾कृषि कानूनों के विरोध में प्रकाश सिंह बादल ने लौटाया पद्म विभूषण ◾SC ने कोरोना के आंकड़ों की दुबारा जाच के तरीके के बारे में केजरीवाल सरकार से मांगी जानकारी◾दिल्ली में 24 घण्टे में संक्रमण के 3734 नए मामले आये सामने, 82 लोगों की मौत◾साढ़े सात घंटे तक चली किसानों और सरकार के बीच बैठक बेनतीजा, अब 5 दिसंबर को अगली वार्ता ◾गृह मंत्री बासवराज बोम्मई का ऐलान, कहा- लव जिहाद के खिलाफ कर्नाटक में भी लागू होगा कानून ◾किसान आंदोलन: आपस में उलझे CM अमरिंदर और केजरीवाल, कैप्टन को बताया 'मोदी भक्त' ◾नए कृषि कानूनों के विरोध में राज्यसभा सांसद सुखदेव ढींढसा ने भी लौटाया पद्मभूषण◾CM ममता की केंद्र को चेतावनी, 'कृषि कानूनों को वापस नहीं लिया गया तो देशव्यापी विरोध प्रदर्शन होगा शुरू'◾मीटिंग के दौरान किसानों ने सरकार के लंच को ठुकराया, लंगर से मंगा कर जमीन पर बैठ कर किया भोजन ◾गुजरात में मास्क न पहनने वालों की कोविड सेंटर पर ड्यूटी लगाने के निर्देश पर सुप्रीम कोर्ट की रोक ◾इंटरपोल की चेतावनी - अपराधी गिरोह कोविड-19 का नकली टीका बेच सकते हैं, रहें सावधान ◾अंतिम दौर में कोरोना वैक्सीन का ट्रायल, अगले महीने तक भारत को भी मिलेगा टीका : रणदीप सिंह गुलेरिया◾'अश्विनी मिन्ना' मेमोरियल अवार्ड में आवेदन करने के लिए क्लिक करें ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

चक्रवात तूफान अम्फान : CM ममता बनर्जी ने कहा- तटीय इलाकों से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने सहित सभी एहतियाती कदम उठाये गए हैं

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को कहा कि चक्रवात अम्फान के चलते पैदा होने वाली किसी अकस्मात स्थिति से निपटने के लिये तटीय इलाकों से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने सहित सभी एहतियाती कदम उठाये गये हैं। यह तूफान राज्य की ओर तेजी से बढ़ रहा है। ममता ने कहा कि आपदा प्रबंधन विभाग, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) और राज्य आपदा राहत बल (एसडीआरएफ) को जोखिम वाले इलाकों में भेजा गया है। ममता ने राज्य सचिवालय में कहा, ‘‘हम अम्फान के लिये स्थिति की निगरानी कर रहे हैं। मुख्य सचिव राजीव सिन्हा, गृह सचिव अल्पन बंदोपाध्याय और आपदा प्रबंध विभाग स्थिति पर करीबी नजर रखे हुए है।’’ एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने कहा कि राहत सामग्री, पैक भोजन, अन्य जरूरी वस्तुएं राज्य के तटीय इलाकों में भेजी गई हैं।

चक्रवात अम्फान एक प्रचंड तूफान में तब्दील हो गया है और इसके उत्तर पूर्व बंगाल की खाड़ी से गुजरने, पश्चिम बंगाल एवं बांग्लादेश तट को दीघा एवं हतिया द्वीप के बीच से 20 मई को पार करने की संभावना है। मौसम विभाग ने पश्चिम बंगाल को ऑरेंज चेतावनी जारी की है। साथ ही, कोलकाता, हुगली, हावड़ा, उत्तर एवं दक्षिण 24 परगना तथा पूर्वी मिदनापुर जिलों में बड़े पैमाने पर नुकसान होने के प्रति आगाह किया। सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चक्रवात अम्फान से निपटने की तैयारियों की समीक्षा के लिये एक उच्च स्तरीय बैठक की, जिसमें राज्य के रेजीडेंट कमिश्नर शरीक हुए। हालांकि, मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्हें इस बैठक के बारे में कोई जानकारी नहीं है।

ममता ने कहा कि केंद्र सरकार ने समीक्षा बैठक बुलाते समय प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया क्योंकि उसने राज्य से संपर्क नहीं किया। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘मेरे पास ज्यादा सूचना नहीं है, यहां तक कि मुख्य सचिव को जानकारी नहीं थी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘नियम यह है कि यदि आप बैठक में राज्य के किसी अधिकारी को बुला रहे हैं तो सरकार को इस बारे में सूचना देनी चाहिए, या यह मुख्य सचिव के परामर्श के साथ किया जाना चाहिए। हालांकि, किसी से मशविरा नहीं किया गया। मैं नहीं जानती कि इसे असंवैधानिक कहा जाना चाहिए, या नहीं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘इसमें रेजीडेंट कमिश्नर का क्या काम था। क्या वह राज्य सरकार है? मुझे लगता है कि गृह मंत्रालय को गुमराह किया गया। सिर्फ भगवान जानते हैं कि क्या हुआ।’’मुख्यमंत्री ने राज्य के तटीय इलाके में रह रहे लोगों से अगले तीन-चार दिनों तक सतर्क रहने को कहा है। उन्होंने कहा, ‘‘दक्षिण 24 परगना, उत्तर 24 परगना और ईस्ट मिदनापुर में रह रहे लोगों को, खासतौर पर कच्चे मकानों में रहने वाले लोगों को, सावधान रहना चाहिए। ममता ने कहा, ‘‘मुझे बताया गया है कि तूफान उग्र रूप धारण कर रहा है। हमने अधिकारियों को लोगों को इस बात के लिये मनाने का निर्देश दिया है कि वे लॉकडाउन के दिशानिर्देशों का पालन करते हुए सुरक्षित स्थानों पर चले जाएं।’’ मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘आपदा प्रबंधन, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ की टीमें जिलों में भेजी गई हैं।’’