BREAKING NEWS

खून की नदियां' जैसे बयान से किसे चुनौती दे रहा विपक्ष : अमित शाह◾Top 20 News 22-May : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾भारत ने किया रिसैट-2बी का प्रक्षेपण, घने बादलों के बावजूद भी ले सकेगा पृथ्वी की तस्वीरें◾न्यायालय ने बैरकपुर सीट से भाजपा प्रत्याशी को 28 तक गिरफ्तारी से संरक्षण प्रदान किया◾विपक्ष हारा हुआ है, वीवीपैट मुद्दे पर हताशा उनकी हार का संकेत : पासवान◾हेलीकॉप्टर घोटाला : ईडी ने कथित रक्षा एजेंट के खिलाफ पूरक आरोप-पत्र किया दायर◾वीवीपैट पर्चियों की गिनती की मांग किस आधार पर खारिज की गई : कांग्रेस◾नये सांसदों को आते ही मिलेगा स्थायी पहचान पत्र◾लोकसभा चुनाव 2019 : प्रज्ञा ठाकुर, आजम खान और मुनमुन सेन जैसे नेता अपने बयानों से सुर्खियों में छाये रहे◾VVPAT मिलान की प्रक्रिया में कोई बदलाव नहीं होगा : चुनाव आयोग◾लोकसभा चुनाव में 724 महिला उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला कल !◾एग्जिट पोल शेयर बाजार में तेजी लाने और विपक्षी दलों की एकता तोड़ने के लिए : मोइली◾ईवीएम को लेकर उदित राज का विवादास्पद बयान, बोले- क्या सुप्रीम कोर्ट भी धांधली में शामिल है◾परिवार का रंग नहीं जमने पर विपक्ष साध रहा EVM पर निशाना : नकवी◾राहुल ने कार्यकर्ताओं से कहा- फर्जी एग्जिट पोल से निराश न हों, रहें सतर्क◾लोकसभा चुनाव : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने की 150 सभाएं और रोड शो◾PM मोदी पर राहुल ने की थी विवादित टिप्‍पणी, FIR दर्ज हो या नहीं, अदालत ने फैसला सुरक्षित रखा◾...तो कांग्रेस और राहुल गांधी के लिए सहज स्थिति हो सकती है सीटों का शतक !◾लोकसभा चुनाव की मतगणना कल, परिणामों में विलंब की संभावना◾भाजपा उम्मीदवार की गिरफ्तारी से बचने संबंधी याचिका पर सुनवाई करने पर सहमत SC◾

आचार संहिता में छूट के लिए पत्र लिखेगी सरकार

देहरादून : उत्तराखंड में लोकसभा चुनाव के लिए मतदान हो चुका है, लेकिन तकनीकी तौर पर प्रदेश में आचार संहिता पूरे देश के समान 27 मई तक जारी रहेगी। इसके चलते राज्य सरकार अब भारत निर्वाचन आयोग को पत्र लिखकर जरूरी मामलों के लिए आचार संहिता से छूट देने की मांग करने जा रही है।

सूत्रों के अनुसार सरकार की ओर से एक-दो दिन में संबंधित पत्र भारत निर्वाचन आयोग को भेज दिया जाएगा। दस मार्च को लोकसभा चुनाव की घोषणा होने के साथ ही देशभर में आदर्श आचार संहिता लागू करने की घोषणा कर दी गई थी। लोकसभा चुनाव के लिए उत्तराखंड में पहले चरण में मतदान हो चुका है, लेकिन आचार संहिता के चलते राज्य सरकार अब भी नीतिगत निर्णय लेने के साथ विकास कार्यों पर आगे नहीं बढ़ पा रही है।

इसके चलते राज्य सरकार अब भारत निर्वाचन आयोग से आचार संहिता में छूट देने की मांग करने जा रही है। मुख्य सचिव की तरफ से इस बाबत मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय के माध्यम से भारत निर्वाचन आयोग को पत्र लिखा जा रहा है। सरकार को चिंता इस बात की भी है कि उत्तराखंड में सड़क, पुल जैसे बड़े निर्माण करने का मुख्य समय जून मध्य तक ही है।

इसके बाद यहां बारिश शुरू होने के चलते निर्माण संभव नहीं हो पाता। यदि आचार संहिता से छूट नहीं मिलती है तो बरसात से पहले निर्माण संभव नहीं होगा। इसके साथ ही एक महीने के भीतर चारधाम यात्रा भी शुरू होने जा रही है। इसके लिए सरकार को कई निर्णय लेने हैं और इसके लिए आचार संहिता में छूट जरूरी है।