BREAKING NEWS

देवास-एंट्रिक्स डील को लेकर वित्त मंत्री ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा- यह धोखाधड़ी का सौदा था◾सुल्ली डील्स और बुली बाई के बाद क्लबहाउस ऐप बना रही महिलाओं को निशाना, DCW ने भेजा पुलिस को नोटिस ◾हिन्दुओं के खिलाफ घृणा फैलाने वालों को प्रोत्साहित करने की स्पर्धा है कांग्रेस, SP में: BJP◾अब गोवा चुनाव के लिए CM उम्मीदवार का ऐलान करने की तैयारी में केजरीवाल, कल बताएंगे कौन होगा सीएम का चहेरा◾केजरीवाल मान को नहीं बनाना चाहते थे CM उम्मीदवार, बादल बोले- कोई नहीं करना चाहता AAP का नेतृत्व ◾ कांग्रेस ने गोवा चुनाव के लिए जारी की उम्‍मीदवारों की तीसरी लिस्‍ट, जानें कहां से लड़ंगे BJP छोड़ने वाले माइकल ◾गणतंत्र दिवस की परेड पर मंडराया कोविड का साया, इतने ही लोगों को मिलेगी शामिल होने की अनुमति◾चंद्रशेखर ने अकेले चुनाव लड़ने का किया ऐलान, अखिलेश को बताया 'धोखेबाज', कहा- बात से पलटते हैं तो...◾बेटे के लिए इस्तीफा देने को तैयार हुई भाजपा सांसद रीता बहुगुणा जोशी, जानिए क्या है पूरी खबर◾यूपी: PM मोदी ने भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ किया डिजिटल संवाद, जानिए उनकी बातचीत की अहम बातें◾अखिलेश ने किया चुनावी वादा, बोले- 300 यूनिट मुफ्त बिजली लेने वाले कल से कराएं अपना पंजीकरण◾भगवंत मान होंगे AAP के CM उम्मीदवार, 'जनता चुनेगी अपना सीएम' पोल में दूसरे नंबर पर नवजोत सिंह सिद्धू ◾UP विधानसभा चुनाव: सियासी दलों के बीच छिड़ी सुरों की जंग, जानिए कैसे गीतों के सहारे प्रचार कर रही हैं पार्टियां◾'ज़िंदगी झंड बा-फिर भी घमंड बा', रवि किशन के वायरल Video पर नवाब मलिक का तंज◾सुरक्षा चूक: जांच कमेटी की अध्यक्ष जस्टिस इंदु मल्होत्रा के बाद SC के वकील को फिर मिली धमकी, जानें मामला ◾पंजाब चुनाव से पहले ED का बड़ा एक्शन, चन्नी के भतीजे समेत 10 जगहों पर की छापेमारी, अमरिंदर बोले... ◾5 राज्यों में होने वाले चुनाव को लेकर हुई डिजिटल प्रचार की शुरुआत, पार्टियों में छिड़ी 'थीम सॉन्ग्स' की जंग ◾UP election: ग्रामीण इलाकों में अपनी पकड़ मजबूत करने के लिए कांग्रेस करेगी 'प्रतिज्ञा चौपाल' का आयोजन ◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की स्पीच में पड़ा खलल, राहुल ने ली चुटकी, बोले- टेलीप्रॉम्प्टर भी नहीं झेल पाया झूठ ◾यूपी: AIMIM ने बाहुबली अतीक अहमद की पत्नी को प्रयागराज से चुनावी मैदान में उतारा, मिलेगी कड़ी टक्कर◾

भवानीपुर उपचुनाव प्रचार के आखिरी दिन लहराईं बंदूकें, BJP का आरोप- TMC ने दिलीप घोष पर किया हमला

भवानीपुर विधानसभा सीट उपचुनाव के लिए चुनाव प्रचार के आखिरी दिन सोमवार को दक्षिण कोलकाता क्षेत्र में 30 सितंबर को होने वाले चुनाव से पहले तनाव बढ़ गया। यहां तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों ने भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष को कथित तौर पर शारीरिक रूप से प्रताड़ित किया, जब वह प्रियंका टिबरेवाल के लिए प्रचार कर रहे थे। यहां हालात इतने बिगड़ गए कि इलाके में बंदूकें भी तन गईं।

बता दें कि टिबरेवाल ममता बनर्जी के खिलाफ भाजपा उम्मीदवार के रूप में चुनावी मैदान में हैं। ये घटना भवानीपुर इलाके में जादूबाबर बाजार (जादू बाबू का बाजार) के पास हुई जहां तृणमूल समर्थकों ने घोष का रास्ता रोक दिया और उन्हें सड़क के किनारे धकेल दिया। समर्थकों ने भाजपा के "जय श्री राम" का मुकाबला करने के लिए ममता बनर्जी द्वारा गढ़ा गया एक नारा "जॉय बांग्ला" देना शुरू कर दिया और वापस जाने के लिए चिल्लाने लगे।

इस दौरान घोष के निजी सुरक्षा गार्डो और तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों के बीच हाथापाई हुई और भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पहरेदारों को बंदूक तानते देखा गया। घोष को घेर लिया गया और वहां से ले जाया गया। हाथापाई में एक भाजपा समर्थक घायल हो गया।

मीडिया से बात करते हुए, पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष घोष ने कहा, "देखो यह पश्चिम बंगाल की स्थिति है। वे किसी को भी प्रचार करने की अनुमति नहीं देंगे। मुझे धक्का दिया गया और पीटा गया क्योंकि मैं हमारे उम्मीदवार का यहां प्रचार के लिए आया था। राज्य में कोई लोकतंत्र नहीं है। हम इस घटना के खिलाफ एक औपचारिक शिकायत करेंगे।"

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने कहा, "हम एक बुजुर्ग के पैर छूते हैं। यह बंगाल की संस्कृति है। कुछ भी भूल जाओ। दिलीप घोष की उम्र देखिए। उन्हें लात मारी जा रही है!" उन्होंने कहा, "क्या यह राज्य की संस्कृति है? मैंने ये चीजें नहीं सीखी हैं। जब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी या अभिषेक बनर्जी दिल्ली जाते हैं तो हम उनका रास्ता भी रोक सकते हैं और 'जय श्री राम' का नारा दे सकते हैं। क्या हमने ऐसा किया है?"

"वे न केवल लोकतंत्र की हत्या कर रहे हैं, वे राज्य की संस्कृति को नष्ट कर रहे हैं। बंगाल के लोग इस गौरवशाली महिला को निकाल फेकेंगे।" हालांकि तृणमूल कांग्रेस की ओर से कोई प्रतिक्रिया उपलब्ध नहीं थी, लेकिन भबनीपुर से भाजपा उम्मीदवार, टायरवाल ने कहा, "वह भबनीपुर की कानून-व्यवस्था को नियंत्रित नहीं कर सकती मगर वह देश पर शासन करने का सपना देखती हैं। पहले उन्हें अपना निर्वाचन क्षेत्र संभालना चाहिए।"

प्रतापगढ़ हिंसा : कांग्रेस ने की न्यायिक जांच की मांग, अजय कुमार का आरोप- पुलिस ने आंशिक तरीके से किया काम