मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने बेटे नकुल के पक्ष में चुनाव प्रचार करते हुए कहा कि अगर उनका बेटा काम नहीं करे तो लोग उसके कपड़े फाड़ दें। कमलनाथ ने क्षेत्र से अपने 40 साल के जुड़ाव का जिक्र करते हुए कहा कि अब उन्होंने छिंदवाड़ा की जनता की सेवा करने का जिम्मा अपने बेटे को सौंपा है ताकि वह मध्यप्रदेश के लिए काम कर सके।

उन्होंने कहा, ‘‘मैं आज जहां हूं वहां इसलिए हूं क्योंकि आपने मुझे प्यार और ताकत दी है।’ वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने स्थानीय लोगों से कहा,”नकुल आज यहां नहीं है लेकिन वह आपकी सेवा करेगा। मैंने उसे यह जिम्मेदारी दी है। अगर वह काम नहीं करे तो उसे सजा दें और उसके कपड़े फाड़ दें।”

कांग्रेस नेता छिंदवाड़ा मुख्यालय से कम से कम 65 किलोमीटर दूर धनोरा गांव में बोल रहे थे। यह क्षेत्र अमरवाड़ा लोकसभा क्षेत्र के तहत आता है और छिंदवाड़ा जिला मुख्यालय से करीब 65 किमी दूर है। कमलनाथ ने कहा, “हम नई यात्रा की शुरुआत करेंगे और इतिहास रचेंगे।”

गौरतलब है कि कमलनाथ इस लोकसभा क्षेत्र से सबसे लंबे समय तक, नौ बार सांसद रहे हैं लेकिन अब उन्होंने अपने बेटे के लिए यह सीट छोड़ दी है। फिलहाल कमलनाथ छिंदवाड़ा विधानसभा सीट से उपचुनाव लड़ रहे हैं। नियमों के अनुसार, राज्य सरकार चलाने के लिए उनका विधानसभा का सदस्य होना जरूरी है।

शहादत का अपमान करने का हक किसी को नहीं : कमलनाथ

कमलनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर लोगों को गुमराह करने का आरोप भी लगाया।छिंदवाड़ा में 29 अप्रैल को मतदान होगा। पिछले लोकसभा चुनाव में मध्यप्रदेश में भाजपा ने 26 सीटें और कांग्रेस ने तीन सीटें जीती थीं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि जब वह (मोदी) देश को सुरक्षित हाथों में बताते हैं तो यह ‘सत्य की त्रासदी’ जैसा है। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, “सबसे ज्यादा आतंकी हमले जैसे कि संसद पर हमला भाजपा के सत्ता में रहने के दौरान हुआ। कारगिल युद्ध उन्हीं के समय में हुआ। आप कितना लोगों को मूर्ख बनाएंगे?”

कमलनाथ ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री ने खोखले वादे करके देश के लोगों को धोखा दिया है। उन्होंने कहा, “श्रीमान मोदी को जरूर जवाब देना चाहिए, सबसे पहले तो उन वादों का जवाब देना चाहिए जो उन्होंने 2014 में किए थे। ‘अच्छे दिन’ और 15 लाख रुपये (‘सभी के खाते में देने के वादे’) का क्या हुआ, किसानों से किए गए वादे का क्या हुआ?”

उन्होंने कहा, “मध्य प्रदेश के मतदाता साधारण और गरीब हैं और कुछ भी स्वीकार करना चाहते हैं। कभी-कभी निराश होना भी स्वीकार कर सकते हैं लेकिन ठगा जाना स्वीकार नहीं कर सकते हैं।” मुख्यमंत्री ने कहा कि मतदाता ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं क्योंकि मोदी स्किल इंडिया, मेक इन इंडिया, डिजिटल इंडिया और स्टैंड अप इंडिया के बारे में बात नहीं कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि उनके अनुसार कांग्रेस को मध्य प्रदेश की 29 लोकसभा सीट में से 22 सीटों पर जीत हासिल हो सकती है। 2014 के लोकसभा चुनाव में पार्टी सिर्फ दो सीटों पर ही जीत पाई थी। वहीं मुख्यमंत्री का कहना है कि वह मध्य प्रदेश के लिए प्रतिबद्ध हैं और वह यहां ‘ऐतिहासिक विकास’ सुनिश्चित करेगे। उन्होंने कहा, “मैं पांच साल के लिए मध्य प्रदेश के लिए प्रतिबद्ध हूं और मैं केंद्र की तरफ नहीं देख रहा हूं।”