BREAKING NEWS

आज का राशिफल (28 मार्च 2023)◾भव्य स्वागत देखकर भावुक हुए सम्राट चौधरी, कहा: विरोधियों का सुपड़ा साफ कर आपके कर्ज को उतारने का प्रयास करूंगा◾नितिन गडकरी ने कहा- स्मार्ट सिटी के विकास में सार्वजनिक निजी भागीदारी महत्वपूर्ण◾केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने लगाया आरोप, संसद नहीं चलने दे रही कांग्रेस ◾कर्नाटक: BJP विधायक मदल विरुपक्षप्पा की बढ़ी मुश्किलें, रिश्वत मामले में HC ने खारिज की जमानत याचिका ◾राहुल गांधी को बड़ा झटका, 22 अप्रैल तक खाली करना होगा सरकारी बंगला◾Umesh Pal Case: कड़ी सुरक्षा के बीच नैनी जेल पंहुचा माफिया अतीक, कल कोर्ट में होगा पेश ◾गृह मंत्री अमित शाह के कर्नाटक दौरे के दौरान सुरक्षा में सेंध, दो छात्र गिरफ्तार◾चुनाव कानून के उल्लंघन को लेकर उतर प्रदेश में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की समय सीमा बढ़ा दी गई ◾ब्रिटिश प्रधानमंत्री ऋषि सुनक ने असामाजिक आचरण के खिलाफ शुरू किया अभियान ◾US Banking Crisis: संकट में डूबे SVB को मिला सहारा, इस बड़े बैंक ने खरीदा ◾STT दर में सुधार के लिए वित्त मंत्री सीतारमण ने वित्त विधेयक में संशोधन पेश किया◾आकांक्षा दुबे Suicide केस में भोजपुरी सिंगर के खिलाफ मामला दर्ज, Actresss की मां ने की थी शिकायत◾अमृतपाल सिंह के नेपाल में छिपे होने की आशंका, भारत ने पड़ोसी देश से किया ये अनुरोध ◾मुख्यमंत्री भगवंत मान ने पंजाब में फसल क्षति का आकलन एक सप्ताह में पूरा करने के दिए निर्देश◾बिहार की सियासत में हलचल, खरना का प्रसाद खाने भाजपा नेता के घर पहुंचे नीतीश, शुरू हुई नई चर्चा ◾राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू दो दिवसीय पश्चिम बंगाल दौरे पर कोलकाता पहुंचीं◾पिछले पांच सालों में ED ने धन शोधन निवारण अधिनियम के तहत 3,497 मामले दर्ज किए◾Rahul Gandhi के समर्थन में युवा कांग्रेस के सदस्यों ने किया प्रदर्शन ◾‘PF का पैसा भी अडानी को’ ... पीएम मोदी पर फिर बरसे राहुल, कहा: जांच से डर क्यों?◾

धनबाद जज केस : हाईकोर्ट ने CBI डायरेक्टर को हाजिर होने का दिया निर्देश, जांच एजेंसी को लगाई फटकार

धनबाद जज उत्तम आनंद की मौत मामले में झारखंड हाई कोर्ट ने शुक्रवार को सुनवाई करते हुए सीबीआई को कड़ी फटकार लगाई। कोर्ट ने कहा कि बाबुओं की तरह जांच एजेंसी काम कर रही है। इसके साथ ही हाई कोर्ट ने अगली सुनवाई में सीबीआई डायरेक्टर को हाजिर होने का दिया निर्देश दिया है।

सीबीआई की ओर से दायर चार्जशीट पर नाराजगी जाहिर करते हुए हाई कोर्ट ने कहा कि कोर्ट को अंधेरे में रखेते हुए स्टेरियोटाइप चार्जशीट दाखिल की गई है। चार्जशीट में अंकित हत्या की धारा 302 का कोई प्रमाण नहीं है। सीबीआई की इस कार्रवाई पर हाई कोर्ट ने टिप्पणी करते हु कहा कि बाबुओं की तरह जांच एजेंसी काम कर रही है और कोर्ट ने अगली सुनवाई के दौरान सीबीआई निदेशक को कोर्ट में पेश होने का निर्देया दिया। 

गौरी लंकेश मर्डर केस : SC ने पलटा कर्नाटक HC का फैसला, आरोपी के खिलाफ संगठित अपराध की धारा बहाल

सीबीआई डायरेक्टर को अगली सुनवाई में वर्चुअल माध्यम से हाजिरी लगाने का निर्देया दिया गया है। हार्टकोर्ट ने पिछली सुनवाई के दौरान भी सीबीआई की ओर से पेश जांच रिपोर्ट पर असंतोष व्यक्त करते हुए सीबीआई और एसआईटी को स्पेसिफिक रिपोर्ट पेश करने का निर्देश दिया था। 

गौरतलब है कि धनबाद के जज उत्तम आनंद की मौत पिछले जुलाई महीने में मॉर्निंग वॉक के दौरान एक ऑटो से टक्कर लगने के कारण हो गयी थी। जिस तरह से ऑटो ने जज को टक्कर मारी थी, उससे कई सवाल उठ खड़ हुए और इस संदिग्ध मौत की जांच की जिम्मेवारी सीबीआई को सौंपी गयी। लेकिन अब तक सीबीआई कोई ठोस नतीजे पर नहीं पहुंच सकी है और इस मामले में गिरफ्तार ऑटो चालक समेत दो अन्य लोगां के खिलाफ आरोप पत्र भी सौंपा जा चुका हैं।