BREAKING NEWS

दिल्ली में निशुल्क यात्रा की योजना लागू होने के बाद से महिला यात्रियों की हिस्सेदारी 10 फीसदी बढ़ी ◾तीसहजारी कांड : दिल्ली पुलिस ने अदालत में दाखिल की प्रगति रिपोर्ट, SIT जांच में मांगा सहयोग◾लोकसभा से चिट फंड संशोधन विधेयक 2019 को मंजूरी◾महाराष्ट्र की राजनीतिक तस्वीर साफ हुई, जल्द बन सकती है शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस की सरकार ◾मंत्रिमंडल ने 1.2 लाख टन प्याज आयात की मंजूरी दी : सीतारमण◾NC, PDP ने कश्मीर में सामान्य हालात बताने पर केंद्र की आलोचना की◾पृथ्वी-2 मिसाइल का रात के समय सफलतापूर्वक परीक्षण ◾महाराष्ट्र में सरकार गठन पर जल्द मिलेगी गुड न्यूज : राउत ◾सकारात्मक चर्चा हुई, जल्द सरकार बनेगी : चव्हाण◾'हिटलर की बहन' वाले बयान पर बेदी का मुख्यमंत्री पर पलटवार◾यशवंत सिन्हा ने 22 से 25 नवंबर तक कश्मीर यात्रा की घोषणा की ◾TOP 20 NEWS 20 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾कांग्रेस ने भाजपा-जजपा गठबंधन पर साधा निशाना, कहा- ज्यादा दिन तक नहीं चलेगी सरकार ◾INX मीडिया मामला : चिदंबरम की जमानत याचिका पर SC का ED को नोटिस ◾राज्यसभा में सीट बदले जाने पर भड़के संजय राउत, स्पीकर वेंकैया नायडू को लिखा पत्र ◾CM ममता का अमित शाह पर पलटवार, कहा- बंगाल में एनआरसी को नहीं लागू होने देंगे◾पूरे देश में लागू होगा NRC, किसी को भी डरने की जरूरत नहीं : अमित शाह◾ महाराष्ट्र में जारी सियासी घमासान के बीच NCP प्रमुख शरद पवार ने PM मोदी से की मुलाकात◾राज्यसभा में बोले शाह- जम्मू एवं कश्मीर में 5 अगस्त के बाद से नहीं हुई एक भी मौत ◾कांग्रेस ने राज्यसभा में फिर उठाया SPG सुरक्षा का मुद्दा, भाजपा ने दिया ये जवाब◾

अन्य राज्य

कर्नाटक : भाजपा विधायक ने अपनी ही पार्टी की सरकार गिराने की दी धमकी

कर्नाटक में भाजपा के एक विधायक ने बाढ़ पीड़ितों को मकान मुहैया नहीं किये जाने की स्थति में राज्य में अपनी ही पार्टी की सरकार गिराने की धमकी दे कर खलबली मचा दी है। उनके इस बयान का एक वीडियो वायरल हो गया है। विधायक बालचंद्र जरकीहोली बेलगावी जिले में पड़ने वाले अपने निर्वाचन क्षेत्र अराभावी के बाढ़ प्रभावित इलाकों के दौरे पर लोगों से यह कहते सुने गये, ‘‘ आपका मकान मुहैया करना हमारी जिम्मेदारी है।

उन्होंने कहा, ‘‘मैं यह प्रामाणिक तौर पर कह रहा हूं...यदि हम मकान बनाने में नाकाम रहें तो हम लोग सरकार गिरा देंगे।’’ बेलगावी जिला बाढ़ से बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। दिलचस्प है कि जरकीहोली उन 16 विधायकों में शामिल थे, जिन्होंने 2010 में कर्नाटक में बी एस येदियुरप्पा नीत पहली भाजपा सरकार से समर्थन वापस ले लिया था। 

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद कांग्रेस के दिग्गज नेता ने दिया बड़ा बयान !

इसके बाद, तत्कालीन राज्यपाल हंसराज भारद्वाज ने येदियुरप्पा को बहुमत साबित करने कहा था। हालांकि, विधानसभा में शक्ति परीक्षण से कुछ ही घंटों पहले तत्कालीन स्पीकर के जी बोपैया ने जरकीहोली और 15 अन्य बागी विधायकों को सदन की सदस्यता के लिए अयोग्य घोषित कर दिया। इस कदम से भाजपा की सरकार बच गई थी।

इसके बाद, जरकीहोली ने उच्चतम न्यायालय का रूख किया था और शीर्ष न्यायालय ने बोपैया के आदेश को निरस्त कर दिया। जरकीहोली बेलगावी के एक ऐसे परिवार से आते हैं जिसका राज्य की राजनीति में काफी दखल है। उनके परिवार से कुछ अन्य लोग कांग्रेस और भाजपा विधायक हैं।