BREAKING NEWS

पेट में दर्द की शिकायत के बाद मुलायम पीजीआई में भर्ती ◾महाराष्ट्र में सरकार गठन के लिए शिवसेना और कांग्रेस-NCP के बीच बातचीत जारी◾SC के पैनल ने दिल्ली-NCR में 15 नवंबर तक स्कूल बंद रखने का दिया आदेश◾प्रधानमंत्री मोदी को ब्रिक्स सम्मेलन से आर्थिक, सांस्कृतिक संबंध मजबूत होने की उम्मीद ◾TOP 20 NEWS 11 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾बातचीत सही दिशा में आगे बढ़ रही है : ठाकरे ने कांग्रेस नेताओं से मुलाकात के बाद कहा ◾JNU ने वापस लिया शुल्क बढ़ोतरी का फैसला, आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों के लिए योजना की प्रस्तावित ◾सुप्रीम कोर्ट का ऐतिहासिक फैसला, RTI के दायरे में आएगा CJI का दफ्तर◾संजय राउत को अस्पताल से मिली छुट्टी, कहा- महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री तो शिवसेना का ही होगा◾कुलभूषण जाधव के लिए पाकिस्तान करेगा अपने आर्मी एक्ट में बदलाव ◾शिवसेना का BJP पर तीखा वार, कहा-सरकार गठन को लेकर जारी गतिरोध का आनंद उठा रही है पार्टी◾कर्नाटक के 17 विधायक अयोग्य, लेकिन लड़ सकते हैं चुनाव : SC◾महाराष्ट्र : राज्यपाल के फैसले को SC में चुनौती देने वाली याचिका का उल्लेख नहीं करेगी शिवसेना◾लगातार 5 दिन से बढ़ते पेट्रोल के दाम पर लगा ब्रेक, डीजल के दाम भी स्थिर ◾महाराष्ट्र : शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस का नहीं हुआ गठबंधन, अब ऑपरेशन लोटस की तैयारी में BJP◾दिल्ली-NCR में सांस लेना हुआ दूभर, गंभीर श्रेणी में पहुंची हवा◾राष्ट्रपति कोविंद और PM मोदी ने गुरु नानक जयंती की दी शुभकामनाएं◾भारत को गुजरात में बदलने के प्रयास : तृणमूल कांग्रेस सांसद ◾विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपने डच समकक्ष के साथ विभिन्न विषयों पर चर्चा की ◾महाराष्ट्र गतिरोध : राकांपा नेता अजित पवार राज्यपाल से मिलेंगे ◾

अन्य राज्य

कर्नाटक के उप-मुख्यमंत्री का आरोप, विधायकों की खरीद-फरोख्त को बढ़ावा दे रहे राज्यपाल

बेंगलुरु : कर्नाटक के उप-मुख्यमंत्री जी. परमेश्वर ने सोमवार को राज्यपाल वजुभाई वाला पर आरोप लगाया कि वह राज्य में विधायकों की खरीद-फरोख्त को बढ़ावा दे रहे हैं। परमेश्वर का यह बयान जद(एस) और कांग्रेस के विधायकों के इस्तीफों और उसके कारण राज्य की गठबंधन सरकार के लिए पैदा हुए खतरे के बीच आया है। 

उन्होंने संवाददातओं से कहा कि जब विधायक इस्तीफा सौंपने गए थे तो हमारे राज्यपाल को उनसे दो घंटे तक बातचीत करने की कोई जरूरत नहीं थी। परमेश्वर ने कहा, ‘‘आपने जो तस्वीर प्रकाशित की है उसमें राज्यपाल पुलिस अफसर के साथ बैठे हैं। क्या किसी विधायक को कोई खतरा था, यदि किसी विधायक ने सुरक्षा मांगी होती तो पुलिस सुरक्षा की बात उठती लेकिन राज्यपाल ने पुलिस आयुक्त को बुलाया और दो घंटे तक विधायकों के साथ चर्चा करते रहे।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘ऐसे हालात में मजबूरन हमें कहना पड़ रहा है कि विधायकों की खरीद-फरोख्त के लिए आप (राज्यपाल) जिम्मेदार हैं।’’ कांग्रेस नेता के इस बयान की आलोचना करते हुए भाजपा विधायक आर. अशोक ने कहा कि इस विवाद में राज्यपाल का नाम घसीटा जाना बहुत निंदनीय है।