पटना : उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने ट्वीट कर कहा कि राजग ने बिहार में लोकसभा की सभी 40 सीटों पर जीत सुनिश्चित करने के लिए सीट साझा करने का फार्मूला तय कर लिया और यह भी तय हो गया कि बिहार में राजग प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के चेहरे की डबल क्रेडिट पर चुनाव लड़ेगा। महागठबंधन में न सीटों का फार्मूला तय हुआ, न यह कि बिहार में वह सजायाफ्ता लालू प्रसाद के नाम पर वोट मांगेगा या लोकसभा में आंख मारने वाले राहुल गांधी के नाम पर।

यह चुनाव नमो-नीतीश और लालू-राहुल के बीच होगा। श्री मोदी ने यूपी में सपा-बसपा अपनी 25 साल पुरानी दुश्मनी भुला कर केवल इसलिए साथ चुनाव लडऩा चाहते हैं कि वे देश में कमजोर और भ्रष्टाचारी सरकार लाकर भारत के टुकड़े करने वालों की मदद से अपना वजूद बचा सकें। इसी मानसिकता की आधा दर्जन पार्टियां बिहार में भी एनडीए का विरोध कर विकास की ट्रेन को पटरी से उतारना चाहती हैं। बिहार के नमो-नीतीश विरोधियों में गरीब सवर्णों को 10 फीसद रिजर्वेशन का विरोध करने वाले भी हैं और गरीबों के स्कूल उड़ाने वाले नक्सलियों को भाई बताने वाले भी।