BREAKING NEWS

राहुल और प्रियंका गांधी समेत कांग्रेस के 203 नेताओं के खिलाफ FIR दर्ज◾गांधी की विचारधारा से प्रभावित मोदी सरकार : राष्ट्रपति कोविंद◾एयर मार्शल आर.डी. माथुर ने वायुसेना प्रशिक्षण कमान के नए प्रमुख का कार्यभार संभाला◾राहुल, प्रियंका को हिरासत में लिए जाने से गुस्साए कांग्रेस नेता, कहा - UP में है ‘जंगल राज’ ◾CJI, सात वरिष्ठ न्यायाधीश 5 अक्टूबर से करेंगे PIL, सामाजिक न्याय के विषयों पर सुनवाई ◾MI vs KXIP ( IPL 2020 ) : मुंबई इंडियंस ने किंग्स इलेवन पंजाब को 48 रन से हराया◾कांग्रेस नेता अहमद पटेल और आरपीएन सिंह कोविड-19 से संक्रमित◾हाथरस की घटना पर इलाहाबाद HC सख्त, उप्र सरकार को नोटिस, DM-SP तलब◾ IPL 2020 KXIP vs MI : हार्दिक-पोलार्ड की ताबड़तोड़ बल्लेबाजी, मुम्बई ने पंजाब को दिया 192 रनों का लक्ष्य◾दिल्ली में कोरोना के 3037 नए मामले की पुष्टि, 40 और मरीजों की मौत ◾हाथरस, बलरामपुर के बाद यूपी के भदोही में दलित किशोरी से बर्बरता, सिर कुचलकर हत्या◾यूपी पुलिस के ADG का बड़ा दावा - हाथरस की घटना में लड़की से नहीं हुआ बलात्कार, गलत बयानी की गई◾राहुल - प्रियंका पर यूपी सरकार के मंत्री का तंज - ये जो 'भाई-बहन' दिल्ली से चले हैं, उन्हें राजस्थान जाना चाहिये◾हाथरस गैंगरेप : पीड़ित परिवार से मिलने जा रहे राहुल-प्रियंका को पुलिस ने हिरासत में लिया◾प्रियंका और राहुल के काफिले को पुलिस ने परी चौक पर रोका, परिवार से मिलने के लिए हाथरस के लिये पैदल निकले◾हाथरस गैंगरेप पीड़िता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट, गर्दन पर चोट के निशान और टूटी थीं हड्डियां ◾सीएम गहलोत का आरोप - बारां की घटना को लेकर जनता को गुमराह कर रहा है विपक्ष ◾ हाथरस गैंगरेप : प्रियंका और राहुल के दौरे के मद्देनजर जिले की सभी सीमाएं सील ◾बलरामपुर में गैंगरेप की घटना को लेकर कांग्रेस ने UP सरकार पर साधा निशाना, किया यह दावा ◾देश में पिछले 24 घंटो में कोरोना के 86,821 मामलों की पुष्टि, मरीजों का आंकड़ा 63 लाख के पार ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

महाराष्ट्र : शरद पवार के करीबी प्रफुल्ल पटेल राजनीतिक परिदृश्य से दिखे नदारद

महाराष्ट्र में अजित पवार की अगुवाई में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के विधायकों को फिर से शरद पवार के समर्थन में लाने के राजनीतिक उठापटक व व्यस्तता के बीच शरद पवार के करीबी सहयोगी प्रफुल्ल पटेल राजनीतिक परिदृश्य में सक्रिय नहीं दिख रहे हैं। प्रफुल्ल पटेल ट्विटर पर पिछले दो दिनों से सक्रिय नहीं है। 

उन्होंने शुक्रवार को फुटबॉल को लेकर ट्वीट किया था, लेकिन इसके बाद उन्होंने अजित पवार के पार्टी से विद्रोह पर कुछ नहीं कहा। अजित पवार को मनाने की तीन कोशिशें नाकाम साबित हुई हैं। इसमें दो शनिवार को की गईं, जिसमें दिलीप वलसे पाटिल और हसन मुशरीफ ने उनसे मुलाकात की थी और एक कोशिश रविवार को की गई। 

रविवार को शरद पवार ने जयंत पाटिल को उनके पास भेजा था। ऐसी बातचीत के लिए शरद पवार पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रफुल्ल पटेल पर ज्यादा निर्भर रहते हैं। प्रफुल पटेल एयर इंडिया घोटाले में जांच का सामना कर रहे हैं। राकांपा के एक सूत्र ने कहा है कि घोटाले में जांच से बचने के लिए वह शांत हैं। जबकि एक अन्य व्यक्ति ने नाम नहीं जाहिर करने की शर्त पर कहा कि जब शरद पवार खुद सारा मामला संभाल रहे हैं तो किसी और की क्या जरूरत है। 

अजित पवार ने किया PM मोदी का शुक्रिया,कहा -हम एक स्थायी सरकार सुनिश्चित करेंगे

वहीं पार्टी के कुछ लोगों का कहना है कि प्रफुल्ल पटेल को अजित पवार के विद्रोह की भनक लगी थी लेकिन उन्होंने पार्टी को समय पर सूचित नहीं किया। राकांपा नेता उन्हें लेकर चौकन्ना हैं। राकांपा के प्रवक्ता नवाब मलिक ने पहले कहा कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को फ्लोर टेस्ट पर जोर देने के बजाय इस्तीफा दे देना चाहिए। मलिक ने कहा कि जहां तक विधायकों का संबंध हैं, पांच विधायक संपर्क में नहीं थे। उनमें से दो वापस आ गए हैं। 

तीसरे विधायक ने वीडियो के माध्यम से अपना संदेश भेजा है। हमारे सभी विधायक आज शाम तक वापस आ जाएंगे। मलिक ने आरोप लगाया कि महाराष्ट्र सरकार के पास पर्याप्त विधायकों का समर्थन नहीं है। उन्होंने कहा, 'हम चाहते हैं कि देवेंद्रजी इस्तीफा दें। अगर वह इस्तीफा नहीं देते हैं तो हम निश्चित तौर पर सरकार को विधानसभा में हराएंगे और नई सरकार बनाएंगे।'