BREAKING NEWS

खड़गे से खुले आसमान के नीचे बहस करने के लिए तैयार हूं - शशि थरूर ◾ महात्मा गांधी की विरासत को हथियाना आसान पदचिन्हों पर चलना मुश्किल : राहुल गांधी ◾मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महात्मा गांधी, लाल बहादुर शास्त्री को श्रद्धांजलि अर्पित की◾इस बात पर गौर किया जाना चाहिए कि नए मुख्यमंत्री के नाम पर विधायकों में नाराजगी क्यों है : गहलोत◾पायलट को बीजेपी का खुला ऑफर, घर लक्ष्मी आए तो ठुकराए नहीं ◾राजस्थान में बढ़ा सियासी बवाल, अशोक गहलोत ने विधायकों की बगावत पर दिया बड़ा बयान◾राजद नेताओं पर जगदानंद सिंह ने लगाई पाबंदिया, तेजस्वी यादव पर टिप्पणी ना करने की मिली सलाह ◾ इयान तूफान के कहर से अमेरिका में हुई जनहानि पर पीएम मोदी ने जताई संवेदना ◾महात्मा गांधी की ग्राम स्वराज अवधारणा से प्रेरित हैं स्वयंपूर्ण गोवा योजना : सीएम सावंत◾उत्तर प्रदेश: अखिलेश यादव पर राजभर ने कसा तंज, कहा - साढ़े चार साल खेलेंगे लूडो और चाहिए सत्ता◾ पीएम मोदी ने गांधी जयंती पर राजघाट पहुंचकर बापू को किया नमन, राहुल से लेकर इन नेताओं ने भी राष्ट्रपिता को किया याद ◾महाराष्ट्र: शिंदे सरकार का कर्मचारियों के लिए नया अध्यादेश जारी, अब हैलो या नमस्ते नहीं 'वंदे मातरम' बोलना होगा◾Gandhi Jayanti: संयुक्त राष्ट्र की सभा में 'प्रकट' हुए महात्मा गांधी, 6:50 मिनट तक दिया जोरदार भाषण◾आज का राशिफल (02 अक्टूबर 2022)◾सीआरपीएफ, आईटीबीपी के नये महानिदेशक नियुक्त किये गये◾दिल्ली सरकार की चेतावनी - अगर सड़कों पर पुराने वाहन चलते हुए पाये गए तो उन्हें जब्त किया जाएगा◾Kanpur Tractor-Trolley Accident : ट्रैक्टर-ट्राली तालाब में गिरने से 22 से ज्यादा लोगों की मौत, PM मोदी और CM योगी ने हादसे पर जताया दुख◾Madhya Pradesh: कलेक्टर के साथ अभद्र व्यवहार करने पर, बसपा विधायक रामबाई परिहार के खिलाफ मामला दर्ज◾मनसुख मांडविया बोले- ‘रक्तदान अमृत महोत्सव’ के दौरान ढाई लाख लोगों ने रक्त दान किया◾उपमुख्यमंत्री सिसोदिया बोले- हर बच्चे के लिए मुफ्त और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की व्यवस्था जरूरी◾

ममता सरकार ने गठित किया एसआईटी, 10 आईपीएस अधिकारियों को नियुक्त किया

पश्चिम बंगाल सरकार ने राज्य में चुनाव के बाद हिंसा के मामलों की जांच के लिए कलकत्ता हाई कोर्ट द्वारा गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) की मदद करने के लिए 10 आईपीएस अधिकारियों को नियुक्त किया है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बृहस्पतिवार को बताया कि अधिकारियों को कोलकाता पुलिस के तहत आने वाले इलाकों के साथ ही राज्य के उत्तर, पश्चिम और दक्षिण जोन के लिए तैनात किया गया है।

राज्य के गृह विभाग द्वारा जारी आदेश के अनुसार, ‘‘आईपीएस अधिकारियों को माननीय कलकत्ता हाई कोर्ट द्वारा गठित एसआईटी की मदद करने के लिए उन्हें नियमित कार्यों से छूट दी जाती है।’’

कलकत्ता हाई कोर्ट की पांच सदस्यीय पीठ ने चुनाव के बाद हिंसा की घटनाओं की जांच के लिए 19 अगस्त को एसआईटी के गठन का आदेश दिया था जिसमें भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी सोमेन मित्रा, सुमन बाला साहू और रणबीर कुमार शामिल थे।