BREAKING NEWS

Today's Corona Update : देश में कोरोना संक्रमण के सामने आए 15,510 नए मामले, 106 मरीजों की मौत◾दुनिया में कोरोना मरीजों की संख्या 11.4 करोड़ से अधिक, 25.3 लाख से ज्यादा मरीजों की मौत◾डोनाल्ड ट्रंप ने किया बड़ा ऐलान, कहा- नई पार्टी शुरू करने की योजना नहीं, रिपब्लिकन का दूंगा साथ ◾देश में आज से कोरोना वैक्सीन का दूसरा चरण शुरू, 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को लग रहा है टीका ◾TOP - 5 NEWS 01 MARCH : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें◾PM मोदी ने एम्स में लगवाई कोरोना वैक्सीन, देश को कोविड-19 से मुक्त बनाने की अपील की ◾वैज्ञानिक नवाचार के लिए हब के रूप में उभर रहा भारत : जितेंद्र सिंह ◾कोरोना योद्धाओं के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करने के लिए शब्द नहीं : हर्षवर्धन◾राज्य, जिलों को कोविड-19 टीकाकरण केंद्रों का पूर्व पंजीकरण को-विन 2.0 पर कराना होगा ◾वाम, कांग्रेस व आईएसएफ गठबंधन ने जनहित सरकार पर दिया जोर, पहले दिन दिखी दरार ◾अमित शाह ने तमिलनाडु, पुडुचेरी में तमिल भाषा और संस्कृति की सराहना की ◾जम्मू-कश्मीर : फारूक अब्दुल्ला का बड़ा बयान, बोले- चाहता हूं कांग्रेस मजबूत हो◾कृषि कानून वापस नहीं होगा तब तक किसानों का आंदोलन जारी रहेगा : राकेश टिकैत◾गणतंत्र दिवस हिंसा के लिए केजरीवाल ने केंद्र को ठहराया जिम्मेदार, कहा- तीनों कृषि कानून किसानों के डेथ वारंट◾महाराष्ट्र सरकार के वन मंत्री संजय राठौड़ ने दिया इस्तीफा, टिकटॉक स्टार की आत्महत्या के बाद उठ रहे थे सवाल◾भाजपा के शासन में अमीरी-गरीबी की खाई बढ़ी, कांग्रेस सत्ता में आएगी तो न्याय योजना को किया जाएगा लागू : राहुल◾किसान आंदोलन को धार देने की जुगत में लगी BKU, मार्च महीने में होगी दर्जन भर महापंचायत◾ मन की बात के कार्यक्रम में मोदी ने तमिल भाषा न सीख पाने को बताया अपनी कमी◾BJP अध्यक्ष नड्डा 2 दिवसीय दौरे पर पहुंचे वाराणसी, CM योगी समेत कई पार्टी नेताओं ने किया स्वागत◾मन की बात : PM मोदी बोले- जल सिर्फ जीवन ही नहीं, आस्था और विकास की धारा भी◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

बंगाल विधानसभा ने कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्ताव को किया पारित, ममता बोलीं- दिल्ली हिंसा के लिए BJP जिम्मेदार

पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार ने तीन कृषि कानूनों को निरस्त किए जाने की मांग को लेकर गुरुवार को विधानसभा में एक प्रस्ताव रखा। पश्चिम बंगाल विधानसभा ने बृहस्पतिवार को केंद्र के तीन विवादास्पद कृषि कानूनों के खिलाफ एक संकल्प पारित किया और इन कानूनों को फौरन वापस लिए जाने की मांग की। वहीं, सदन में भारी हंगामे के बाद भाजपा विधायकों ने वाकआउट कर दिया। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि केंद्र को इन तीनों कानूनों को वापस ले लेना चाहिए या सत्ता छोड़ देनी चाहिए।

भाजपा के विधायकों के हंगामे के बीच संसदीय कार्य मंत्री पार्थ चटर्जी द्वारा प्रस्ताव रखने के बाद बनर्जी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इन कानूनों को निरस्त करने के लिए सर्वदलीय बैठक बुलानी चाहिए। चटर्जी द्वारा प्रस्ताव पेश किए जाने के बाद विधानसभा में भारी हंगामा हुआ। भाजपा के विधायक दल के नेता मनोज तिग्गा के नेतृत्व में पार्टी के विधायक सदन में आसन के करीब पहुंच गए और दावा किया कि तृणमूल कांग्रेस सरकार कानूनों के खिलाफ ‘भ्रामक अभियान’ चला रही है।

बाद में ‘जय श्री राम’ का उद्घोष करते हुए तिग्गा के साथ पार्टी के विधायक सदन से बाहर चले गए। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘हम किसान विरोधी कानूनों का विरोध करते हैं। हम इन्हें तुरंत वापस लिए जाने की मांग करते हैं। केंद्र को या तो तीनों कानूनों को वापस ले लेना चाहिए या सत्ता से हट जाना चाहिए ।’’

उन्होंने दावा किया कि दिल्ली पुलिस किसानों की ट्रैक्टर परेड को सही तरीके से नियंत्रित नहीं कर पायी, जिस कारण से गणतंत्र दिवस के दिन स्थिति हाथ से बाहर निकल गयी। बनर्जी ने कहा, ‘‘इसके लिए दिल्ली पुलिस को दोष देना चाहिए। दिल्ली पुलिस क्या कर रही थी? यह खुफिया तंत्र की नाकामी है। हम किसानों को गद्दार बताया जाना बर्दाश्त नहीं करेंगे। वे इस देश की संपत्ति हैं।’’ 

उन्होंने कहा कि हम किसानों के साथ हैं और हम इन कानूनों को वापस लेना चाहते हैं। कृषि कानूनों को जबरन पारित किया गया है । मोदी सरकार ने दिल्ली की स्थिति को गैर जिम्मेदाराना तरीके से संभाला है और वहां जो कुछ हुआ था उसके लिए भाजपा जिम्मेदार है। उन्होंने कहा कि भाजपा पहले दिल्ली से निपटे और बाद बंगाल के बारे में सोचें। दिल्ली की स्थिति से पुलिस नहीं निपट पाई। अगर यह बंगाल होता तो अमित भैया कहते, "क्या हुआ?"

महामारी हो या बॉर्डर की चुनौती, भारत अपनी रक्षा के लिए मजबूती से हर कदम उठाने में सक्षम : PM मोदी