BREAKING NEWS

तेल की कीमत में वृद्धि भारत की कमर तोड़ रही है - जयशंकर◾महाराष्ट्र पुलिस ने राज्य के विभिन्न जिलों में छापे मारकर PFI और SDPI के 32 कार्यकर्ताओं को किया गिरफ्तार◾शिवसेना के दोनों समूहों ने SC के फैसले का किया स्वागत◾J&K : कुलगाम मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद के 2 आतंकी ढेर ◾गुपचुप तरीके से केरल में पादरियों से मिले थे भाजपा अध्यक्ष ◾सिख विवाह अधिनियम लागू कराने के लिए महाराष्ट्र अदालत में सिख दंपति ने दायर की याचिका ◾गहलोत को क्लीनचिट, समर्थकों पर कार्रवाई की अनुशंसा, पर्यवेक्षकों ने सोनिया गांधी को सौंपी रिपोर्ट◾KSRTC ने ठोका PFI पर 5 करोड़ का दावा, छापेमारी के विरोध में की थी बसों में तोड़फोड़ ◾राहुल गांधी का पीएम पर तंज, कहा- प्रधानमंत्री का नारा ‘बेटी बचाओ’ और भाजपा के कर्म ‘बलात्कारी बचाओ’◾ Haryana News: सीएम खट्टर ने कहा- स्वतंत्रता संग्राम की गाथा पर जागरूकता फैलाने... के लिए कार्यक्रम आयोजित करें ◾29-30 सितंबर को गुजरात जाएंगे पीएम मोदी, गृहराज्य को कई बड़ी सौगातों से नवाजेंगे ◾ उद्धव को सुप्रीम झटका, चुनाव आयोग की कार्रवाई रोकने की मांग करने वाली याचिका खारिज◾SC ने EWS 10 फीसदी कोटा आपत्ति याचिका पर फैसला सुरक्षित, एक सवाल को लेकर फंसा पेंच ◾दिल्ली हाई कोर्ट के फैसले के बाद LG ने ट्वीट किया- ‘सत्यमेव जयते’, AAP ने लगाए थे गंभीर आरोप ◾jharkhand News: झारखंड में खौफनाक मामला! डायन बताकर एक महिला की गई हत्या, आरोपी गिरफ्तार, जानें मामला ◾ राजस्थान में मचे सियासी तूफान के बीच पायलट की दिल्ली दरबार में दस्तक, मीडिया के सवालों से बचे◾गहलोत के शक्ति प्रदर्शन पर थरूर को फायदा ! अध्यक्ष पद की दौड़ में बंसल भी शामिल◾प्यारे दोस्त शिंजो को PM की अंतिम विदाई, Tweet कर बोले-लाखों लोगों के दिलों में जिंदा रहेंगे आप◾ विवादों में सेमखोर,फिल्म में संस्कृति को गलत चित्रण करने का आरोप ◾दिल्ली : बारिश के बाद अब डेंगू के मामलों में हुई बढ़ोतरी, पिछले 4 दिनों में आए 129 नए केस ◾

हमारी संस्कृति किसी को भी पराया नहीं मानती, जानें RSS प्रमुख मोहन भागवत के संबोधन की विशेष बातें

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के अध्यक्ष मोहन भागवत ने शुक्रवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर में डर का माहौल बनाने के लिए आतंकवादी लोगों को चुन-चुनकर निशाना बना रहे हैं। नागपुर के रेशमबाग मैदान में वार्षिक विजयादशमी रैली को संबोधित करते हुए भागवत ने कहा कि सीमाओं पर सैन्य तैयारियां बढ़ाने की जरूरत है। उन्होंने बिटकॉइन और ओटीटी प्लेटफॉर्म पर भी चिंता व्यक्त की और सरकार से इन्हें विनियमित करने के प्रयास करने को कहा।

जम्मू कश्मीर में डर पैदा कर रहे है आतंकवादी

उन्होंने कहा, ‘‘जम्मू कश्मीर में डर पैदा करने के इरादे से आतंकवादी लोगों को चुन-चुनकर निशाना बना रहे हैं।’’ जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले के सुरनकोट इलाके में डेरा की गली (डीकेजी) में 12 अक्टूबर को मुठभेड़ में एक जूनियर कमीशंड अधिकारी (जेसीओ) सहित सेना के पांच कर्मी शहीद हो गए थे।

राजौरी जिले के थानामंडी इलाके में 19 अगस्त को आतंकियों के साथ मुठभेड़ में सेना का एक जूनियर कमीशंड अधिकारी (जेसीओ) शहीद हो गया था। भागवत ने कहा कि सामाजिक चेतना अब भी जाति आधारित भावनाओं से प्रभावित है और आरएसएस इसके समाधान के लिए काम कर रहा है।

विजयदशमी के मौके पर भागवत ने कहा- देश के विभाजन की टीस खत्म नहीं हुई है

विजयदशमी के मौके पर संघ कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए भागवत ने कहा, 'हम लोगों के मन से आज भी देश के विभाजन की टीस खत्म नहीं हुई है। उस दुखद इतिहास के बारे में हमें जानना होगा। जिसके चलते देश का विभाजन हुआ है, उसे दोहराया नहीं जाना चाहिए।

इसलिए हमें पुराने इतिहास को जानना चाहिए ताकि खोये हुए लोगों को वापस गले लगा सकें। लेकिन ऐसी अखंडता की पहली शर्त रहती है कि भेद रहित और समता निहित समाज। इन्हीं कमियों के चलते कुछ बर्बर विदेशी आए और हमें पदाक्रांत करके चले गए। यह हमारी कमी से ही हुआ है।'

भागवत ने गुरु तेग बहादुर को भी याद किया

मोहन भागवत ने कहा कि एकता में बड़ी समस्या जातिगत विषमता की रही है, जिसे खत्म करने के लिए तमाम प्रयास हुए हैं। मोहन भागवत ने इस मौके पर गुरु तेग बहादुर को भी याद किया। उन्होंने कहा कि उनका बलिदान इस देश की अखंडता और एकता को बनाए रखने के लिए ही था। उस समय देश में यह अभियान चल रहा था कि अपनी पूजा बदलो या तो मरो। तब कश्मीर के लोगों ने गुरु तेग बहादुर से गुहार लगाई।

जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ जारी, एक JCO समेत दो सैन्यकर्मी शहीद

यह सुनकर गुरु तेग बहादुर दिल्ली चले गए और उनका बलिदान दिया। उन्होंने भारतीय संस्कृति की रक्षा के लिए अपना सिर दिया, लेकिन देश का सार नहीं दिया। इसलिए वह हिंद की चादर कहलाए। वह इस देश की आकाशगंगा के सूर्य जैसे हैं।

हमारी संस्कृति किसी को भी पराया नहीं मानती है- भागवत

आरएसएस के सरसंघचालक ने कहा कि हमारी संस्कृति किसी को भी पराया नहीं मानती है। उसके उदय से पूरी दुनिया में समानता आएगी। हिंदुत्व का उदय होगा तो उन लोगों की दुकान बंद हो जाएगी, जो लोग कलह का ही कारोबार करते हैं। उन्होंने कहा कि कई बार देखने में आता है कि एक राज्य की पुलिस दूसरे राज्य की पुलिस गोलियां चला देती है।

उन्होंने कहा कि हमने देश चलाने के लिए संघीय ढांचा बनाया है, लेकिन लोग फेडरल नहीं है। देश के सभी लोग एक ही हैं। हमें इसके लिए प्रयास करने की जरूरत है कि इस तरह के मतभेदों को समाप्त किया जा सके।

मोहन भागवत ने ड्रग्स पर कहा- इस नशे का पैसा कहां जा रहा है

मोहन भागवत ने इस मौके पर ड्रग्स को लेकर भी बात रखी। उन्होंने कहा कि देश में तरह-तरह के नशीले पदार्थ आते हैं, उनकी आदतें लोगों में बढ़ रही हैं। उच्च स्तर से लेकर समाज के आखिर व्यक्ति तक व्यसन पहुंच रहा है। हमें पता है कि इस नशे का पैसा कहां जा रहा है। इसके अलावा उन्होंने बिटकॉइन को लेकर भी सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि इस पर किसका नियंत्रण है, मुझे पता नहीं है। इस पर शासन को नियंत्रण करना होगा और वह उसका प्रयास भी कर रहा है। लेकिन हमें अपने स्तर पर इससे लड़ने के लिए तैयार होना होगा।