प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हेलीकॉप्टर की कथित जांच को लेकर चुनाव आयोग द्वारा एक आईएएस अधिकारी को निलंबित किए जाने के बाद अब एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ है, जिसमें केंद्रीय मंत्री धर्मेद्र प्रधान अपने हेलीकॉप्टर की जांच के दौरान आपा खोते नजर आ रहे हैं। वीडियो में प्रधान के मंगलवार को ओडिशा के संबलपुर पहुंचे पर उनके हेलीकॉप्टर की जांच के लिए आए फ्लाइंग स्क्वाड और पुलिस के साथ उन्हें कहासुनी करते देखा जा रहा है।

प्रधान मोदी की जनसभा में शामिल होने वाले थे। वीडियो में देखा गया कि प्रधान जांच दल से कागजात मांग रहे थे। हालांकि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सूत्रों ने बाद में कहा कि घटना के बाद फ्लाइंग स्क्वाड ने आखिरकार जांच नहीं की। सोशल मीडिया पर ऐसे ही वीडियो के एक सेट से इस घटना का मिलान किया गया है, जिसमें उसी दिन राउरकेला में फ्लाइंग स्क्वाड को बीजू जनता दल (बीजद) प्रमुख और ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के हेलीकॉप्टर की जांच करते दिखाया गया है।

वीडियो में पटनायक को जांच में पूरा सहयोग करते देखा गया है और वह जांच पूरी होने तक हेलीकॉप्टर में इंतजार करते रहे। पटनायक एक रोडशो के लिए राउरकेला में थे।

संबलपुर में प्रधानमंत्री के हेलीकॉप्टर की कथित जांच के लिए चुनाव आयोग ने सामान्य पर्यवेक्षक मोहम्मद मोहसिन को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के कर्नाटक कॉडर के अधिकारी मोहसिन को स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप की सुरक्षा वालों के संबंध में आयोग के निर्देशों के विरुद्ध कार्य करने के लिए निलंबित कर दिया गया। इस बीच बीजद चुनाव कार्य के दौरान सरकारी अधिकारियों के साथ बुरे बर्ताव के लिए केंद्रीय मंत्री के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) के पास गया है।