BREAKING NEWS

चीन में कोरोनावायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 25 हुई, 830 मामलों की पुष्टि ◾कोहरे की वजह दिल्ली आने वालीं 12 ट्रेनें 1 घंटे 30 मिनट से लेकर 4 घंटे 15 मिनट तक लेट ◾बालिका दिवस पर बोले नायडू- ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ हमारा संवैधानिक संकल्प है◾भ्रष्टाचार के मामले में 180 देशों में 80वें स्थान पर भारत◾अमित शाह ने केजरीवाल पर लगाया दिल्ली में दंगा भड़काने का आरोप ◾मैंने अपना भगवा रंग नहीं बदला है : उद्धव ठाकरे◾राज की मनसे ने अपनाया भगवा झंडा, घुसपैठियों को बाहर करने के लिए मोदी सरकार को समर्थन◾भाजपा नेता ने मोदी को चेताया, देश बढ़ रहा है दूसरे विभाजन की तरफ◾पासवान से मिला ब्राजील का प्रतिनिधिमंडल, एथेनॉल प्रौद्योगिकी साझेदारी पर बातचीत◾हिंदू समाज में साधु-संतों को ऐसी भाषा शोभा नहीं देती : अखिलेश◾पदाधिकारी पार्टी के खिलाफ सोशल मीडिया पर टिप्पणी करने से बचें : ठाकरे◾दिल्ली की जनता तय करे, कर्मठ सरकार चाहिए या धरना सरकार चाहिए : शाह◾वन्य क्षेत्रों में अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित नहीं किया जा सकता : दिल्ली सरकार◾मानसिक दिवालियेपन से गुजर रहा है कांग्रेस नेतृत्व : नड्डा◾निर्भया के दोषियों से पूछा : आखिरी बार अपने-अपने परिवारों से कब मिलना चाहेंगे , तो नहीं दिया कोई जवाब !◾विपक्ष की तुलना पाकिस्तान से करना भारत की अस्मिता के खिलाफ : कांग्रेस◾ब्राजील के राष्ट्रपति 24-27 जनवरी तक भारत यात्रा पर रहेंगे, गणतंत्र दिवस परेड में होंगे मुख्य अतिथि◾उत्तर प्रदेश : किसानों के मुद्दे पर सड़क पर उतरेगी कांग्रेस ◾कश्मीर मुद्दे पर विदेश मंत्रालय ने कहा-किसी तीसरे पक्ष की कोई भूमिका नहीं◾निर्भया मामले में आरोपियों के खिलाफ डेथ वारंट जारी करने वाले जज का हुआ ट्रांसफर◾

किरण बेदी बोली- पुडुचेरी सरकार ने आय और खर्च का प्रबंध विवेकपूर्ण तरीके से किया

पुडुचेरी की उपराज्यपाल किरण बेदी ने सोमवार को कहा कि केंद्रशासित क्षेत्र की सरकार के वित्तीय स्रोत सीमित हैं लेकिन सरकार ने विवेकपूर्ण तरीकों से आय और खर्च का प्रबंधन किया। वह बजट सत्र के पहले दिन विधानसभा में पारंपरिक भाषण दे रही थीं। 

उन्होंने कहा कि सरकार ने वित्तीय बाध्यताओं के बावजूद गरीब और जरूरतमंद लोगों के कल्याण के लिए होने वाले कार्यों में पर्याप्त कोष सुनिश्चित किया। करीब एक घंटे के भाषण में किरण बेदी ने कहा कि सरकार ने आय के स्रोतों और खर्चों के बीच वित्तीय बाध्यताओं के बावजूद संतुलन बनाने की कोशिश की है। 

पूर्व आईपीएस अधिकारी बेदी ने कहा कि सरकार ने मौजूदा कल्याणकारी योजनाओं को बिना प्रभावित किए 351 करोड़ रुपये के 2008-2009 के बाजार ऋण का भी भुगतान कर दिया। इससे पहले उपराज्यपाल ने जैसे ही अपना संबोधन शुरू किया अन्नाद्रमुक विधायक दल के नेता ए अनबलागन ने कहा कि सरकार लोगों की महत्वकांक्षाओं पर खड़ी नहीं उतरी। इसके बाद वह अन्नाद्रमुक के चार विधायकों के साथ बहिर्गमन कर गए।