BREAKING NEWS

आज का राशिफल (21 सितम्बर 2020)◾शशि थरूर ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना , कहा - सरकार को संकट में 'चेहरा छिपाने' का मौका मिला है◾IPL-13 : रबाडा की घातक गेंदबाजी, दिल्ली कैपिटल ने सुपर ओवर में मारी बाजी◾लोकसभा ने देर रात 40 मिनट में चार विधेयक किये पारित ◾अलकायदा आतंकी साजिश के मुख्य आरोपी मुर्शिद हसन ने दक्षिण, पूर्वी भारत में कई जगहों की यात्रा की : NIA◾भारत और चीन के सैन्य कमांडरों के बीच छठे दौर की बातचीत कल, पहली बार विदेश मंत्रालय के शीर्ष अधिकारी होंगे शामिल◾कृषि बिल: राहुल गांधी बोले- सरकार ने कृषि विधेयकों के रूप में किसानों के खिलाफ मौत का फरमान निकाला◾राज्यसभा में विपक्ष के अमर्यादित आचरण पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बोले- सदन में विपक्षी सदस्यों का आचरण शर्मनाक◾ IPL-13: स्टोइनिस की 21 गेंदों में 53 रनों की तूफानी पारी की बदौलत दिल्ली ने पंजाब के सामने 153 रनों का रखा लक्ष्य◾महाराष्ट्र : 24 घंटे में संक्रमण से 455 और मरीजों की मौत, 20 हजार से अधिक नए मामलें◾रामविलास पासवान ICU में भर्ती, बेटे चिराग ने लिखा भावुक पत्र◾पांच राज्यों में कोरोना के 60 % मामलें सक्रिय, 52 प्रतिशत नए केस : स्वास्थ्य मंत्रालय◾राज्यसभा में पास हुआ कृषि बिल असंवैधानिक और किसानों के खिलाफ : कांग्रेस◾कोविड-19 : उत्तर प्रदेश में संक्रमण के 5809 नए मामलें की पुष्टि, 94 और मरीजों की मौत◾कृषि विधेयकों के खिलाफ प्रदर्शनों के चलते दिल्ली की सीमाओं पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात◾राज्यसभा में कृषि बिल पास होने से नाराज विपक्ष उपसभापति के खिलाफ लाया अविश्वास प्रस्ताव◾कृषि बिल पास होने पर बोले PM मोदी-आज का दिन भारत के लिए ऐतिहासिक◾बिल पास होने पर बोले नड्डा, मोदी सरकार ने पिछले 70 वर्षों के अन्याय से किसानों को कराया मुक्त◾विपक्ष के हंगामे के बीच राज्यसभा में पास हुए केंद्र सरकार के कृषि बिल◾कृषि बिल को लेकर राज्यसभा में घमासान, TMC सांसद ने स्पीकर के आगे फाड़ी रूल बुक◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

पेरियार पर की गई टिप्पणी के लिए माफी नहीं मांगूंगा : रजनीकांत

सुपरस्टार रजनीकांत द्वारा ईवी रामासामी पेरियार को लेकर दिए गए बयान पर बवाल थम नहीं रहा है। वहीं दूसरी तरफ रजनीकांत ने अपने इस बयान पर माफ़ी मांगने से साफ इंकार कर दिया है। द्रविड़ आंदोलन के नेता के समर्थक उनसे इस बात को लेकर काफी नाराज हैं। रजनीकांत ने पिछले सप्ताह तमिल पत्रिका की 50वीं वर्षगांठ समारोह के दौरान टिप्पणी की थी। 

समारोह में रजनीकांत ने कहा था कि '1971 में पेरियार की अगुवाई वाली एक रैली में कथित तौर पर भगवान राम और सीता की नग्न छवियों को प्रदर्शित किया गया था।' उन्होंने कहा कि उस रैली में जो कुछ भी हुआ था, उस समय मीडिया द्वारा रिपोर्ट किया गया था। द्रविड़ अंदोलन के जनक पेरियार के समर्थक व द्रविड़ कजगम के कार्यकर्ताओं का कहना है कि रजनीकांत की टिप्पणी पेरियार का अपमान है। 

जम्मू-कश्मीर जा रहे मंत्रियों को मणिशंकर अय्यर ने बताया 'डरपोक', बोले- 36 में से सिर्फ 5 जा रहे हैं घाटी

पत्रकारों से बातचीत में रजनीकांत ने अपनी टिप्पणी के समर्थन में मीडिया रपटों की कुछ फोटोकॉपी दिखाईं और कहा कि वह माफी नहीं मांगेंगे। द्रविड़ विदुथलाई कजगम (डीवीके) ने पेरियार का अपमान करने पर पिछले सप्ताह रजनीकांत के खिलाफ कोयंबटूर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। 

द्रविड़ कजगम ने शिकायत की थी कि रजनीकांत का बयान झूठा है और उन्होंने पुलिस से उनके खिलाफ मामला दर्ज करने का आग्रह किया। द्रविड़ कजगम ने माफी न मांगने पर अभिनेता की हालिया फिल्म 'दरबार' को दिखा रहे सिनेमाघरों के बाहर विरोध प्रदर्शन की भी धमकी दी। 

वहीं बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने रजनीकांत के बयान का समर्थन करते हुए ट्वीट किया, ''ई वी आर नाइकर ने 1971 की रैली में राम और सीता को लेकर अपमानजनक बयान दिया था, जिसे लेकर मैं रजनीकांत की तरफ हूं। यह सच है और चो ने इसे तुगलक में प्रकाशित किया था. यदि सिने अभिनेता दृढ़ रहते हैं तो मैं उन्हें अदालतों में भी समर्थन दूंगा।''