देहरादून : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने देहरादून में कांग्रेस की परिवर्तन रैली में केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा तो प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने राहुल गांधी पर पलटवार करते हुए कहा कि झूठ बोलना, बेबुनियाद आरोप लगाकर भाग जाना राहुल गांधी की फितरत है। त्रिवेंद्र ने कहा कि आज राहुल गांधी के भाषण में जो बौखलाहट दिख रही थी, वो ये बताती है कि उन्होंने चुनाव से पहले ही हार मान ली है।

हम आश्वस्त है कि देवभूमि की जनता सदैव नरेंद्र मोदी के साथ खड़ी रहेगी। मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि यह बड़ा दुखद है कि राहुल गांधी राजनीतिक शिष्टाचार की मर्यादा तक भूल चुके हैं। प्रधानमंत्री किसी एक पार्टी के नहीं पूरे देश के होते हैं। रावत ने कहा कि ये राहुल गांधी के संस्कार ही हैं कि देश के पीएम के लिए तू तड़ाक शब्दों का इस्तेमाल और आतंकी मसूद अजहर के लिए “जी” का संबोधन।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने आगे कहा कि सेनाध्यक्ष को गली का गुंडा बोलने वाली पार्टी के राहुल गांधी के मुंह से जवानों की बात हास्यास्पद है। सर्जिकल स्ट्राइक्स और बालकोट पर प्रश्न उठाने वाले शायद भूल गए हैं कि उनके पार्टी में सेना की बुलेट प्रूफ जैकेट की मांग तक को अनसुना कर दिया गया था, एनडीए ने बाद में ये माँग पूरी की।

देवभूमि के प्रति पीएम मोदी जी का अगाध प्रेम ही है कि पीएम बनने के बाद मोदी जी 7 बार उत्तराखंड आए। 2013 की आपदा में जब लोगों को सहारे की जरूरत थी, तब मनमोहन सिंह केवल हवाई सर्वे करके दिल्ली लौट गए और मां-बेटे ने राहत सामग्री के ट्रक को फ़ोटो खिंचाने के कारण एक है।