BREAKING NEWS

'काली' के पोस्टर पर छिड़ा विवाद... मोइत्रा ने अनफॉलो किया TMC का अकाउंट, पार्टी ने बनाई दूरी! ◾CM शिंदे ने उद्धव ठाकरे पर ली चुटकी, कहा-ऑटोरिक्शा ने मर्सिडीज को पीछे छोड़ दिया◾अयोध्या के संत ने फिल्म 'काली' का पोस्टर साझा करने के बाद फिल्म निर्माता लीना को धमकी की जारी◾CORONA UPDATE : देश में पिछले 24 घंटो में कोरोना के 16 हज़ार से ज़्यादा मामले सामने आए, 28 मरीजों ने गंवाई जान ◾अजमेर दरगाह का खादिम गिरफ्तार, नुपुर शर्मा की गर्दन काटने वाले को अपना घर देने का किया था ऐलान◾कश्मीर में मुठभेड़ के दौरान दो आतंकवादियों ने आत्मसमर्पण किया◾LPG Price Hike : आम आदमी को महंगाई का बड़ा झटका, 50 रुपए महंगा हुआ घरेलू LPG सिलेंडर ◾आज का राशिफल (06 जुलाई 2022)◾Jharkhand : उच्च न्यायालय ने मानहानि मामले में राहुल गांधी की याचिका खारिज करते हुए कहा ..... ◾NDA की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू 06 जुलाई को असम में राजग सांसदों, विधायकों से मिलेंगी◾Eng vs Ind 5th Test Match : इंग्लैंड के खिलाफ पांचवें टेस्ट में भारत पर धीमी ओवरगति के लिये जुर्माना◾मैने भाजपा नेतृत्व को एकनाथ शिंदे को महाराष्ट्र सीएम बनाने का प्रस्ताव दिया था : फडणवीस◾फ्रांसीसी रक्षा कंपनी सैफरान ग्रुप हैदराबाद, बेंगलुरु में लगाएगा संयंत्र ◾ Spice Jet flight News: स्पाइस जेट विमान के विंडशील्ड में आई दरार, 17 दिन में तकनीकी खराबी की 7वीं घटना ◾Maharashtra: उद्धव का छलका दर्द! बोले- सियासी राजनीति से हुआ दुखी, अपनों ने छोड़ा साथ, जल्द करूंगा वापसी◾ भाजपा का अखिलेश पर तंज- जनाब तुम्हारी साइकिल 2024 के लोकसभा चुनाव तक नहीं पहुंच पाएगी, मुंह की खाओगे◾ BJP धमकी देती है कि हमारे पास ED है और IT है...दीवार फिल्म के मशहूर डायलॉग से केजरीवाल का भाजपा पर हमला◾Karnataka News: कर्नाटक में मौत का खैल ! मशूहर ‘सरल वास्तु’ गुरुजी की चाकू मारकर हत्या की गई◾जीएसटी को‘गब्बर सिंह टैक्स‘करार दिया..........., राहुल गांधी का केंद्र सरकार पर तीखा वार◾योगी सरकार के 100 दिन.... या अंधकार का कार्यकाल: गरीबी, बेरोजगारी और महंगाई सातवें आसमान पर, मायावती का तंज ◾

सामना में शिवसेना का तंज, चीन द्वारा कब्जाई जमीन पर भगवान शिव, ताज महल में ढूंढ रहे हैं भक्त

देश में इन दिनों ज्ञानवापी, ताज महल, जमा मस्जिद और शाही ईदगाह को लेकर विवाद चल रहा है। ज्ञानवापी में हुए सर्वे में मस्जिद परिसर से शिवलिंग मिलने का दावा हुआ तो वहीं ताज महल, जमा मस्जिद और शाही ईदगाह को लेकर भी तमाम दावे हुए। अब इस विवाद को लेकर शिवसेना ने एक बार फिर अपने मुखपत्र 'सामना' के जरिए केंद्र सरकार और बीजेपी पर हमला बोला है। 

इसी तरह चल रहा है बीजेपी का विकास मॉडल 

शिवसेना ने अपने मुखपत्र 'सामना' में '2024 का उत्खनन शुरू?' नाम से लिखे गए इस लेख में दावा किया गया कि 'वाराणसी स्थित ज्ञानवापी का मुद्दा बीजेपी ने एजेंडे पर ले लिया है। सर्वे और वीडियोग्राफी के बाद मस्जिद से शिवलिंग मिलने की बात कही गई। बीजेपी नेता अब ये फैला रहे हैं कि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ राजधानी लखनऊ का नाम लक्ष्मणपुर करने जा रहे हैं। बीजेपी का विकास का मॉडल इसी तरह चल रहा है। हनुमान चालीसा पाठ से जुड़ा मामला बहुत देर नहीं चला।

हर बार रची जाती है कोई नई राम कहानी-कृष्ण कथा

बीजेपी पर हमला करते हुए सामना में कहा गया, 'हर बार कोई नई राम कहानी अथवा कृष्ण कथा रची जाती है। जबकि उसका मूल रामायण-महाभारत से कोई संबंध नहीं होता है। लेकिन लोगों को उकसाते रहना है, ऐसा धंधा चल रहा है। ताजमहल की जमीन के नीचे क्या छिपा है, ये भी खोदकर निकालो, ऐसी मांग इन्हीं में से कुछ लोगों द्वारा करना ये भी मजेदार है। ताजमहल प्रकरण में कोर्ट ने याचिकाकर्ता को फटकार लगाई। उसी समय दिल्ली की जामा मस्जिद पर भी बीजेपी के साक्षी महाराज ने दावा ठोंक दिया है। दुनिया कहां जा रही है और हम क्या कर रहे हैं?'

लेख में आगे कहा गया, 'कैलाश पर्वत समस्त हिंदुओं की आस्था का केंद्र है। कैलाश पर्वत पर भगवान शिवजी विराजमान हैं। उस कैलाश पर्वत पर चीन ने कब्जा जमा रखा है और भक्त लोग शिवजी को ताजमहल के नीचे ढूंढ़ रहे हैं। नई पीढ़ी के हाथ में वर्तमान शासक निश्चित तौर पर क्या रखनेवाले हैं? साढ़े 6 करोड़ जनसंख्या वाला देश फ्रांस  ‘राफेल’ बनाकर हमें बेच रहा है और 130 करोड़ लोगों का देश रोज मंदिर-मस्जिद और अवशेषों का उत्खनन कर रहा है।'

राम मंदिर के लिए बाबरी का ढांचा गिराना पड़ा

सामना में आगे लिखा गया, अयोध्या में राम मंदिर बन रहा है। उसके लिए बाबरी का ढांचा गिराना पड़ा। इस कार्य के लिए हजारों कारसेवकों को बलिदान देना पड़ा। अब ऐसे ही कुछ नए मुद्दों को छेड़कर देशभर में दंगे कराए जाएंगे व उसी भावना पर 2024 के चुनाव लड़े जाएंगे, ऐसा डर ममता बनर्जी ने व्यक्त किया है। सर्वोच्च न्यायालय द्वारा अयोध्या प्रकरण में राम मंदिर के पक्ष में फैसला  सुनाए जाने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने बेहद संयमित प्रतिक्रिया व्यक्त की थी।'