लोकसभा चुनाव करीब है और ऐसे में बीजेपी को सिक्किम से बड़ा झटका लगा है। सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा (SKM) ने शुक्रवार को खुद को बीजेपी से अलग कर लिया और सिक्किम की सभी विधानसभा सीटों और लोकसभा की एकमात्र सीट पर मैदान में उतरने का निर्णय लिया।
पार्टी ने सिक्किम की सभी विधानसभा सीटों और लोकसभा की एकमात्र सीट पर मैदान में उतरने का निर्णय लिया।

एसकेएम के प्रवक्ता सोनम भूटिया ने बताया, ‘‘एसकेएम (SKM) सिक्किम में सभी 32 विधानसभा सीटों और एकमात्र लोकसभा सीट पर प्रत्याशी उतारेगी। ”उन्होंने बताया कि दक्षिण सिक्किम के जोरेथांग में पार्टी की संबंधित समिति की बैठक में यह निर्णय लिया गया। बैठक की अध्यक्षता एसकेएम के अध्यक्ष प्रेम सिंह तमांग ने की।

पूर्वोत्तर का राज्य सिक्किम क्षेत्रफल में देश के सिर्फ एक प्रदेश गोवा से बड़ा है। यहां लोकसभा की एक सीट है। यह सीट इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि यह पूरे राज्य का प्रतिनिधित्व करती है। बता दें कि सिक्किम में आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनावों के लिए बीजेपी ने शुक्रवार आठ मार्च को विपक्षी सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा (एसकेएम) के साथ गठबंधन किया है।

सिक्किम में एक ही चरण में 11 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे। लोकसभा चुनाव सात चरणों में 11 अप्रैल से 19 मई तक होंगे। वहीं गुरुवार 23 मई को नतीजों का एलान किया जाएगा।