BREAKING NEWS

दिल्ली हिंसा में शामिल 106 लोग गिरफ्तार सहित 18 एफआईआर दर्ज, दिल्ली पुलिस ने जारी किए हेल्पलाइन नंबर◾मुख्यमंत्री केजरीवाल ने किया हिंसाग्रस्त उत्तर-पूर्वी दिल्ली का दौरा ◾अपने दौरे के बाद एनएसए डोभाल ने गृह मंत्री अमित शाह को उत्तर पूर्वी दिल्ली में मौजूदा हालात की जानकारी दी◾एनएसए डोभाल ने किया दंगा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा, बोले- उत्तर पूर्वी दिल्ली में हालात नियंत्रण में ◾TOP 20 NEWS 26 February : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾शहीद हेड कांस्टेबल रतन लाल के परिवार को 1 करोड़ और एक सदस्य नौकरी देंगे - अरविंद केजरीवाल ◾दिल्ली HC ने पुलिस को भड़काऊ बयान देने वाले BJP नेताओं पर FIR करने की दी सलाह◾दिल्ली हिंसा में मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर हुआ 22, संवेदनशील इलाकों में भारी सुरक्षा बल तैनात◾दिल्ली हिंसा : IB अफसर अंकित शर्मा का मिला शव, हिंसा ग्रस्त इलाको में जारी है तनाव ◾हिंसा पर दिल्ली हाई कोर्ट सख्त, कहा-देश में एक और 1984 नहीं होने देंगे◾दिल्ली हिंसा पर PM मोदी की लोगों से अपील, ट्वीट कर लिखा-जल्द से जल्द बहाल हो सामान्य स्थिति◾दिल्ली हिंसा : हाई कोर्ट ने कपिल मिश्रा का वीडियो क्लिप देख कर पुलिस को लगाई कड़ी फटकार ◾सीएए हिंसा पर प्रियंका गांधी ने लोगों से की अपील, बोली- हिंसा न करें, सावधानी बरतें ◾सोनिया गांधी ने दिल्ली हिंसा को बताया सुनियोजित, गृहमंत्री से की इस्तीफे की मांग◾दिल्ली हिंसा : हेड कांस्टेबल रतनलाल को दिया गया शहीद का दर्जा, पत्नी को नौकरी के साथ मिलेंगे 1 करोड़ ◾सुप्रीम कोर्ट ने सीएए हिंसा को बताया दुर्भाग्यपूर्ण, याचिकाओं पर सुनवाई से किया इनकार ◾दिल्ली में हुई हिंसा के बाद यूपी में हाई अलर्ट, संवेदनशील जिलों में पुलिस बलों के साथ पीएसी तैनात ◾राजस्थान के बूंदी में नदी में बस गिरने से 24 लोगों की मौत, मृतकों में 3 बच्चे शामिल◾दिल्ली के तनावपूर्ण इलाके छावनी में तब्दील, सुरक्षा बलों के फ्लैगमार्च के साथ स्पेशल सीपी ने किया दौरा◾शाहीन बाग मुद्दे को लेकर 23 अप्रैल को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट◾

कुछ ताकतें मुझे मिटा देना चाहती हैं : हरीश रावत

देहरादून : विधायकों की सौदेबाजी के स्टिंग की सीबीआई जांच को पूर्व सीएम हरीश रावत अपने राजनीतिक करियर की सबसे चुनौतीपूर्ण घड़ी करार दिया है। मालूम हो कि सीबीआई ने इस मामले की जांच रिपोर्ट पूरी करते हुए हाईकोर्ट को सौंपी दी है। सीबीआई के अनुरोध पर हाईकोर्ट ने इस मामले की सुनवाई के लिए 20 सितंबर की तारीख तय की है।

शनिवार को मीडिया में इसकी खबरें आने पर हरीश रावत ने सोशल मीडिया के जरिए अपनी बात साझा की। रावत ने कहा है कि,  'मेरे राजनैतिक जीवन में एक बार और दुर्दश, दुर्घष चुनौतीपूर्ण क्षण आ रहा है। कुछ ताकतें मुझे मिटा देना चाहती हैं। बकौल रावत, मैं मिटूंगा अवश्य, लेकिन उत्तराखंडी गंगलोड़ की तरह लुढ़कते-लुढ़कते, घिसते-घिसते इस मिट्टी में मिल जाऊंगा। परंतु टूटूंगा नहीं।'

यह है मामला  

रावत के मुख्यमंत्रित्वकाल के अंतिम दौर उनका एक स्टिंग आया था। रावत उस दौरान पार्टी के भीतर असंतोष से जूझ रहे थे। स्टिंग में रावत एक न्यूज चैनल संचालक के साथ विधायकों की सौदेबाजी करते दिखाई दे रहे थे। मार्च 2016 में  पार्टी में बगावत होने के बाद कुछ समय तक प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगा  रहा। उस दौरान राज्यपाल की संस्तुति पर केंद्र सरकार ने स्टिंग की सीबीआई जांच बिठा दी थी।

प्रदेश कांग्रेस भी रावत के साथ  

रावत के खिलाफ सीबीआई जांच को कांग्रेस ने राजनीतिक विद्वेष की कार्रवाई बताया है। प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने कहा कि केंद्रीय जांच एजेसिंया किसके इशारे पर काम कर रही है, यह किसी से छिपा नहीं है। भाजपाई  ताकतें कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ कुचर्क रच रहे हैं। कांग्रेस को  देश की न्यायिक व्यवस्था पर अगाध विश्वास है। रावत जी को न्यायालय से इंसाफ मिलेगा। 

प्रदेश प्रवक्ता गरिमा महरा दसौनी ने कहा कि भाजपा की कलई  खुल चुकी है। पूर्व वित्त मंत्री पी. चिंदंबरम के खिलाफ हाल में जो कुछ हुआ वो दुनिया के सामने हैं। अब हरीश रावत को निशाना बनाया जा रहा है।