BREAKING NEWS

उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के बाद विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे अखिलेश यादव, कहा- वो जिंदा रहना चाहती थी◾उन्नाव पीड़िता की मौत पर बोली स्वाति मालीवाल- सरकार बलात्कार पीड़िताओं के प्रति असंवेदनशील ◾उन्नाव बलात्कार पीड़िता की मौत पर बोली प्रियंका गांधी- यह हम सबकी नाकामयाबी है हम उसे न्याय नहीं दिला पाए◾उन्नाव रेप केस: बुजुर्ग पिता की गुहार, बेटी के गुनहगारों को मिले मौत की सजा◾उन्नाव रेप पीड़िता की दर्दनाक मौत अति-कष्टदायक : मायावती◾सीएम बनने के बाद PM मोदी से पहली बार मिले उद्धव ठाकरे, सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए मुम्बई रवाना हुए मोदी ◾झारखंड विधानसभा चुनाव : सिल्ली में जीत का 'चौका' लगा पाएंगे सुदेश महतो?◾झारखंड: विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के लिए 20 सीटों पर मतदान जारी, PM मोदी ने की लोगों से वोट डालने की अपील ◾जिंदगी की जंग हार गई उन्नाव रेप पीड़िता, सफदरजंग अस्पताल में हुई मौत◾महिलायें अपने हाथ में लें देश की बागडोर : प्रियंका गांधी वाड्रा◾हैदराबाद मुठभेड़ मामले में पुलिस ने आत्मरक्षा में गोली चलाई : येदियुरप्पा◾प्रियंका गांधी वाड्रा ने ताबड़तोड़ बैठकें कर जनमुद्दों पर सरकार को जगाने की रणनीति पर चर्चा की ◾TOP 20 NEWS 6 DEC : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾भाजपा महाराष्ट्र में सरकार नहीं बना पाई, झारखंड में भी हारेगी : पी. चिदंबरम ◾हैदराबाद गैंगरेप : एनकाउंटर पर बोले पुलिस कमिश्नर-आरोपियों ने पिस्टल छीनकर की थी फायरिंग, 2 पुलिसकर्मी भी हुए घायल◾झारखंड में बोले चिदंबरम- नाकाबिल लोगों के हाथ में होने से भारी संकट में है भारत की अर्थव्यवस्था◾राष्ट्रपति को भेजी गई निर्भया गैंगरेप के दोषी की दया याचिका, गृह मंत्रालय ने की खारिज करने की मांग◾अधीर रंजन के बयान पर स्मृति का पलटवार, लोकसभा में बोलीं-रेप को राजनीतिक हथियार बनने वाले दे रहे भाषण ◾हैदराबाद गैंगरेप: आरोपियों के एनकाउंटर पर नेताओं ने दी यह प्रतिक्रिया, जाने किसने क्या कहा◾पड़ोसी देशों में उत्पीड़न के शिकार लोगों को भारतीय नागरिकता देने से बेहतर कल सुनिश्चित होगा : PM मोदी ◾

अन्य राज्य

पश्चिम बंगाल सरकार जम्मू कश्मीर से 131 मजदूरों की वापसी में कर रही है मदद : अधिकारी

 mamata says doctor strike

पश्चिम बंगाल सरकार जम्मू कश्मीर में काम कर रहे 131 लोगों की राज्य में वापसी के लिए मदद कर रही है। एक वरिष्ठ अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। 

उन्होंने कहा कि गत 29 अक्टूबर को कश्मीर में राज्य के पांच मजदूरों की हत्या के बाद वापसी की इच्छा जाहिर करने वाले मजदूरों के लिए राज्य सरकार ने एक विशेष कोच की व्यवस्था की है। 

अधिकारी ने कहा, ‘‘हम उन 131 लोगों को वापस ला रहे हैं, जो काम के लिए जम्मू-कश्मीर गए थे और वे अब वहां रहने में अनिच्छुक है।’’ 

जम्मू में पहले से ही नौ श्रमिक पहुंच गये है और शेष जम्मू आने के लिए श्रीनगर से चल चुके है। वे जम्मू से कोलकाता के लिए रेलगाड़ी में सवार होंगे। 

अधिकारी ने बताया कि एक वरिष्ठ मंत्री को एक वीडियो फुटेज मिली थी जिसमें बंगाली मजदूर सरकार से उन्हें वापस लाने के लिए कदम उठाये जाने का आग्रह करते हुए दिखाई दे रहे थे। इसके बाद पश्चिम बंगाल सरकार ने यह निर्णय लिया। 

उन्होंने कहा, ‘‘मजदूरों को यह डर है कि यदि वे कश्मीर घाटी में रहना जारी रखेंगे तो उन्हें मार दिया जायेगा।’’ उन्होंने कहा कि ये मजदूर उत्तरी दिनाजपुर, कूचबिहार और मुर्शिदाबाद जिलों के रहने वाले है और पिछले 15 वर्षों से अधिक समय से घाटी में काम कर रहे थे। 

गौरतलब है कि गत 29 अक्टूबर को पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले के बहलनगर गांव के पांच लोगों कमरूद्दीन शेख, मुरसलीम शेख, रफीकुल शेख, रफीक शेख और नईमुद्दीन शेख की घाटी के कुलगाम जिले में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। 

राज्य सरकार ने इससे पूर्व मारे गये पांचों मजदूरों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये की अनुग्रह राशि दिये जाने की घोषणा की थी।