BREAKING NEWS

नीतीश नहीं तेजस्वी यादव के हाथों में होगी बिहार की बागडोर? राजद नेताओं ने कर दिया ऐलान ◾ '... जाके कछु नहीं चाहिए, वे शाहन के शाह', दिग्विजय सिंह के इस tweet के क्या हैं मायने?◾Amazing स्पीड के साथ...No बफरिंग, 10 गुना होगी इंटरनेट की रफ्तार, देश में लॉन्च हुई 5G सर्विस◾दिल्ली : पुरानी आबकारी नीति से मालामाल हुई दिल्ली सरकार, एक महीने में कमाए 768 करोड़◾Pitbull का बढ़ता कहर, अब पंजाब में एक रात एक अंदर 12 लोगों को बनाया शिकार◾RBI Hike Repo Rate : ग्राहकों को लगा बड़ा झटका, रेपो रेट के बाद SBI समेत इन बैंकों में बयाज दर में बढ़ोतरी◾अशोक गहलोत का बड़ा खुलासा, जानिए अंतिम समय में क्यों अध्यक्ष पद चुनाव लड़ने से किया मना◾दिल्ली : हैवानियत का शिकार हुआ मासूम हारा जिंदगी की जंग, LNJP अस्पताल में 14 दिन बाद मौत◾कोविड19 : देश में पिछले 24 घंटो में कोरोना संक्रमण के 3,805 नए मामले दर्ज़, 26 मरीजों मौत ◾अजब प्रेम की गज़ब कहानी : पाकिस्तान की लड़की को हुई नौकर से मोहब्बत, कहा- प्यार अमीर-गरीब नहीं देखता ◾उत्तराखंड : केदारनाथ मंदिर के पास खिसका बर्फ का पहाड़, देखें Video◾LPG Price Update : 25.5 रुपए की कटौती के साथ सस्ता हुआ कमर्शियल LPG गैस सिलेंडर◾मल्लिकार्जुन खड़गे के समर्थन में उतरे गहलोत, जानिए अध्यक्ष पद चुनाव को लेकर क्या कहा ◾आखिरकार क्यों अध्यक्ष पद चुनाव से कटा दिग्विजय सिंह का पत्ता? जानिए हाईकमान ने खड़गे के नाम पर कैसे लगाई मुहर◾आज का राशिफल (01 अक्टूबर 2022)◾RSS चीफ ने चीन , अमेरिका पर साधा निशाना , कहा - महाशक्तियां दूसरे देशों की स्वार्थी तरीके से मदद करती हैं◾T20 World Cup : 6 अक्टूबर को ऑस्ट्रेलिया के लिए रवाना होगा भारत◾PM मोदी ने देरी से पहुंचने की वजह से जनसभा को नहीं किया संबोधित◾PM मोदी ने दादा साहब फाल्के पुरस्कार मिलने पर आशा पारेख को दी बधाई ◾तरंगा-आबू रोड रेल लाइन की योजना 1930 में बनाई गई थी लेकिन दशकों तक ठंडे बस्ते में पड़ी रही : PM मोदी◾

योगगुरू स्वामी रामदेव बोले- नालंदा और तक्षशिला की तरह पतंजलि विश्वविद्यालय भी लेगा वैश्विक स्वरूप

योगगुरू स्वामी रामदेव ने रविवार को कहा कि पतंजलि विश्वविद्यालय जल्द ही नालंदा और तक्षशिला की तर्ज पर एक वैश्विक स्वरूप लेगा जहां दुनिया भर से लोग शिक्षा ग्रहण करने आएंगे। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की उपस्थिति में पतंजलि विश्वविद्यालय के पहले दीक्षांत समारोह में अपने संबोधन में रामदेव ने कहा, ‘‘अभी तो यह पतंजलि विश्वविद्वालय का अभ्युदय स्वरूप है, बीज रूप है। आने वाले कुछ समय में यह ग्लोबल पतं​जलि यूनिवर्सिटी बनने वाली है। यह दुनिया की सबसे बड़ी यूनिवर्सिटी होगी जहां एक लाख से ज्यादा छात्र सभी विषयों जैसे मेडिकल, इंजीनियरिंग, कृषि, प्रबंधन, कानून में शिक्षा हासिल करेंगे।' 

NFHS के सर्वे से खुलासा, 30 फीसदी से अधिक महिलाओं ने पति के हाथों पत्नी की पिटाई को उचित ठहराया

उन्होंने कहा, ' जैसे पहले भारत में पूरी दुनिया से नालंदा और तक्षशिला में लोग पढने आते थे तो अब नालंदा और तक्षशिला का नवाचार और नवातार पतं​जलि की ओर से प्रस्तुत होगा।' रामदेव ने कहा कि हमारे बच्चों को आस्ट्रेलिया, ब्रिटेन और अमेरिका न जाना पड़े बल्कि पूरी दुनिया से लोग यहां शिक्षा—दीक्षा और संस्कार तथा सनातन संस्कृति के अध्ययन के लिए आएं, यही हमारा संकल्प और ध्येय है। 

उन्होंने कहा कि पतंजलि आचार्यकुलम में छोटे बच्चे भी वेदांत, वेद दर्शन, उपनिषद, भगवद गीता, सांख्य योग के साथ ही तीन से पांच भाषाओं में भी पारंगत होकर आधुनिक विषयों को भी पढ रहे हैं। उन्होंने कहा, 'यह व्यक्ति निर्माण से राष्ट्र निर्माण की एक श्रृंखला है। योग, आयुर्वेद और स्वदेशी की क्रांति के बाद शिक्षा की क्रांति से एक नया इतिहास रचा जाएगा जिससे राष्ट्र गौरवान्वित होगा। ऐसी हमारी सेवा की यात्रा है।'