BREAKING NEWS

RRB NTPC Result : छात्रों का बिहार बंद, सड़कों पर टायर जलाकर किया प्रदर्शन◾श्वेता तिवारी पर टूटा मुश्किलों का पहाड़, धार्मिक भावनाएं आहत करने के आरोप में दर्ज हुई FIR◾देश में गिरता कोरोना का ग्राफ, एक दिन में ढाई लाख नए केस, रिकवरी रेट में भी इजाफा◾World Corona Update : वैश्विक स्तर पर 36.56 करोड़ से अधिक पहुंचा संक्रमितों का आंकड़ा◾दिल्ली के किसानों की फसल बर्बाद, मुआवजा देने के नाम पर CM का झूठ का खेल पंजाब तक चालू : दिल्ली कांग्रेस◾मुंबई : ACB ने तीसरी बार पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह को किया तलब, पिछले दो समन पर नहीं हुए थे पेश ◾ केंद्र सरकार ने देश के 407 में संक्रमण दर 10 फीसदी से ज्यादा होने पर कोविड प्रतिबंध 28 फरवरी तक बढ़या◾पंजाब में सिद्धू या चन्नी में से कौन होगा मुख्यमंत्री का फेस ?राहुल गांधी ने दिया यह जवाब...◾चौधरी चरण सिंह मेरे आदर्श, जाट समुदाय भाजपा से नाराज नहीं रह सकता : राजनाथ◾ दिल्ली में कोविड-19 के 4,291 नये मामले, 34 और लोगों की महामारी से मौत◾ विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर COVID19 पॉजिटिव हुए, कांटेक्ट में आए लोगों को दी एहतियात बरतने की सलाह◾यूपी चुनाव : बीजेपी अध्यक्ष नड्डा कल शाहजहांपुर में करेंगे जन संपर्क अभियान, कार्यक्रम को करेंगे संबोधित ◾दिल्ली के बाद चंडीगढ़ में कोविड प्रतिबंधों में ढील, 10वीं से 12वीं तक के लिए स्कूल खोलने की अनुमति ◾भारत-मध्य एशिया शिखर सम्मेलन में पीएम मोदी ने की मेजबानी, अफगानिस्तान को लेकर कही यह बात ◾SP ने जारी की 56 प्रत्याशियों की लिस्ट, गैर यादव OBC नेताओं पर खास ध्यान, जानें किसे कहां से मिला टिकट ◾यूपी चुनाव : आजम खान ने सीतापुर की जेल से ही भरा नामांकन, SP ने रामपुर से ही दिया टिकट◾आखिरकार टाटा के पास पहुंचा 'महाराजा' का स्वामित्व, अब एयरलाइन में बड़े बदलाव करेगा समूह◾उत्तराखंड चुनाव: कांग्रेस-BJP में जारी है रूठों को मनाने की कवायद, जानें पार्टियों में क्या हुए बदलाव? ◾1971 में मुख्यमंत्री टी एन सिंह को गोरखपुर के लोगों ने हराया था, अब फिर से इतिहास दोहराएंगे : चंद्रशेखर ◾UP में शाह ने भरी हुंकार, विपक्ष पर हुए हमलावर, कहा- माफियाओं पर कार्रवाई से अखिलेश के होता दर्द ◾

अमृतसर में खोला जाएगा अकाली दल कार्यालय : सुखबीर

लुधियाना-अमृतसर  : शिरोमणि अकाली दल का 97वां स्थापना दिवस मनाने के लिए आज गुरू की नगरी अमृतसर में इकटठे हुए बादल समर्थकों ने जहां दल के इतिहास और उपलब्धियों का जिक्र करके वारिस बनने की कोशिश की वही उन्होंने संदेश भी दिया कि आने वाले दिनों में दल को मजबूत करने के लिए ठोस उपाय किए जाएंगे। प्रवक्ताओं ने आशा भी प्रकट की कि देश की आजादी से पहले और बाद में लड़ी गई हर जंग में अकाली दल जिस प्रकार विजेता रहा है और आने वाली 20-20 विधानसभा में वह पुन: विजेता रहेंगे। दिल्ली कमेटी के प्रधान मंजीत सिंह जीके ने ऐलान किया कि अगले साल अकाली दल का 2018 का स्थापना दिवस दिल्ली में मनाया जाएंगा।

इस दौरान मंजीहाल में मौजूद पार्टी आगुओं और कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री व अकाल दल के संयोजक प्रकाश सिह बादल ने कहा कि शिरोमणि अकाली दल की स्थापना जबर व जुलम के खिलाफ चले संघर्ष में से हुई है। आज भी अकाली दल समय समय की सरकारों की ओर से चलाए जा रहे जबर व जुलम के खिलाफ आवाज बुलंद करते हुए पंजाबियों का नेतृत्व कर रहा है। अकाली दल अपनी कुर्बानियों का लम्बा एतिहास संभाले हुए है। जिस पर प्रत्यक अकाली वर्कर गर्व करता है। बादल गुरूवार को श्री हरिमंदिर साहिब स्थित दीवान मंजी साहिब हाल में आयोजित पार्टी के 97 वें स्थापना दिवस के अवसर पर संबोधित कर रहे थे। इस कार्यक्रम में अकाली दल का समूह नेतृत्व और एसजीपीसी के पदाधिकारी, कर्मचारी और अकाली दल के वर्कर बड़ी संख्या में शामिल हुए।

बादल ने कहा कि अकाली दल में देश की आजादी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। सिखों ने आजादी की लड़ाई में बड़ी कुर्बानियां दी है। अकाली दल ने ही चाब्बियां वाला मोर्चा शुरू करके महंतो से सिख धार्मिक स्थानों को खाली करवाया था। इस में अकाली दल की मुख्य भूमिका रही है। जब अंग्रेजों की ओर से गुरूद्वारा साहिबों से महंता को अकाली दल ने मोर्चे लगा कर हटा दिया था तो तब महात्मा गांधी ने कहा कि देश आजादी की आधी जंग जीत गया है।

बादल ने कहा कि आजादी के बाद भी अकाली दल ने पंजाब की मांगाों को लेकर जंग जारी रखी और पंजाबी सूबा की स्थापना करवाई । आज भी अकाली दल चंडीगढ़ पंजाब को देने, पंजाब के पानियों पर पंजाब का अधिकार, पंजाबी बोलते इलाके पंजाब को सौंपे जाने के लिए आवाज बुलंद कर रहा है। इंमरजैसी के दौर में भी अकाली दल की भूमिका इतिहास का हिस्स है। अकाली दल व्यक्ति की आजादी के आज भी आवाज बुलंद कर रहा है।

अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने संबोधित करते हुए कहा कि अकाली दल की ओर से पहले विदेशी शक्तियों के खिलाफ आवाज बुलंद की थी अब कांग्रेसी सत्ताधारियों के खिलाफ आवाज बुलंद कर रही है। राज्य में कांग्रेसी अत्याचारों के खिलाफ संघर्ष को तेज करने के लिए अकाली दल राज्य के प्रत्येक गांव में दस— दस वालंटियरों को तैयार कर रहा है। जो कांग्रेस के जुलम और जबर के खिलाफ आzवाज उठाएंगे।

पंजाब में अगर एक भी अकाली वर्कर पर अत्याचार हुआ तो मैं सब से आगे होकर आंदोलन का नेतृत्व करूंगा। सुखबीर ने कहा कि जल्दी ही अमृतसर में अकाली दल का कार्यालय स्थापित किया जाएगा। चंडीगढ़ में अकाली दल के इतिहास को प्रदर्शन करने के लिए म्यूजियम स्थापित किया जाएगा। जिस पर काम शुरू कर दिया गया है। इस लिए देश व विदेश में जिस भी अकाली वर्कर के पास अकाली दल के आंदोलनों के दस्तावेज और तस्वीरें मौजूद है। वे इस म्यूजिमय के लिए पार्टी को सौंपे। उन्होंने कहाकि कांग्रेस ने हमेशा ही अकाल दल को कमजोर करने के लिए साजिशे की है। अकाली दल में फूट डाली गई है। अंग्रेजों की विभाजित करो और राज करो की नीति आज भी कांग्रेस सिखों और अकालियों पर लागू कर रही है। उन्होंने कहा कि अकाली दल के 21 वर्षों के राज कार्यकाल में 19 वर्ष प्रकाश सिह बादल मुख्यमंत्री रहे है। राज्य का सब से अधिक विकास अकाली दल के राज कार्यकाल में हुआ है। पंजाब में सामाजिक विकास भी सब से अधिक अकाली शासन के दौरान ही हुआ है।

सुखबीर ने कहा कि अकाली दल का 100 वां स्थापना दिवस 2020 में बड़े स्तर पर आयोजित किया जाएगा। जिस में देश व विदेशों से वर्कर शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि पार्टी के विद्यार्थी विंग का जल्दी ही पुर्नगठन किया जा रहा है।और इसे शक्तिशाली बनाया जाएगा। इस अवसर पर अकाली दल दिल्ली के नेता मंजीत सिंह जीके, रंजीत सिंह ब्रह्मपुरा, डा दलजीत सिंह चीमा, बीबी हरसिमरत कौर बादल , महेश इंद्र सिह ग्रेवाल, एसजीपीसी के अध्यक्ष गोबिंद सिंह लोंगोवाल , रंजीत सिह ब्रह्मपुरा, सिकंदर सिंह मलूका, सुखेदव सिंह ढींडसा , बलविंदर सिंह बूंदड, अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह आदि भी मौजूद थे।

अधिक जानकारियों के लिए यहाँ क्लिक करे

- सुनीलराय कामरेड