BREAKING NEWS

मुफ्त की सौगातें और कल्याणकारी योजनाएं भिन्न चीजें : SC◾राजीव गांधी हत्याकांड : दोषी नलिनी ने समय पूर्व रिहाई के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया◾PM मोदी ने वेंकैया नायडू की तुलना विनोबा भावे से की, कहा-आपकी ऊर्जा प्रभावित करती है◾बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, नौकरी में वृद्धि के संकल्प को दोहराया◾J&K के राजौरी में सेना के शिविर पर हमला : 3 जवान शहीद, 2 आतंकवादी मारे गये◾भारत चालू वित्त वर्ष में दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था होगा - सरकारी सूत्र◾महाराष्ट्र में कोरोना ने फिर दी दस्तक , 1,877 नए मामले आये सामने , 5 की मौत◾भाजपा ने AAP पर साधा निशाना , कहा - फेल हो गया है केजरीवाल का दिल्ली मॉडल◾जल्द CNG और PNG के दाम होंगे कम, सरकार ने शहर गैस वितरण कंपनियों को बढ़ाई आपूर्ति◾जातिगत जनगणना के बहाने ओमप्रकाश राजभर का नीतीश सरकार पर तंज- 'जल्द साबित करिये कि आप...' ◾'उपराष्ट्रपति बनने की इच्छा' BJP के आरोपों को CM नीतीश ने नकारा, बोले- 'जिसको जो बोलना है बोलते रहें'◾SCO Summit 2022: भारत-पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की होगी मुलाकात, 6 साल बाद दिखेगा ये नजारा◾गृहमंत्रालय की गाइड लाइन्स : 15 अगस्त के कार्यक्रमों में न बजें फ़िल्मी गाने , इन नियमों का हो पालन ◾सुशील मोदी पर भड़के सीएम नीतीश, पूर्व उपमुख्यमंत्री के दावों को बताया 'बकवास'◾मप्र: जेल में बंद भाइयों को राखी बांधने पहुंची बहनें , अनुमति न मिलने पर किया चक्काजाम◾महाराष्ट्र: एकनाथ शिंदे के 'मिनी कैबिनेट' में 75 फीसदी मंत्रियों के खिलाफ दर्ज अपराधिक मामले◾ गोवा सीएम का केजरीवाल पर पलटवार, बोले- स्कूल चलाने के लिए हमें सलाह की नहीं जरूरत ◾नीतीश को अवसरवादी बताने पर तेजस्वी का भाजपा पर तंज - जो बिकेगा उसे खरीद लो है इनकी नीति ◾प्रधानमंत्री ने पीएमओ में कार्यरत कर्मचारियों की बेटियों से बंधवाई राखी, देशवासियों को दी शुभकामनायें ◾शिवसेना का बीजेपी पर प्रहार, कहा- मोदी के लिए नीतीश ने खड़ा किया तूफ़ान◾

अमरिंदर सिंह ने बताई BJP से गठबंधन की वजह, कहा- न थका हूं न रिटायर हुआ हूं, चन्नी को लेकर बोले...

पंजाब के 2 बार मुख्यमंत्री रहे एवं पंजाब लोक कांग्रेस के सुप्रीमो रहे अमरिंदर सिंह का मानना है कि विधानसभा चुनाव में किसी एक दल को स्पष्ट बहुमत नहीं मिलेगा और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) एवं शिरोमणि अकाली दल (संयुक्त) के साथ उनकी पार्टी के गठबंधन की स्थिति मजबूत हो रही है। पटियाला के शाही परिवार के वंशज और कांग्रेस की राज्य इकाई के पूर्व प्रमुख 79 वर्षीय अमरिंदर सिंह ने पिछले साल पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद अपने अलग दल का गठन किया था।

अमरिंदर बोले न तो सेवानिवृत्त हुआ हूं और ना ही थका हूं 

अमरिंदर सिंह ने कहा कि वह न तो सेवानिवृत्त हुए हैं और ना ही थके हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब और देश को और बेहतर बनाने की आकांक्षा इस उम्र में भी उन्हें काम करते रहने की ऊर्जा देती है। उन्होंने कहा, ‘‘मैं सेवानिवृत्त होने के लिए तैयार नहीं हूं। मैं अपने लोगों के लिए काम करना चाहता हूं। मैं नौवीं बार चुनाव लड़ रहा हूं... मैं संसद में दो बार और विधानसभा में छह बार चुना गया हूं।’’ सिंह ने पंजाब में चुनाव परिदृश्य को लेकर कहा कि इस बार चतुष्कोणीय या पंचकोणीय मुकाबला होगा और इसके अलावा कुछ निर्दलीय उम्मीदवार भी हैं।

किसी एक दल को स्पष्ट बहुमत नहीं मिलेगा :अमरिंदर 

अमरिंदर सिंह ने कहा, ‘‘बहुकोणीय मुकाबले के कारण मतदाताओं के लिए फैसला करना आसान हो जाएगा, जहां तक राजनीतिक दलों का सवाल है, तो जब तक वे वाकई बेहतरीन प्रदर्शन नहीं करते, उनके लिए यह मुकाबला मुश्किल होने वाला है। उनमें से कई 10 या 15 से अधिक सीट हासिल नहीं पाएंगे। मुझे नहीं लगता कि किसी एक दल को स्पष्ट बहुमत मिलेगा। लोग ‘आप’ (आम आदमी पार्टी) की बात करते हैं। मुझे लगता कि ‘आप’ दिन-ब-दिन नीचे की ओर जा रही है। इसी प्रकार कांग्रेस का प्रदर्शन भी गिर रहा है। ईश्वर की कृपा से हम ऊपर की ओर जा रहे हैं।’’

चन्नी को CM उम्मीदवार बनाने के फैसले पर कही यह बात 

कांग्रेस द्वारा चरणजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री पद का चेहरा बनाए जाने और उनके दलित समुदाय से संबंधित होने पर सिंह ने कहा कि लोगों को किसी जाति या समुदाय के लिए मतदान नहीं करना चाहिए, बल्कि क्षमता के आधार पर वोट देना चाहिए। सिंह ने कहा, ‘‘मुझे जाति और समुदाय की इस तरह की बातें पसंद नहीं है। आजादी के 75 साल बाद हमें जाति के आधार पर नहीं, बल्कि क्षमता के आधार पर मतदान करना चाहिए। जहां तक क्षमता की बात है, तो उनका (चन्नी का) स्तर मंत्रिपद के लिए उचित है, मुख्यमंत्री पद के लिए नहीं। उनका रिटर्न करोड़ों रुपए में हैं, लेकिन वह दावा कर रहे हैं कि वह एक गरीब व्यक्ति हैं।’’

पंजाब की बेहतरी के लिए मिलाया BJP से हाथ 

अमरिंदर सिंह ने भाजपा के साथ अपने गठबंधन पर कहा कि उन्होंने पंजाब की बेहतरी और सुरक्षा के लिए पार्टी के साथ हाथ मिलाया है और जहां तक मुख्यमंत्री पद के चेहरे की बात है, तो इस पर चुनाव के बाद फैसला किया जा सकता है। सिंह ने कहा कि राज्य की 600 किलोमीटर की सीमा पाकिस्तान के साथ लगती है और इसमें ऐसे लोगों की जरूरत है, जो संवेदनशील हों और राज्य में विकास का नया युग आरंभ कर सकें। गठबंधन के तहत भाजपा 65, पंजाब लोक कांग्रेस 37 और सुखदेव सिंह ढींढसा के नेतृत्व वाला शिअद (संयुक्त) दल 15 सीट पर चुनाव लड़ेगा। पंजाब की 117 विधानसभा सीट के लिए मतदान 20 फरवरी को होगा।

साइकिल का बटन दबाने पर जा रहा कमल को वोट, SP ने लगाया धांधली का आरोप, EC से की शिकायत