BREAKING NEWS

खाली हाथ रह गया उद्धव गुट, अजीत पवार को चुना गया महाराष्ट्र विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष ◾ ज्ञानवापी केस : जिला अदालत में सुनवाई टली, 12 को पक्ष रखेंगे मुस्लिम अधिवक्ता ◾Punjab Board Result 2022: पंजाब में कल छात्र-छात्राओं का अहम दिन, जारी होगा 10वीं का रिजल्ट, इस लिंक पर करें चेक◾ यशवंत सिन्हा की मुर्मू से अपील उनकी ओछी मानसिकता को दर्शाती है - सीटी रवि ◾शरद के बाद कांग्रेस ने भी शिंदे सरकार को लेकर की भविष्यवाणी, कहा - लंबे समय तक नही़ टिकेगी सरकार ◾महाराष्ट्र में 'कानून का शासन' नहीं, शिवसेना बोली- BJP का स्पीकर चुनाव जीतना हैरानी की बात नहीं... ◾राम रहीम को लेकर याचिकाकर्ता पर भड़का हाईकोर्ट, कहा - ये फिल्म चल रही है क्या ◾गुजरात को भी बनाएंगे दिल्ली और पंजाब मॉडल, केजरीवाल बोले- 300 यूनिट तक देंगे मुफ्त बिजली, भाजपा पर भी साधा निशाना◾दिल्ली में विधायकों के वेतन में 66 प्रतिशत की होगी वृद्धि, विधानसभा में पारित हुआ विधेयक ◾शिंदे के सीएम बनने पर दिग्विजय ने सिंधिया पर ली सियासी चुटकी ◾कन्हैयालाल, उमेश कोल्हे... अगला नबंर किसका? नागपुर में भी नूपुर शर्मा के समर्थन में युवक को मिली धमकियां, सदमें में परिवार◾Rahul Gandhi Fake Video: BJP कार्यकर्ताओं पर होगी कड़ी कार्रवाई, कांग्रेस बोली- झूठ नहीं करेंगे बर्दाश्त! ◾महाराष्ट्र : व्हिप मान्यता को लेकर ठाकरे गुट ने सुप्रीमकोर्ट का किया रूख ◾Yogi Government 2.0: मुख्यमंत्री योगी ने सामने रखा रिपोर्ट कार्ड, बोले- ‘जो कहा सो किया’, आगे भी करते रहेंगे ◾'मैंने कहा था मैं वापस आऊंगा, लेकिन...', विधानसभा में बोले डिप्टी CM फडणवीस◾ असम : ईद पर इस्लामी संगठन ने मुसलमानों से बकरीद पर गाय की कुर्बानी नही देने का किया आग्रह ◾Sidhu Moose Wala: पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, गिरफ्तार हुआ सबसे नजदीक से गोली मारने वाला शूटर! ◾आंध्र प्रदेश : PM मोदी बोले-आज़ादी का संग्राम कण-कण के त्याग, तप और बलिदानों का इतिहास ◾Delhi: भौंकने पर शख्स ने की पालतू कुत्ते की पिटाई.. मालिक पर भी किया लोहे के पाइप से हमला, जानें मामला ◾शिंदे के नेतृत्व वाला गुट मूल शिवसेना होने का दावा नहीं कर सकता : संजय राउत◾

सिख संगत और पुलिस के बीच में हुई झडप

लुधियाना- गुरदासपुर : भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा पर स्थित पंजाब के जिला गुरदासपुर में एतिहासिक गुरुद्वारा घल्लुघारा साहिब काहनूवान में एक ग्रंथी सिंह के महिला के साथ आपत्तिजनक हालत में काबू किये जाने की घटना के बाद मामला तूल पकड़ता जा रहा है। आज गुरूद्वारा साहिब का दौरा करने के लिए श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह रवाना हुए तो उनके साथ एसजीपीसी मैंबर सेवा सिंह सेखवां व अन्य नेता व बडी संखया में संगत भी रवाना होनी शुरू हो गई। जिसे पुलिस ने इन्हें रोकने लिए जगह जगह बेरीकेट लगाकर नाकेबंदी कर दी। इस दौरान संगत व पुलिस में झडप हो गई। इस हिंसक झड़प में अकाली नेता कंवलप्रीत सिंह काकी के कुछ समर्थकों की पगडिय़ां भी उछली जबकि इस धक्कामुक्की में कुछ युवकों को चोटें भी आई है।

पुलिस का कहना था कि अधिकांश गर्मख्याली लोग गुरूद्वारा साहिब में माहौल खराब करना चाहते थे, जिन्हें रोकना जरूरी था। उक्त लोगों को गुरूद्वारा साहिब में जाने के लिए पाबंद किया गया था, जब यह लोग नहीं रूके तो पुलिस को इन्हें रोकने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। पुलिस ने पुलिस की तरफ से सुच्चा सिंह लंगाह ,सेवा सिंह सेखवां अकाली दल और कंवलप्रीत सिंह काकी माझा जोन अध्यक्ष आप पार्टी और 27 लोगों पर बाई नेम और 250 के करीब अज्ञात लोगों पर पुलिस ने दो थानों थाना तिबड और थाना भैणी मिया खान में केस दर्ज कर दिया है।

वही इस मामले में एस एस पी भूपिंदर जीत सिंह विर्क ने बताया कि दो थानों थाना तिबड़ और थाना भैणी मिया खान में 27 लोगों पर बाई नेम और 250 के करीब अज्ञात लोगों पर पुलिस ने मामला दर्ज किया है जिन पर डियूटी पर तैनात कर्मचारियों से गलत व्यवहार करने और ड्यूटी में विघ्न डालने को लेकर आरोप है जिस में कुछ नेता भी शामिल हैं। जिक्रयोग है कि 11 अगस्त को इस गुरूद्वारा साहिब में प्रबंधक कमेटी के एक सदस्य को रंगे हाथ महिला के साथ संगत ने आपत्तिजनक हालात में काबू किया था। उसके पश्चात आसपास के दर्जनों गांवों के लोगों ने श्री अकाल तख्त साहिब से इस संबंधी कार्यवाही की मांग करते हुए समस्त गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी को बदले जाने की मांग रखी थी। पिछले 8 दिनों तक सिख संगत और कमेटी के लोग एक दूसरे के विरूद्ध डटे हुए है। उधर पंजाब पुलिस प्रमुख अधिकारी एसएसपी भूपिंद्र विर्क का कहना है कि पुलिस ने किसी भी सिख श्रद्धालु को गुरूद्वारा साहिब में जाने से नहीं रोका। फिलहाल गुरूद्वारा परिसर में किसी भी घटना को रोकने के लिए पुलिस ने कड़े प्रबंध किए हुए है और समस्त इलाकों में भारी नाकाबंदी करके पुलिस पहरा बिठाया हुआ है।

उल्लेखनीय है कि इस घटना के बाद यहाँ सिख संगत में रौष पाया जा रहा था। जिसके चलते सिख संगत और शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के मेंबर सुच्चा सिंह लंगाह और सेवा सिंह सेखवां के द्वारा श्री अकाल तखत साहिब के जथेदार को सूचित की गया है और स्थानिय गुरद्वारा कमेटी को बदलने की सिफारिश भी की गयी है। जिसके चलते श्री अकाल तख्त साहिब के जथेदार करवाई करने गुरुद्वारे साहिब आ रहे थे। जिसके बाद यह पूरा घटनाक्रम हुआ।

- सुनीलराय कामरेड