BREAKING NEWS

‘नमामि गंगे’ मिशन के तहत PM मोदी ने उत्तराखंड में 6 बड़ी परियोजनाओं का किया उद्घाटन◾कृषि बिल पर राहुल ने की किसानों से बातचीत, कहा- नए कानून से अन्नदाता बन जाएंगे मजदूर◾हाथरस गैंगरेप पीड़िता की मौत पर विपक्ष का योगी सरकार पर हमला, कानून व्यवस्था पर उठाए सवाल◾देश में एक दिन में कोरोना के 70 हजार नए मामलों की पुष्टि, पॉजिटिव केस 61 लाख के पार◾ विश्व में कोरोना वायरस का कहर तेज, पॉजिटिव केस 3 करोड़ 32 लाख के पार ◾उत्तर प्रदेश : हाथरस में सामूहिक बलात्कार पीड़िता की दिल्ली के अस्पताल में इलाज के दौरान मौत◾TOP 5 NEWS 29 SEPTEMBER : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें◾ अमेरिका में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 71 लाख से अधिक, ये प्रांत बुरी तरह प्रभावित ◾J&K के पुंछ में पाकिस्तान ने LOC पर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया, सेना ने दिया मुहतोड़ जवाब◾आज का राशिफल (29 सितम्बर 2020)◾MI vs RCB (IPL 2020) : रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर की मुंबई इंडियन्स पर सुपर ओवर में रोमांचक जीत◾सुशांत केस: AIIMS ने सीबीआई को सौंपी रिपोर्ट, जांच की रफ्तार होगी तेज◾पत्नी से मारपीट का वीडियो वायरल : पुलिस अधिकारी पदमुक्त, सरकार ने जारी किया 'कारण बताओ नोटिस'◾कोविड-19 को लेकर बोली दिल्ली सरकार - दिल्ली में शुरू हो चुका है कोरोना का डाउनट्रेंड◾शिरोमणि अकाली दल ने किया ऐलान - दिल्ली में बीजेपी गठबंधन के सभी पद छोड़ेगा अकाली दल◾अमित शाह ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ विभिन्न मुद्दों पर स्थिति की समीक्षा की◾महाराष्ट्र में कोरोना का कोहराम बरकरार, बीते 24 घंटे में 11,921 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 13.51 लाख के पार ◾IPL-13: डिविलियर्स-फिंच का तूफानी अर्धशतक, बेंगलोर ने मुंबई को दिया 202 रनों का लक्ष्य ◾रक्षा मंत्रालय बड़ा फैसला - 2,290 करोड़ रुपये के सैन्य उपकरणों की खरीद को मंजूरी दी ◾प. बंगाल के राज्यपाल की ममता सरकार को चेतावनी - संविधान की रक्षा नहीं हुई तो कार्रवाई होगी◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

पंजाब की मिट्टी को दिया साकार रूप, मनजीत सिंह ने गौरी लंकेश का बुत बनाकर दी श्रद्धांजलि

लुधियाना  : 'अगर मैं चुप रहा, तो मर जावांगा, अगर मैं बोला तो मार दिया जावांगा ' । पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान के एक शायर का उपरोक्त शेर गौरी लंकेश पर पूरा उतरता है। चुप रहकर मरने से गौरी लंकेश ने बोलकर मरने को तरजीह दी। पिछले हफते की एक शाम बंगलूर में बेखौफ लेखनी ओर बेजुबान की मालिक कन्नड़ और अंग्रेजी भाषाओं की प्रसिद्ध पत्रकार गौरी लंकेश को उसके घर के बाहर ही गोलियां मारकर मार दिया गया। 55 वर्षीय गौरी, 'लंकेश पत्रिका ' सप्ताहिक की संपादक थी। वह गुजरात के दंगों के बारे में खोजी पत्रकार राणा अयूब द्वारा लिखित किताब गुजरात फाइलस को कन्नड़ भाषा में अनुवाद करने के बाद चर्चा में आई थी। वह कन्नड़ भाषा के साहित्यकार और र्निपक्ष पत्रकार लंकेश की बेटी थी। पिता की मौत के बाद विरासत को गौरी ने आगे बढ़ाया और वह भी पिता की तरह विद्रोही सुर वाली बेखौफ पत्रकार के तौर पर प्रसिद्ध हुई।

उसने सियासतदानों के खिलाफ जमकर मोर्चा लिया और भ्रष्ट नेताओं और अपराधी तत्वों को नंगा करने का बीड़ा उठा रखा था। शायद इसी कारण गौरी को सच की कीमत अदा करनी पड़ी और वह भी विद्वान नरेंद्र दाभोलकर, गोबिंद पंसारे और एमएम कुलबुरगी आदि की श्रेणी में आ गई।

आज पूरे देश में गौरी के कत्ल को लेकर सियासत शुरू हुई है। कांग्रेस, भारतीय जनता पार्टी, संघ परिवार समेत दूसरी सियासी पार्टियां एक-दूसरे के विरूद्ध बयानबाजी में मशगूल है। कही ज्ञापन देकर प्रदर्शन किए जा रहे है तो कही बुद्धिजीव और पत्रकार मोमबत्तियां जलाकर इंसाफ की दुहाई मांग रहे है। ऐसे में पंजाब एक गांव में किसान परिवार से संबंधित मूर्तिकार ने अपनी कल्पना और उंगलियों के माध्यम से गीली मिटटी को उकेरा और तैयार कर दी एक और गौरी लंकेश जो अब बोली या तब बोली बस देखकर यही लगता है कि वह सब बोली...।

- सुनीलराय कामरेड