BREAKING NEWS

ओमिक्रोन के खतरे के बीच DGCA का बड़ा फैसला, सभी कमर्शियल फ्लाइट्स पर 31 जनवरी तक बढ़ाया प्रतिबंध ◾ सभी रीति रिवाज के साथ तेजस्वी यादव ने रचाई शादी,जानें कौन-कौन हुआ शामिल◾किसानों की मांगें पूरी और आंदोलन वापस, सत्य की इस जीत में हम शहीद अन्नदाताओं को भी याद करते हैं : कांग्रेस◾पच्छिम बंगाल: कोलकाता HC से मिथुन चक्रवर्ती को मिली बड़ी राहत, जानें क्या है पूरा मामला◾ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की पत्नी कैरी ने बेटी को दिया जन्म◾किसान आंदोलन की समाप्ति पर बालियान ने जताई खुशी, कहा- चुनावों के लिए नहीं किसानों के लिए बदला फैसला ◾मल्लिकार्जुन खड़गे ने केंद्र पर लगाया आरोप- हमें CDS रावत को श्रद्धांजलि अर्पित करने का समय नहीं दिया गया◾केंद्र ने मानी हार, किसान आंदोलन की समाप्ति का हुआ ऐलान, 11 दिसंबर से अन्नदाताओं की होगी घर वापसी ◾केंद्र से किसानों को मिला लिखित दस्तावेज, सिंघु बॉर्डर से हटने लगे टेंट◾लालू के लाल आज होंगे घोड़ी पर सवार, तेजस्वी यादव के सिर पर सजेगा सेहरा, दिल्ली में होगी शादी ◾संविधान सभा की पहली बैठक के 75 वर्ष पूरे होने पर प्रधानमंत्री मोदी ने युवाओं से किया ये आग्रह ◾लोकसभा में विपक्ष ने उठाया नगालैंड जा रहे कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल को रोके जाने का मुद्दा, सरकार पर लगाया ये आरोप ◾दोनों सदनों ने दी CDS रावत को श्रद्धांजलि, साथ ही की देश की सुरक्षा में उनके अहम योगदाम की सराहना ◾दिल्ली : रोहिणी कोर्ट के रूम नंबर 102 में ब्लास्ट, जांच में जुटी पुलिस ◾CDS बिपिन रावत को विपक्ष की श्रंद्धाजलि, निलंबन के खिलाफ आज नहीं होगा धरना प्रदर्शन◾महाराष्ट्र: जन्मदिन पर मिला बड़ा तोहफा, ओमिक्रॉन का पहला मरीज हुआ निगेटिव, अस्पताल से मिली छुट्टी ◾आंदोलन को लेकर आगे की रणनीति पर तभी विचार होगा जब सरकार की तरफ से लिखित में कुछ आएगा : टिकैत◾कुन्नूर हादसा : रक्षा मंत्री ने दोनों सदनों में दिया घटना का ब्यौरा, कहा-तीनों सेना का एक दल कर रहा है जांच ◾Helicopter Crash: हादसे से कुछ सेकेंड पहले का Video, घने कोहरे के बीच दिखाई दिया Mi-17 हेलीकॉप्टर◾हेलीकॉप्टर क्रैश के सर्वाइवर वरुण सिंह की हालत गंभीर, डॉक्टरों ने नहीं दिया आश्वासन, अगले 48 घंटे नाजुक ◾

मोहाली बार्डर पर पक्का मोर्चा लगाकर संघर्ष कर रहे किसान नेताओं को पुलिस ने किया गिरफ्तार

लुधियाना-एस ए एस नगर  : गन्ने की फसल के बाकाया की अदायगी लेने की खातिर मोहाली- चंडीगढ़ बार्डर पर किसानों द्वारा लगाया गया धरना पुलिस ने ऊपरी आदेशों उपरांत कड़ा रूख अख्तियार करते हुए उठा दिया। इस दौरान धरने पर बैठे किसानों को गिरफ्तार करने के साथ-साथ उनके द्वारा लगाए गए शामियाना टैंटों और दरियों को भी जबरी समेट दिया गया। जिसके उपरांत 24 घंटे से बंद पड़ा मोहाली-चंडीगढ़ का रास्ता खोल दिया गया है। जिक्रयोग है कि पराली की समस्या और बाकाया की अदायगी को लेकर भारतीय किसान यूनियन राजेवाल और लखोवाल ग्रुप ने यहां पक्का मोर्चा शुरू किया था। यह भी पता चला है कि खरड़, समराला, लुधियाना और चंडीगढ़ समेत रोपड़ के आसपास के किसानों ने पूरी तैयारी की हुई थी।

किसान अपने साथ राशन और खाने के सामान को ट्रेक्टर-ट्रालियों में भरकर लाए हुए थे। परंतु सरकार से बात सिरे ना चढ़ते देख इन्होंने वही टेंट लगाने शुरू कर दिए। इस दौरान लंगर बनना भी शुरू हो गया। रात को किसान खुले आसमां के नीचे सो गए जबकि पुलिस को यातायात व्यवस्था सुचारू रूप से चलाने के लिए ट्रैफिक में बदलाव करना पड़ा। इस कारण कई लोग जाम में फंस गए। अधिक परेशानी स्कूली बच्चों और दफतर कार्यालय में जाने वाले लोगों को हो रही थी। जबकि किसान नेताओं ने ऐलान किया हुआ था कि जब तक किसानों के गन्ने के फसल की अदायगी 92 करोड़ रूपए जारी नहीं होती तब तक यह मोर्चा जारी रखा जांएगा।

फिलहाल पंजाब पुलिस की इस कार्यवाही के कारण किसान संगठन काफी रूष्ट नजर आएं। उनका कहना है कि अगली रणनीति के तहत इससे बड़ा संघर्ष करेंगे। जिक्रयोग है कि सोमवार भारतीय किसान यूनियन के प्रधान अजमेर सिंह लखोवाल की अगुवाई में 7 मजदूर किसान संगठनों के कार्यकर्ताओं ने 21 सितंबर को सीएम कैप्टन अमरेंद्र सिंह की पटियाला स्थित निजी आवास मोती महल का घेराव करने का ऐलान किया था। इसी संबंध में कूच करना था परंतु चंडीगढ़ पुलिस ने उन्हें मोहाली-चंडीगढ़ बॉर्डर पर बेरीकेड करके रोक लगा दी, जिसके बाद किसान वही धरने पर डटे हुए थे।

- सुनीलराय कामरेड