BREAKING NEWS

World Corona : दुनिया में महामारी का प्रकोप बरकरार, पॉजिटिव मामलों का आंकड़ा 58 लाख के पार◾देश में कोरोना से संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 66 हजार के करीब, अब तक 4706 लोगों ने गंवाई जान ◾चीन के साथ सीमा विवाद को लेकर ‘अच्छे मूड’ में नहीं हैं PM मोदी : डोनाल्ड ट्रम्प◾लॉकडाउन 5.0 पर गृह मंत्री अमित शाह ने सभी मुख्यमंत्रियों से की बात, मांगे सुझाव ◾दिल्ली में कोरोना ने तोड़ा रिकॉर्ड, 24 घंटे में 1024 नए मामले, संक्रमितों संख्या 16 हजार के पार◾सीताराम येचुरी ने मोदी सरकार पर साधा, कहा- रेलगाड़ियों का रास्ता भटकना सरकार के अच्छे दिन का ‘जादू’ ◾ट्रंप की पेशकश पर भारत ने कहा- मध्यस्थता की जरूरत नहीं, सीमा विवाद के समाधान के लिए चीन से चल रही है बातचीत◾अलग जगहों पर रखे जाएं विदेशी जमाती, दिल्ली HC ने कहा- खुद उठाएंगे अपना खर्चा◾कोविड-19 की वैक्सीन बनाने में जुटे देश के 30 ग्रुप : पीएसए राघवन◾मोदी सरकार के खिलाफ कांग्रेस ने ऑनलाइन आंदोलन किया, केंद्र से गरीबों की मदद की मांग की◾SC का केंद्र और राज्य सरकारों को निर्देश, तत्काल श्रमिकों के भोजन और ठहरने की करें नि:शुल्क व्यवस्था◾महाराष्ट्र में कोरोना की चपेट में 2000 से अधिक पुलिसकर्मी, महामारी से अब तक 22 की मौत◾कोरोना संकट से जूझ रही महाराष्ट्र की सरकार को गिराने की कोशिश कर रही है BJP : प्रियंका गांधी ◾पुलवामा जैसे हमले को अंजाम देने की फिराक में आतंकी, IG ने बताया किस तरह नाकाम हुई साजिश◾दिल्ली-गाजियाबाद बार्डर पर फिर लगी वाहनों की लाइनें, भीड़ में 'पास-धारक' भी बहा रहे पसीना ◾राहुल गांधी की मांग- देश को कर्ज नहीं बल्कि वित्तीय मदद की जरूरत, गरीबों के खाते में पैसे डाले सरकार◾RBI बॉन्ड को वापस लेना नागरिकों के लिए झटका, जनता केंद्र से तत्काल बहाल करने की करें मांग : चिदंबरम◾‘स्पीकअप इंडिया’ अभियान में बोलीं सोनिया- संकट के इस समय में केंद्र को गरीबों के दर्द का अहसास नहीं◾पुलवामा में हमले की बड़ी साजिश को सुरक्षाबलों ने किया नाकाम, विस्फोटक से लदी गाड़ी लेकर जा रहे थे आतंकी◾दुनिया में कोरोना से संक्रमितों का आंकड़ा 57 लाख के करीब, अब तक 3 लाख 55 हजार से अधिक की मौत ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

आतंकी दया सिंह लाहौरिया ने पैतृक घर की लांघी दहलीज, नम आंखों से दीवारों को छू-कर पूछा हालचाल

लुधियाना-मालेरकोटला : पिछले कई दशकों से अलग-अलग जेलों की काल कोठरियों में बंद रहे आतंकी दया सिंह लाहौरिया को आखिर 3 दशकों के बाद तिहाड़ की सलाखों के पीछे से पेरोल मिलने के बाद आजाद कर दिया गया। आज सुबह-सवेरे वह जिला संगरूर के गांव कस्बा भुराल में अपने पैतृक घर पहुंचे, जहां घर की दहलीज फांदते ही नम हो रही आंखों को पोछते हुए एक पल के लिए वह ठिठके फिर दबे कदमों से उस दीवार की तरफ बढ़े जिसकी छत्र-छाया में उन्होंने अपनी मां के संग जीवन बिताया था।

 

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक दया सिंह लाहौरिया ने घर के बने कमरों और खाली पड़ी जमीन को देखते हुए पुरानी   मिटटी की दीवार को छुआ, ऐसे लगा जैसे वह दीवारों से बीते कल का हालचाल पूछ रहे है और फिर वह अपने संगे-संबंधियों से मिलने कमरे में चले गए। उल्लेखनीय है कि सितंबर 2016 में दया सिंह लाहौरिया को उनकी बुजुर्ग माता जिसकी आयु 85-90 वर्ष बताई जा रही थी, के देहांत पर अंङ्क्षतम संस्कार में शामिल होने के लिए एक दिन की पेरोल मिली थी, लेकिन सुरक्षा कारणों के मध्यनजर भाई लाहौरियां को पुलिस ने पैतृक घर में दाखिल नहीं होने दिया था। 

किंतु इस बार भाई लाहौरियां को अमेरिका में रहने वाले उनके पुत्र सुरिंद्र सिंह संधू के शादी समारोह में शामिल होने के लिए बीते कल 20 दिन की पेरोल मिली है। पेरोल मिलने के बाद आज सुबह ही वह 8 बजे के करीब दिल्ली से कस्बां संदोड़ के नजदीक पड़ते अपने पैतृक गांव भुराला में पहुंचे। 25 सालों से विभिन्न केसों के कारण जेल की सलाखों में बंद दया सिंह लाहौरिया की रिहाई को लेकर उनके गांव के पुराने बुजुर्ग काफी खुश दिखाई दिए।  इसी बीच दया सिंह लाहौरिया ने करीब 25 साल बाद अपने पुत्र के गले मिलकर बेहद भावुक दिखे। 

भाई लाहौरिया जिनको सितंबर 1997 में उनकी धर्म पत्नी कमलजीत कौर के साथ अमेरिका से भारत लाया गया था तो उस वक्त उनके पुत्र सुरिंद्र सिंह संधू की आयु करीब 7 साल 5 माह की थी। दया सिंह लाहौरिया की पत्नी सरदारनी कमलजीत कौर ने बातचीत करते कहा कि भाई साहिब ने समस्त सेवा अपने कौम के लिए की है और वाहेगुरू ने उसी के चलते आज एक बार फिर इसी बरामदे में खुशियों के रंग खिले है, इसके लिए करोड़ों बार वाहेगुरू जी का शुक्राना है।  हालांकि इस दौरान आसपास के दर्जनों गांवों के सिख नौजवान उन्हें छूने को उतावले दिखे। यह भी पता चला है कि एक दिन पहले उनके घर श्री अखंड पाठ साहिब का पाठ आरंभ हुआ है, जिसका भोग वीरवार को होगा।

स्मरण रहे कि दया सिंह लाहोरिया की आतंकवादियों गतिविधियों में हिस्सा लेने के आरोपों के तहत काफी नाम था। लुधियाना और मालेरकोटला के इलाकों में दहशतगर्दी का दूसरा प्रयाय भाई लाहौरिया माने जाते थे। पत्रकारों ने अलगअलग समूहों में जाकर उनसे मुलाकात करने की कोशिश की तो उन्होंने कैमरों के सामने कुछ भी बोलने से स्पष्ट इंकार कर दिया। सुरक्षा के मध्यनजर उनके घर के बाहर सादी पुलिस मुलाजिम तैनात है और सीआईडी से संबंधित कई सरकारी मुलाजिम भी दिखाई दिए।  

14 फरवरी को उनके पुत्र सुरिंद्र सिंह संधू की शादी का कार्यक्रम है। हालांकि इस दौरान कई सिख सिख आगु भी भाई लाहोरिया को उनके घर जाकर मिले और उनके बेटे को आर्शीवाद दिया।  बहरहाल समय की रफतार के साथ लाहोरिया के प्रागंण की दीवारें और छते बदल चुकी है और वह बीते दिनों को अकेले चुपचाप जी  लेना चाहते है।

- सुनीलराय कामरेड