लुधियाना-अमृतसर : स्टेट स्पेशल ऑपरेशन सेल के अधिकारियों ने गुरू की नगरी अमृतसर से 3 सिख युवकों को हथियारों समेत गिरफतार किया है। इस गिरफतारी के उपरांत पंजाब में एक बड़े षडय़ंत्र का पर्दा फाश हुआ है, फिलहाल पुलिस ने गिरफतार किए गए कटटर विचारधारा के इन युवकों को अदालत में पेश करके 18 मार्च तक का पुलिस रिमांड हासिल किया है।

पुलिस के मुताबिक , दबोचे गए इन युवकों से 2 पिस्तौल, 3 मैगजीन और 14 जिंदा कारतूस बरामद हुए है। सूत्रों के मुताबिक तीनों के निशाने पर वे लोग थे, जिन्होंने पिछले सालों के दौरान श्री गुरू ग्रंथ साहिब जी की बेअदबी की घटनाओं को अंजाम दिया था।

ओडिशा : चुनाव से पहले कांग्रेस को झटका, विधायक प्रकाश चंद्र बेहरा भाजपा में शामिल

एसएसओसी के अधिकारियों को सूचना मिली थी कि अजनाला के फतेहगढ़ चूडिय़ां रोड स्थित गांव श्री हरगोबिंद साहिब निवासी बलजीत सिंह, फिरोजपुर के फतेहगढ़ सभरां स्थित जीरा इलाके में रहने वाला जगदेव सिंह और खलचियां के जादूनंगल गांव निवासी मंजीत सिंह पंजाब में बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में हैं।

इस पर पुलिस ने दोपहर छापामारी कर तीनों को हथियारों सहित धर लिया। आरोपितों ने उक्त हथियारों को मध्य प्रदेश के इंदौर जिले से किसी सप्लायर से खरीदा था। पूछताछ में सामने आया कि तीनों सोशल मीडिया के जरिए एक-दूसरे के संपर्क में आए। अब वे जानकारियां एकत्र कर रहे थे कि पंजाब में किन स्थानों पर बेअदबी की घटनाएं हो चुकी हैं और उनके पीछे जिम्मेदार कौन-कौन लोग हैं।

– सुनीलराय कामरेड