BREAKING NEWS

केजरीवाल आज करेंगे पंजाब में ‘आप’ के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार की घोषणा◾गणतंत्र दिवस झांकी विवाद : ममता के बाद स्टालिन ने PM मोदी का लिखा पत्र ◾भारत वर्तमान ही नहीं बल्कि अगले 25 वर्षों के लक्ष्य को लेकर नीतियां बना रहा है : PM मोदी ◾उद्योग जगत ने WEF में PM मोदी के संबोधन का किया स्वागत ◾ कोरोना से निपटने के योगी सरकार के तरीके को लोग याद रखेंगे और भाजपा के खिलाफ वोट डालेंगे : ओवैसी◾गाजीपुर मंडी में मिले IED प्लांट करने की जिम्मेदारी आतंकी संगठन MGH ने ली◾दिल्ली में कोविड-19 के मामले कम हुए, वीकेंड कर्फ्यू काम कर रहा है: सत्येंद्र जैन◾कोविड-19 से उबरने का एकमात्र रास्ता संयुक्त प्रयास, एक दूसरे को पछाड़ने से प्रयासों में होगी देरी : चीनी राष्ट्रपति ◾ ओवैसी की पार्टी AIMIM ने जारी की उम्मीदवारों की दूसरी सूची, 8 सीटों पर किया ऐलान◾दिल्ली में कोरोना का ग्राफ तेजी से नीचे आया, 24 घंटे में 12527 नए केस के साथ 24 मौतें हुई◾अखिलेश के ‘अन्न संकल्प’ पर स्वतंत्र देव का पलटवार, ‘गन’ से डराने वाले किसान हितैषी बनने का कर रहे ढोंग ◾12-14 आयु वर्ग के बच्चों के लिए फरवरी अंत तक हो सकती है टीकाकरण की शुरुआत :NTAGI प्रमुख ◾ अबू धाबी में एयरपोर्ट के पास ड्रोन से अटैक, यमन के हूती विद्रोहियों ने UAE में हमले की ली जिम्मेदारी ◾कोरोना संकट के बीच देश की पहली एमआरएनए आधारित वैक्सीन, खास तौर पर Omicron के लिए कारगर◾CM चन्नी के भाई को टिकट न देने से सिद्ध होता है कि कांग्रेस ने दलित वोटों के लिए उनका इस्तेमाल किया : राघव चड्ढा◾उत्तराखंड : हरीश रावत बोले-हरक सिंह मांग लें माफी तो कांग्रेस में उनका स्वागत◾इस साल 75वें गणतंत्र दिवस के मौके पर राजपथ पर 75 एयरक्राफ्ट उड़ान भरेंगे,आसमान से दिखेगी भारत की ताकत◾पंजाब : AAP की ओर से मुख्यमंत्री पद के लिए उम्मीदवार की घोषणा कल करेंगे केजरीवाल◾सम्राट अशोक की तुलना मामले ने बढ़ाई BJP-JDU में तकरार, जायसवाल ने पढ़ाया मर्यादा का पाठ◾पीएम की सुरक्षा में चूक की जांच कर रहीं जस्टिस इंदु मल्होत्रा को मिली खालिस्तानियों की धमकी◾

अश्रुपूर्ण नेत्रों से पंजाब के कलाकारों और चाहनेवालों ने सफल गायक साबरकोटी को दी अंतिम विदाई

लुधियाना : ‘ओह-मौसम वागूं बदल गए जी, असीं रूक्खां वागूं खड़े रहे.. ’ पंजाबी के इस बेहद मकबूल हुए गीत को रिलीज हुए 20 साल गुजर चुके है परंतु यह आज भी पंजाबी भाषा को शिददत से चाहने वाले भूले नहीं। सुफियाना गायकी को आम इंसानों के दिलों तक पहुंचाने वाले मशहूर पंजाबी गायक 48 वर्षीय साबरकोटी शुक्रवार की दोपहर जिला कपूरथला के पैतृक गांव कोटकरार खां में सजल नेत्रों से सुपुर्दे खाक करके दफना दिए गए। उनके अंतिम दर्शनों हेतु भारी मात्रा में भीड़ उमड़ी हुई थी।

इस अवसर पर उन्हें श्रद्धांजलि देने हुत पंजाब की इंडस्ट्री की महान हस्तियां पहुंची हुई थी। जबकि उसके पारिवारिक सदस्यों और चाहने वालों का रो-रोकर बुरा हाल था। पंजाब की संगीत इंडस्ट्री को एक सफल मुकाम तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाने वाले सूफी गायक सुच्चा सिंह साबरकोटी का वीरवार को जालंधर के एक निजी अस्पताल में लंबी बीमारी के दौरान देहांत हो गया।

जानकारी के मुताबिक बुलंद आवाज के मालिक और उदास गानों के लिए जाने वाले साबरकोटी ने 1996 में संगीत का सफर शुरू किया था। और साबरकोटी ने कुछ दिन पहले ही 20 जनवरी को अपना 48वां जन्मदिन मनाया था, वह जालंधर कैंट के दीप नगर में अपनी पत्नी रीटा और 4 बच्चों के संग रह रहे थे। साबरकोटी के देहांत की खबर सुनते ही उनके चाहने वाले, रिश्तेदार उनके अंतिम संस्कार के लिए आज गांव कोटकरार खां में पहुंचे हुए थे। इस अवसर पर उस्ताद पूर्ण शाह कोटी, उनके साहिबजादे मास्टर सलीम, दलविंद्र दयाल पुरी, बूटा मोहम्मद और युवराज हंस के अलावा बड़ी संख्या में लोग शोक प्रकट करने हेतु उनके घर पहुंचे।

पंजाब की गायकी को अहम अंजाम तक पहुंचाने वाले लोगों का कहना था कि साबरकोटी बेइंतहा गरीबी में कड़े मेहनत करके लाखों संगीत प्रेमियों के दिलों में जगह बनाई थी। साबरकोटी ने गायकी के उच्च मानदंडों से कभी समझौता नहीं किया। उधर पंजाब के राजगायक हंसराज हंस ने भी साबरकोटी को याद करते हुए बताया कि साबरकोटी उनकी संगीत टोली का कभी हिस्सा था। उनके मुताबिक वह उन्हें उस्ताद पूर्णशाह कोटी के पास ले गए थे और इसके बाद वह उसके गुरू भाई बन गए।

हंसराज हंस के मुताबिक ऐसा सुरीला फनकार बहुत कम पैदा होता है। उन्होंने अफसोस प्रकट करते हुए कहा कि बीमारी पता होने के बावजूद हम उसे नहीं बचा पाएं। जबकि मास्टर सलीम ने अश्रुपूर्ण नेत्रों को पोछते हुए कहा कि मेरा वडा वीर इसी उम्र में सानु छड जावेंगा, सोचा नहीं था। पंजाबी इंडस्ट्री को ना पूर्ण होने वाली कमी है और उनका कोई तोड़ नहीं था।

- सुनीलराय कामरेड

देश की हर छोटी-बड़ी खबर जानने के लिए पढ़े पंजाब केसरी अख़बार।