BREAKING NEWS

भारत के टीकाकरण कार्यक्रम ने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में काफी ताकत दी : PM मोदी ◾BJP ने उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री हरक सिंह को पार्टी से किया निष्कासित, कांग्रेस में हो सकते हैं शामिल◾Covid -19 को लेकर WHO ने किया बड़ा खुलासा - कोरोना वायरस पूरी तरह से समाप्त नहीं होगा◾महाराष्ट्र कोरोना : बीते 24 घंटों में आए 41 हजार से ज्यादा नए मामले, शहर में मिली थोड़ी रहत ◾PM मोदी के नेतृत्व की वजह से 157 करोड़ टीके लगाने वाला पहला देश बना भारत - पूनियां◾ जम्मू-कश्मीर : आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर किया ग्रेनेड से हमला, पुलिसकर्मी और आम नागरिक घायल ◾अमित शाह उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर एक बार फिर से करेंगे मैराथन दौरा◾ मुंबई 1993 ब्लास्ट के आरोपी सलीम गाजी की कराची में हुई मौत, डॉन छोटा शकील का रहा करीबी ◾राजस्थान सरकार का अलवर सामूहिक दुष्कर्म की जांच CBI को सौंपने का निर्णय, हाई लेवल मीटिंग में लिया गया फैसला◾ उत्तर प्रदेश चुनाव के लिए आप ने जारी की 150 उम्मीदवारों की सूची, जानें किसे मिला टिकट◾निषाद पार्टी एक बार फिर BJP के साथ मिलकर लड़ेगी चुनाव, जानिए कितनी सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेगी nishad ◾केंद्र के पश्चिम बंगाल की झांकी को बाहर करने के फैसले पर ममता ने जताई नाराज़गी, PM मोदी को लिखा पत्र◾कोरोना के कारण डिजिटल हुई प्रचार की लड़ाई, सभी पार्टियों के ‘वॉर रूम’ में जारी जंग, BJP ने बनाई बढ़त ◾धर्म संसद: गिरफ्तारी के बाद भी खाना नहीं खा रहे यति नरसिंहानंद, केवल 'रस आहार' पर अड़े◾हस्तिनापुर से चुनावी रण में उतरने को तैयार मॉडल अर्चना, आत्मविश्वास से परिपूर्ण, कहा- भयभीत नहीं, आगे बढ़ूंगी ◾केजरीवाल ने उत्पल को अपनी पार्टी में शामिल होने का दिया न्योता, AAP के इस दांव से क्या BJP हो सकती है चित◾समाजवादी पार्टी की उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के लिए 30 उम्मीदवारों की सूची जारी ◾आगामी विधानसभा चुनावों में समाजवादी पार्टी ने अपराधियों और दंगाइयों को टिकट दिए : CM योगी ◾सिद्धू के साथ जारी सियासी उठापठक के बीच CM चन्नी के भाई बगावत पर उतरे, जानें क्यों खफा हुए मुख्यमंत्री के भाई ◾भाजपा गुजरात से लोगों को बुलाकर अफवाह, झूठ, साजिश और नफरत फैलाने का प्रशिक्षण दे रही है : अखिलेश ◾

अकालियों द्वारा रखवाएं गए श्री अखंड पाठ साहिब का पड़ा भोग, बादलों ने हाथ जोडक़र संगत से मांगी माफी

लुधियाना-अमृतसर : श्री हरिमंदिर साहिब के श्री अकाल तख्त साहिब पर समस्त अकाली दल लीडरशिप द्वारा करवाएं गए श्री अखंड पाठ साहिब का भोग डाला गया। इस पश्चात शिरोमणि अकाली दल के मुख्य संरक्षक और पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश ङ्क्षसह बादल ने मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान हुई गलतियों की अकाल पूरख से क्षमा याचना की है। उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान हुई गलतियों का कोई भी ब्यौरा नहीं दिया। इस दौरान वह हाथ जोडक़र सिख समाज से माफी मांगते दिखे। श्री अखंड पाठ साहिब क े भोग के दौरान शिरेामणि अकाली दल के अध्यक्ष और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल अन्य दिगगज अकाली नेताओं के साथ उपस्थित थे किंतु मीडिया से उन्होंने भी दूरी बनाए रखी।

शिरोमणि अकाली दल की ओर से अपनी सत्ता के दस वर्षों के दौरान हुई गलतियों की माफी मांगने के जिए रखे गए श्री अखंड पाठ साहिब के भोग की अरदास में शामिल होने के बाद पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिह बादल ने श्री अकाल तख्त साहिब से बाहर आकर कहा कि वह पार्टी नेताओं और वर्करों के साथ वाहे गुरु के समक्ष जाने अनजाने में हुई अपनी गलतियों की माफी मांगने के लिए आए है। वाहे गुरु हमेशा गलतियों को माफ करता है वह हमारी गलतियों को भी माफ करेगे। आज वह कोई भी राजनीति बात नहीं करेंगे। राजनीतिक बातों को जवाब देने के जिए सारे उम्र पड़ी है। आज सिर्फ और सिर्फ वह वाहे गुरु और संगत से माफी मांगने के लिए आए है।

12 दिसम्बर को विधु के इंसाफ के लिए भाजपा मुख्य कार्यालय तक विशाल रोष मार्च निकलेगा संगठन

बादल ने इस दौरान कहा कि उनकी गलतियों को वाहेगुरु जानता है वह कोई लिस्ट देने वाहे गुरु को नहीं आए है। इस से पहले श्री अकाल तख्त साहिब के पास ही स्थित गुरुद्वारा बाबा गुरबख्श सिंह में अपनी गलतियों की मांफी के लिए शनिवार को रखवाए अखंड पाठ साहिब के भोग कार्यक्रम में प्रकाश सिंह बादल, सुखबीर सिंह बादल, हरसिमरत कौर बादल समेत सभी अकाली नेताओं और वर्करों ने हिस्सा लेते हुए हाजिरी भरी। माफी के लिए भाई सुलतान सिंह की ओर से की गई अरदास में कहा गया कि शिरोमणि अकाली दल , पार्टी के संयोजक प्रकाश सिंह बादल , अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल और सारे वर्कर अपनी गलतियों की क्षमा मांगते है। जब अंदर अरदास कार्यक्रम चल रहा था तब श्री अकाल त त साहिब के बाहर सिख सद्दभावना दल के कार्यकार्ता प्रकाश सिंह बादल से फखर—ए—कौम का खिलाफ वापिस लेने की मांग करते हुए वाहेगुरु का जाप कर रहे थे।

अखंड पाठ साहिब का भोग डाले जाने के बाद यहां अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर ने बादल , केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल और बिक्रम सिंह मजीठिया ने मीडिया से दूरी बनाए रखी व मीडिया से कोई बात किए बिना ही चले गए। वहीं प्रकाश सिंह बादल ने श्री हरिमंदिर साहिब में माथा टेकने के बाद हरिमंदिर साहिब के सूचना केंद्र में मीडिया के साथ बातचीत करते हुए कहा कि वह अकाली दल के सभी नेताओं और वर्करों के साथ अपनी गलतियों की माफी मांगने आए है वह यह गलतियों की कोई लिस्ट नहीं बताएंगे कि गलतियां क्या है परंतु वाहेगुरु सब कुछ जानता है क्या गलतियां है। वाहेगुरू उनक गलतियों को माफ करेगा। इस की माफी वह संगत और मीडिया से भी मांगते है। आज वह कोई भी राजनीतिक बात नहीं करेंगे।

एसजीपीसी की ओर से हजूरी रागी, पांच प्यारों और हरिमंदिर साहिब में उनको प्रसाद न दिए जाने वाले कर्मचारी को निकाले के सवाल पर बादल ने कहा कि इस का जवाब सिर्फ शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष ही दे सकते है। बरगाड़ी मुद्दे पर कुछ भी बोलने से प्रकाश सिह बादल ने पूरी तरह इंकार कर दिया। कहा कि इस मुद्दे पर वह कुछ भी नहीं बोलेंगे। बार बार मीडिया की ओर से पूछे गए अलग अलग प्रश्नों पर प्रकाश सिंह बादल ने कोई जवाब देने की जगह सभी के समक्ष हाथ जोड़ कर कहा कि वह सिर्फ माफी मांगे के लिए आए है। राजनीतिक सवालों का जवाब वह फिर किसी समय देंगे।

प्रकाश सिंह बादल ने एक सवाल के जवाब में कहा कि उनके साथी टकसाली अकाली जो पार्टी छोड़ कर नया अकाली दल बनाने जा रहे है आज भी उनके लिए पार्टी के दरवाजे खुले है वह हाथ जोड़ कर उनको अपील करते है कि वह वापिस अकाली दल में आ जाए। अकाली दल सब की सांझी पार्टी है पार्टी किसी एक व्यक्ति की नही है। इस के लिए वर्करों और नेताओं ने बड़ी कुर्बानियां दी है।

- सुनीलराय कामरेड