BREAKING NEWS

4 दिसंबर को होगी SKM की अहम बैठक, रणनीति को लेकर होगी बड़ी घोषणा, टिकैत बोले- आंदोलन रहेगा जारी ◾मप्र में शिवराज सरकार के लिए मुसीबत का सबब बने भाजपा के नेताओं के विवादित बयान ◾निलंबन के खिलाफ महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने विपक्ष का प्रदर्शन, राहुल समेत कई नेता हुए शामिल ◾EWS वर्ग की आय सीमा मापदंड पर केंद्र करेगी पुनर्विचार, SC की फटकार के बाद किया समिति का गठन ◾Today's Corona Update : एक दिन में 8 हजार से ज्यादा नए मामले, 1 लाख से कम हुए एक्टिव केस◾जम्मू-कश्मीर : पुलवामा मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद के शीर्ष कमांडर समेत 2 आतंकी ढेर◾Winter Session: लोकसभा में आज 'ओमिक्रॉन' पर हो सकती है चर्चा, सदन में कई बिल पेश होने की संभावना ◾महंगाई : महीने की शुरुआत में कॉमर्श‍ियल सिलेंडर की कीमतों में हुआ इजाफा, रेस्टोरेंट का खाना हो सकता है मंहगा◾UPTET 2021 पेपर लीक मामले में परीक्षा नियामक प्राधिकारी संजय उपाध्याय गिरफ्तार◾कोरोना के नए वेरिएंट के बीच भारतीय एयरलाइन कंपनियों ने दोगुनी की कीमतें, जानिए कितना देना होगा किराया ◾IPL नीलामी से पहले कोहली, रोहित, धोनी रिटेन ; दिल्ली की कमान संभालेंगे ऋषभ पंत, पढ़ें रिटेंशन की पूरी लिस्ट ◾गृह मंत्री अमित शाह दो दिन के राजस्थान दौरे पर जाएंगे, BSF जवानों की करेंगे हौसला अफजाई◾पंजाबः AAP नेता चड्ढा ने सभी राजनीतिक दलों पर लगाया आरोप, कहा- विधानसभा चुनाव में केजरीवाल बनाम सभी पार्टी होगा◾'ओमिक्रॉन' के बढ़ते खतरे के बीच क्या भारत में लगेगी बूस्टर डोज! सरकार ने दिया ये जवाब ◾2021 में पेट्रोल-डीजल से मिलने वाला उत्पाद शुल्क कलेक्शन हुआ दोगुना, सरकार ने राज्यसभा में दी जानकारी ◾केंद्र सरकार ने MSP समेत दूसरे मुद्दों पर बातचीत के लिए SKM से मांगे प्रतिनिधियों के 5 नाम◾क्या कमर तोड़ महंगाई से अब मिलेगाी निजात? दूसरी तिमाही में 8.4% रही GDP ग्रोथ ◾उमर अब्दुल्ला का BJP पर आरोप, बोले- सरकार ने NC की कमजोरी का फायदा उठाकर J&K से धारा 370 हटाई◾LAC पर तैनात किए गए 4 इजरायली हेरॉन ड्रोन, अब चीन की हर हरकत पर होगी भारतीय सेना की नजर ◾Omicron वेरिएंट को लेकर दिल्ली सरकार हुई सतर्क, सीएम केजरीवाल ने बताई कितनी है तैयारी◾

राजस्थान: CM गहलोत ने मंत्रियों को बांटे विभाग, पायलट गुट के चहेतों को दिए गए ये मंत्रालय

राजस्थान की गहलोत सरकार में काफी उथल-पुथल के बाद गुटबाजी समाप्त हुई और इस मसले पर कांग्रेस आलाकमान ने भी राहत की सांस ली। तो अब रविवार को शपथ लेने वाले मंत्रियों के विभागों का बंटवारा हो गया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने होम, फाइनेंस व आईटी एंड कम्यूनिकेशन समेत कई मंत्रालय अपने पास रखे हैं।  

सचिन पायलट समर्थकों को मिले ये मंत्रालय  

विभागों के बंटवारे में सचिन पायलट गुट से मंत्री बने विधायकों का भी भी खास ख्याल रखा गया है। इसमें हेमाराम चौधरी को फॉरेस्ट, एन्वॉयर्नमेंट एंड क्लाइसमेट चेंज मिनिस्ट्री दी गई है। वहीं रमेश मीणा को पंचायती राज और ग्रामीण विकास मंत्रालय दिया गया है। विश्वेंद्र सिंह के हिस्से पर्यटन और सिविल एविएशन मिनिस्ट्री आई है। बृजेंद्र ओला को परिवहन एवं सड़क सुरक्षा (स्वतंत्र प्रभार), मुरारीलाल मीणा को एग्रीकल्चर मार्केटिंग, स्टेट (स्वतंत्र प्रभार) की जिम्मेदारी मिली है। 

कई दिग्गज नेताओं पर जताया गया भरोसा, नहीं बदले विभाग  

वहीं, नगरीय विकास शांति धारीवाल के पास ही रहेगा। कई पुराने मंत्रियों के विभागों को भी नहीं बदला गया है। इनमें ममता भूपेश, प्रमोद जैन भाया आदि को यथावत रखा गया है। नए शिक्षा एवं कला एवं संस्कृति मंत्री डॉ.बीडी कल्ला होंगे। जबकि चिकित्सा विभाग परसादी लाल मीणा को सौंपा गया है। 

डॉ. महेश जोशी जलदाय के मंत्री होंगे जबकि प्रताप सिंह खाचरियावास के पास से परिवहन लेकर खाद्य मंत्रालय दिया गया है। रामलाल जाट को राजस्व मंत्रालय दिया गया है। टीकाराम जूली को सामाजिक न्याय, गोविंदराम आपदा एवं प्रबंधन, महेन्द्रजीत सिंह मालवीय को सिंचाई, शकुन्तला रावत को उद्योग दिया गया है।  

इन मंत्रियों को मिला ये मंत्रालय  

इसी तरह राजेन्द्र गुढ़ा को उच्च शिक्षा, भंवर सिंह भाटी को ऊर्जा (स्वतंत्र प्रभार),  राजेंद्र सिंह यादव को गृह राज्य मंत्री, सुभाष गर्ग को तकनीकी शिक्षा, आयुर्वेद (स्वतंत्र प्रभार),  सुखराम विश्नोई  को श्रम (स्वतंत्र प्रभार) एवं  राजेंद्र सिंह गुढ़ा को सैनिक कल्याण, होम गार्ड एंड सिविल डिफेंस (स्वतंत्र प्रभार) की जिम्मेदारी दी गई है।  

असंतोष के स्वर अब भी बरकरार, लगाई प्रियंका गांधी वाड्रा से गुहार  

राजनीतिक हलकानों में चल रही खबरों के अनुसार,  इस बदलाव में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा का प्रभाव नजर आया। हालांकि असंतोष के स्वर अब भी बरकरार हैं। कई विधायकों ने मंत्री नहीं बनाए जाने पर नाराजगी जताई है। बसपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल होने वाले पांच विधायकों ने भी सत्ता में भागीदारी नहीं मिलने पर नाराजगी जताई है। हालांकि इन विधायकों को मनाने की कोशिश शुरू हो गई है।

शिवसेना का NCB पर हमला, कहा- युवाओं से वसूली करने वाले अधिकारियों को गिरफ्तार किया जाना चाहिए