प्रदेश में वायु प्रदूषण की समस्या को देखते हुए आज वन्यजीव एवं पर्यावरण संरक्षण संस्था पीपुल फॉर एनीमल्स (पीएफए) के राजस्थान प्रभारी बाबूलाल जाजू ने राज्य में वायु प्रदूषण की स्थिति दिल्ली से कम नहीं बताते हुए मांग की है कि सरकार को उच्चस्तरीय जांच कर प्रदूषण नियंत्रण के उपाय के लिए सख्त कदम उठाये जाने चाहिए।

पर्यावरणविद, बाबूलाल जाजू ने आज यहां बयान जारी कर कहा कि प्रदेश में प्रदूषण नियंत्रण मण्डल एवं सरकार की लापरवाही के कारण वायु प्रदूषण की स्थिति दिल्ली से कम खतरनाक नहीं है, जिससे लोगों में अस्थमा, कैंसर एवं चर्म रोग तथा अन्य कई रोग बढ़ रहे हैं, जिससे देश में प्रतिवर्ष करीब पच्चीस लाख लोगों की अकाल मृत्यु हो जाती है, साथ ही गौरेया, किंगफिशर, अनेक प्रजाति की चिड़यां एवं तितलियां सहित कई जीव जन्तु प्रदूषण की भेंट चढ़ रही है।

उन्होंने कहा कि वाहनों की समय समय पर जांच नहीं होने से हवा में प्रदूषण का जहर फैल रहा हैं। उन्होंने कहा कि सड़कों पर समय पर सफाई नहीं होने, शहरों में कचरा, मेडिकल वेस्ट जलाने, औद्योगिक इकाईयां एवं ईंट भट्टों का जहरीला धुंआ, पॉलिथिन एवं जंगलों की कटाई से प्रदूषण की स्थिति गंभीर होती जा रही है।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार को वायु प्रदूषण की शीघ, उच्च स्तरीय जांच कर प्रदूषण नियंत्रण के उपाय करने चाहिए।