झालावाड़ : भाजपा के हाथ से राजस्थान फिसलने के चुनाव पूर्व अनुमानों को खारिज करते हुए मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के बेटे और झालावाड़ के सांसद दुष्यंत सिंह ने कहा है कि उनकी सरकार का विकास कार्य बोलेगा और राज्य में सत्ता में काबिज रहने के लिए आवश्यक 100 सीटों के आंकड़े को पार करने में सहायक होगा। सिंह ने कहा कि राजस्थान में जीत के साथ भाजपा सभी चुनाव विश्लेषकों और तथाकथित मीडिया घरानों को यह मजबूत संदेश देगी कि पार्टी केवल विधानसभा चुनाव ही नहीं बल्कि आम चुनाव में भी विजेता बनकर उभरेगी।

पीटीआई-भाषा को यहां दिए साक्षात्कार में सिंह ने कहा, ‘‘ राजस्थान के सभी हिस्सों में विकास कार्य हो रहे हैं। हमारा विकास का काम बोलेगा और हमारे प्रधानमंत्री, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह साहब और हमारी मुख्यमंत्री के नेतृत्व में जनादेश दिलाने में सहायक होगा। ’’ राजस्थान में सत्ता विरोधी लहर की अटकलों के बारे में उन्होंने कहा, ‘‘2013 से 2018 तक, बीते पांच वर्ष में हमने बहुत मेहनत की है…हमने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के नेतृत्व में काम किया तो हम केवल एक ही जिले में नहीं बल्कि राज्य के सभी 33 जिलों में काम कर पाए।’’

राजस्थान की 200 विधानसभा सीटों में से 199 सीटों पर सात दिसंबर को चुनाव होने हैं। मतगणना 11 दिसंबर को होगी। पिछले विधानसभा चुनाव (2013) में भाजपा ने रिकॉर्ड 163 सीटें जीती थीं जबकि कांग्रेस को महज 21 सीटें ही प्राप्त हुई थीं। सिंह ने ऐसे ओपिनियन पोल को नकार दिया जिसमें भाजपा के मुकाबले कांग्रेस को बढ़त दिखाई गई है।