BREAKING NEWS

करनाल से बीजेपी के पूर्व सांसद अश्विनी कुमार चोपड़ा के निधन पर राजनाथ सिंह समेत इन नेताओं ने जताया शोक ◾अश्विनी कुमार की लेगब्रेक गेंदबाजी के दीवाने थे टॉप क्रिकेटर◾खामोश हो गई वरिष्ठ पत्रकार अश्वनी कुमार चोपड़ा जी की आवाज, कल होगा अंतिम संस्कार◾PM मोदी ने वरिष्ठ पत्रकार और पूर्व सांसद अश्विनी चोपड़ा के निधन पर शोक प्रकट किया ◾पंजाब केसरी दिल्ली के मुख्य संपादक और पूर्व भाजपा सांसद श्री अश्विनी कुमार जी को भावपूर्ण श्रद्धांजलि ◾निर्भया गैंगरेप: अपराध के समय दोषी पवन नाबलिग था या नहीं? 20 जनवरी को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट◾सीएए पर प्रदर्शनों के बीच CJI बोबड़े ने कहा- यूनिवर्सिटी सिर्फ ईंट और गारे की इमारतें नहीं◾कमलनाथ सरकार के खिलाफ धरने पर बैठे MLA मुन्नालाल गोयल, घोषणा पत्र में किए गए वादों को पूरा नहीं करने का लगाया आरोप ◾नवाब मलिक बोले- अगर भागवत जबरदस्ती पुरुष की नसबंदी कराना चाहते हैं तो मोदी जी ऐसा कानून बनाए◾संजय राउत ने सावरकर को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना, बोले- विरोध करने वालों को भेजो जेल, तब सावरकर को समझेंगे'◾दोषियों को माफ करने की इंदिरा जयसिंह की अपील पर भड़कीं निर्भया की मां, बोलीं- ऐसे ही लोगों की वजह से बच जाते हैं बलात्कारी◾पाकिस्‍तान: सुप्रीम कोर्ट ने देशद्रोह मामले में फैसले के खिलाफ मुशर्रफ की याचिका पर सुनवाई से किया इनकार ◾सीएए और एनआरसी के खिलाफ लखनऊ में महिलाओं का प्रदर्शन जारी◾NIA ने संभाली आतंकियों के साथ पकड़े गए DSP दविंदर सिंह मामले की जांच की जिम्मेदारी◾वकील इंदिरा जयसिंह की निर्भया की मां से अपील, बोलीं- सोनिया गांधी की तरह दोषियों को माफ कर दें◾ट्रंप ने ईरान के 'सुप्रीम लीडर' को दी संभल कर बात करने की नसीहत◾ राजधानी में छाया कोहरा, दिल्ली आने वाली 20 ट्रेनें 2 से 5 घंटे तक लेट◾निर्भया : घटना के दिन नाबालिग होने का दावा करते हुए पवन पहुंचा सुप्रीम कोर्ट◾PM मोदी ने मंत्रियों से कहा, कश्मीर में विकास का संदेश फैलाएं और गांवों का दौरा करें ◾भाजपा ने अब तक 8 पूर्वांचलियों पर लगाया दांव◾

सावधान! सावन के महीने में इन चीज़ों का सेवन भूलकर भी न करें

सावन के महीने में मौसम भी सुहाना होता है और हर तरफ हरियाली ही हरियाली दिखाई देती है। यह खुशनुमा मौसम जब आता है तो अपने साथ कई तरह की बीमारियां भी लाता है। सावन के दिनों में कई ऐसी चीजें होती है जिन्हें खाने से आपको बचना चाहिए। आयुर्वेद की जानें तो आसमान में सावन के महीने में बादल रहते हैं या तो फिर बारिश भी हो जाती है। 



सावन में बारिश की वजह से आसमान में आपको सूर्य और चंद्रमा नहीं दिखाई देता है। सूरज और चांद की रोशनी जब तक हमारे पास नहीं पहुंचती है तब तक हमारी पाचन शक्ति भी अच्छी नहीं रहती है। हमारी पाचन शक्ति इन दोनों की वजह से मजबूत रहती है। यही वजह है कि सावन के महीने में आपको अपने खाने-पीने के बहुत ध्यान रखना होता है। आज हम आपको बताएंगे कि सावन के महीने में आपको कौन ही चीजें नहीं खानी चाहिए। 



बैंगन 

शास्‍त्रों के मुताबिक बैंगन को सावन के महीने में वर्जित माना गया है। बैंगन में सावन के महीने में कीड़ा ज्यादा लगता है ऐसा वैज्ञानिक तौर पर भी कहा गया है। अगर आप ऐसे बैंगन खाते हैं तो आपका स्वास्‍थ्य खराब हो सकता है। यही वजह है कि सावन के महीने में बैंगन को खाने से मना किया गया है। 


दूध और उससे बनी चीजें

दूध से बनी चीजों को भी सावन में खाने से मना किया जाता है। खासतौर पर सावन के महीने में कच्चा दूध नहीं पीना चाहिए। कच्चा दूध पीने से पित्त और कफ की परेशानी हो सकती है। ऐसा इसलिए कहा जाता है क्योंकि जहरीले कीड़े-मकौड़ाां की मात्रा बारिश के मौसम में ज्यादा हो जाती है। बारिश के दौरान घास के साथ गाया और भैंस कई सारे कीड़े खा जाती हैं। यही वजह है कि दूध गुणकारी कम और हानिकारक ज्यादा हो जाता है। दूध और दही से सावन में शिव का अभिषेक इसलिए किया जाता है। 



नॉनवेज फूड

मांसाहारी भोजन भी सावन के महीने में नहीं खाना चाहिए। मीट में बहुत तेजी से संक्रमण इस मौसम में फैलता है जिसकी वजह से बीमारी लगने का बहुत डर होता है। मांस और मदिरा का सावन के महीने में लोग पूरी तरह से त्याग देते हैं। 


सलाद और मशरूम

सावन के महीने में सलाद नहीं खाना चाहिए। बारिश के मौसम में सब्जियों में बैक्टीरिया पैदा हो जाता है इसी वजह से कच्ची सब्जियों को खाना नहीं चाहिए। खासतौर पर सावन के महीने में मशरूम बिल्कुल नहीं खाना चाहिए। 


तली- भुनी चीजें

कई लोगों का बारिश में समोसे, पकौड़े खाने का मन करता है। सावन के महीने में तो खासतौर पर आप सबका मन करता ही है पकौड़े और समोसे खाने का। लेकिन सावन के महीने में तली और भुनी चीजें सेहत के लिए नुकसान दायक होती हैं। डॉक्टर कहते हैं कि ऐसी चीजें इस मौसम में खाने स पेट में सूजन आ  जाती है और साथ ही पाचन क्रिया भी कमजोर हो जाती है।