BREAKING NEWS

अमेरिका ने हाफिज सईद की पूर्व में हुई गिरफ्तारियों को बताया 'दिखावा', कहा- गतिविधियों पर कोई फर्क नहीं पड़ा◾योगी सरकार को प्रियंका गांधी से डर क्यों लगता है : सुरजेवाला ◾नवजोत सिंह सिद्धू के पूर्व विभाग से महत्वपूर्ण फाइलें गायब◾प्रियंका गांधी ने गेस्ट हाउस में बिताई रात, प्रशासन से दूसरे दौर की बातचीत भी नाकाम◾चंद्रकांत पाटिल का दावा : चुनाव से पहले विपक्ष के कई नेता BJP होंगे शामिल◾एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल नाग का सफल परीक्षण◾सोनभद्र जाने पर अड़ीं प्रियंका गांधी ,जमानत लेने से किया इनकार, बोलीं- जेल जाने को तैयार हूं◾योगी सरकार ने की प्रियंका की ‘गैरकानूनी गिरफ्तारी’, राज्य सरकार में अपराधियों को संरक्षण : कांग्रेस ◾जारी रहेगी MS Dhoni की धूम, मैनेजर बोले - माही की अभी संन्यास लेने की कोई योजना नहीं◾कर्नाटक : विधानसभा विश्वास प्रस्ताव पर मतदान के बिना सोमवार तक स्थगित ◾रॉबर्ट वाड्रा ने BJP सरकार की आलोचना की ,कहा - लोकतंत्र को तानाशाही में न बदलें◾सोनभद्र गोलीकांड : प्रियंका गांधी हिरासत में, कई जगह कांग्रेस का प्रदर्शन ◾किसी विधायक ने मुझसे सुरक्षा नहीं मांगी है : कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष◾कर्नाटक में जारी सत्ता का संघर्ष एक बार फिर शीर्ष अदालत की चौखट पर◾Sensex में साल की दूसरी बड़ी गिरावट, निवेशकों ने दो दिन में गंवाये 3.79 लाख करोड़ रुपये ◾ कुमारस्वामी ने स्पीकर से फ्लोर टेस्ट की डेट सोमवार तक बढ़ाने की अपील की , भाजपा बोली- हम तैयार नहीं◾Top 20 News 19 July - आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾चुनाव याचिका पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नोटिस जारी ◾BJP विश्वास प्रस्ताव पर मत-विभाजन के लिए आतुर है, क्योंकि वह विधायकों को खरीद चुकी : सिद्धारमैया ◾सोनभद्र में पीड़ित परिवारों से मिलने जा रही प्रियंका गांधी को रोका, धरने पर बैठीं◾

दिलचस्प खबरें

आखिर क्यों करते हैं धोनी-कोहली और सचिन इस शख्‍स का इंतजार ?

भारतीय टीम के सारे खिलाड़ी राम भंडारी के बहुत बड़े मुरीद हैं। बता दें कि बेंगलुरु के रहने वाले राम भंडारी मूल रूप से बिहार के हैं। विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी के खास तो राम भंडारी हैं ही लेकिन उनका इंतजार सचिन तेंदुलकर अपने खेल के दिनों में बहुत इंतजार करते थे। 


पिता सेना में थे, खुद हो गए 10वीं फेल

बता दें कि राम भंडारी के पिता जी सेना में थे। उनके पिता घायल हो गए थे जिसके बाद उन्‍हें रिटायरमेंट लेनी पड़ गई थी। इसके साथ ही 10वीं फेल भी राम हो गए थे। उसके बाद राम को गांवों वालों ने ताना देना शुरु कर दिया था कि वह कुछ नहीं कर पाएगा। 


राम भंडारी गांवों वालों की बातें सुनकर दुखी हो गए थे जिसके बाद वह यूपी के गोरखपुर आ गए। उसके बाद राम गोरखपुर से मद्रास काम की तलाश में चले गए। वहां से वह मुंबईख्‍ पुणे और फिर बेंगलुरु पहुंच गए। यह वाकया 1979 या 1980 का है। उन्हें नौकरी एक बिल्डिंग में मिली जहां पर वह मेंटेनेंस और बाकी काम देखते थे। 

बैट रिपेयर करवाने राहुल द्रविड़ भी आते थे

राम भंडारी ने बताया कि, मेरे पास दिन में बहुत समय खाली रहता था। मुझे काम करने की चाहत होती थी इसलिए मैंने बैट रिपेयरिंग का काम शुरु कर दिया था। उस समय मैंने जो पहला बैट रिपेयर किया था उसके मुझे 30 रुपए मिले थे।


 उस समय राहुल द्रविड़ कॉलेज में थे और मेरे पास बैट सही करवाने आते थे। उसके बाद मेरा मन इस काम में लगना शुरु हो गया और फिर पैसे भी अच्छे मिलने लगे। 

खुशी से जो पैसे खिलाड़ी देते हैं उन्हें मैं रख लेता हूं

राम भंडारी ने 1996 में बैट रिपेयरिंग के काम को ही अपना मुख्य काम बना लिया था। वह रिपेयर करने के साथ बैट बनाने भी लग गए थे। राम भंडारी कहते हैं कि, खुशी मिलती है, जब कोई खिलाड़ी मेरे बनाए बैट से अच्छा स्कोर बनाता है। 


वह सब मैदान से लौटकर मुझे थैंक यू भंडारी जी बोलते हैं। बहुत प्रसन्नता मिलती है। राम भंडारी आगे कहते हैं कि उन्होंने कभी बैट रिपेयर करने के लिए कोई कीमत तय नहीं की। खिलाड़ी जो भी खुशी से देते हैं वह रख लेते हैं। 

तीन बैट लेकर सचिन आए और कहा....

राम भंडारी ने एक वाकया याद करते हुए कहा कि, साल 2007 की बात है। सचिन तेेंदुलकर मेरे पास 3 बैट ठीक करने के लिए लेकर आए। 


सचिन ने मुझे कहा-भंडारी, मैं आपको इंतजार करेगा। आप जल्दी आओ। भंडारी ने आगे बताया कि, बैट रिपेयरिंग के काम में सबकुछ एकदम सटीक होना चाहिए। इसलिए कई बार समय ज्यादा लग जाता है। मैंने उस दिन तीनों बैट को रिपेयर किया और चिन्नास्वामी स्टेडियम के लॉबी में पहुंचा, पूरी टीम वापस होटल चली गई थी। लेकिन सचिन वहां बैठ कर मेरा इंतजार कर रहे थे। 
 

यह काम पिछले दो दशक से ज्यादा समय से कर रहे हैं

राम भंडरी ने कहा है कि एक दफा किसी ने उनसे कहा था, भंडारी सर, दूरा देश सचिन का इंतजार करता है, लेकिन सचिन राम भंडारी का इंतजार करते हैं। 


पिछले दो दशक से  ज्यादा राम बैट बनाने और रिपेयर करने का यह काम कर रहे हैं। इतना ही नहीं राम इंटरनेशनल खिलाड़ियों का बैट भी रिपेयर कर चुके हें। 

बैट ठीक करवाते थे पोंटिंग और लारा भी

भारतीय टीम के खिलाड़ी ही नहीं राम भंडारी को पूछते हैं। राम भंडारी से सचिन तेेंदुलकर, विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी के साथ ही रिकी पोंटिंग और ब्रायन लारा भी बैट रिपेयर करवा चुके हैं। 


उन्होंने कहा कि, बैट बनाने वाली कंपनियां बल्ले के भार, मजबूती और उसके डिजाइन पर फोकस करती है। लेकिन क्रिकेटर्स के लिए बैट का बैलेंस और उसकी फील मायने रखती है।