BREAKING NEWS

...जब दिल्ली में चुनाव प्रचार खत्म कर कार्यकर्ता के घर पहुंचे अमित शाह, खाया खाना◾केंद्र सरकार ने भीमा कोरेगांव मामले की जांच NIA को सौंपी, महाराष्ट्र के गृहमंत्री देशमुख ने की निंदा◾पाकिस्तान के विदेश मंत्री कुरैशी बोले- SCO बैठक के लिए भारत के आमंत्रण का है इंतजार◾फांसी टलवाने के लिए सभी हथकंडे आजमा रहे निर्भया के दोषी, तिहाड़ जेल प्रशासन के खिलाफ आज होगी सुनवाई◾रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ PMLA मामला : प्रवासी कारोबारी थम्पी की हिरासत 4 दिनों के लिए बढ़ी ◾3-4 दिनों में मंत्रिमंडल का विस्तार होगा : बी एस येदियुरप्पा◾CAA के बाद देश से वापस लौटने वाले बांग्लादेशी प्रवासियों की संख्या में काफी बढ़ोतरी हुई है : BSF◾TOP 20 NEWS 24 January : आज की 20 सबसे बड़ी ◾विजयवर्गीय के पोहे वाले बयान पर जावड़ेकर बोले- मैं भी पोहा खाता हूं ◾मुख्यमंत्री केजरीवाल बोले- चुनाव काम के आधार पर लड़ा जाएगा, न कि जाति या धर्म के आधार पर◾कांग्रेस, आप ने वोट बैंक की राजनीति की, भाजपा जो कहती है, वह करती है : नड्डा ◾प्रधानमंत्री मोदी बोले- भारत सिर्फ 130 करोड़ लोगों का घर ही नहीं बल्कि एक जीवंत परंपरा है◾भारत ने न्यूजीलैंड को 6 विकेट से हराया, सीरीज में 1-0 से आगे ◾कोरोना वायरस : मुंबई में मिले दो संदिग्ध मरीज, कस्तूरबा अस्पताल में बनाया गया विशेष वार्ड◾महाराष्ट्र : राकांपा नेता नवाब मलिक बोले- मोदी सरकार ने पवार के दिल्ली स्थित आवास से सुरक्षा हटाई◾योग गुरु बाबा रामदेव बोले-महंगाई और बेरोजगारी के मुद्दे पर काम करे सरकार◾जेएनयू छात्रों को दिल्ली HC ने दी राहत, कहा- पुरानी फीस पर ही होगा छात्रों का रजिस्ट्रेशन◾दिल्ली विधानसभा चुनाव : कपिल मिश्रा के विवादित बयान पर सिसोदिया का पलटवार, कहा- जीतेगा तो भारत ही◾CM केजरीवाल ने शाह के बयान पर साधा निशाना, बोले- सिर्फ वाईफाई नहीं, बैटरी चार्जिग भी फ्री है◾पाकिस्तान वाले ट्वीट पर कपिल मिश्रा को EC का नोटिस, बोले-सच बोलना इस देश में अपराध नहीं◾

पितृ पक्ष श्राद्ध 14 सितंबर से आरंभ, जानिए किस दिन कौन सा श्राद्ध किया जाएगा

आश्विन कृष्ण पक्ष प्रतिपदा से पितृ पक्ष से श्राद्घ आरंभ होता है। इस साल 13 सितंबर यानि पूर्णिमा को ऋषि तर्पण और श्राद्घ होगा। इसके बाद 14 सितंबर से पितृ पक्ष श्राद्घ आरंभ हो जाएगा जो 28 सितंबर तक चलेगा। पितृ पक्ष अपने पितरों को याद करने का ठीक समय माना गया है।

 पितृ 2 प्रकार के होते हैं एक दिव्य पितर और दूसरे पूर्वज पितर। बता दें कि दिव्य पितर ब्रह्मा के पुत्र मनु से उत्पन्न हुए ऋषि हैं। पितरों में सबसे मुख्य अर्यमा हैं जिनके बारे में गीता में भगवान श्रीकृष्ण ने कहा है कि पितरों में प्रधान अर्यमा वह स्वयं हैं।

वहीं दूसरे प्रकार के पितर पूर्वज होते हैं। पितृपक्ष में अपने इन्हीं पितरों को लोग याद करते हैं और इनके नाम से पिंडदान,श्रद्घा और ब्राह्मण भोजन करवाते हैं। पितर अपन परिजनों के पास पितृपक्ष श्राद्घ के समय आते हैं साथ ही अन्न जल एंव आदर की अपेक्षा करते हैं। जिन भी परिवार के लोग पितृपक्ष के वक्त पितरों के नाम से अन्न जल दान नहीं करते हैं।

श्राद्घ कर्म नही करते हैं उनके पितर भूखे-प्यासे ही धरती से वापस लौट जाते हैं इससे किसी और को ही नहीं बल्कि परिवार के लोगों को ही पितृ दोष लगता है। इसे पितृ शाप भी कहा जाता है। इसे पितृ शाप भी कहते हैं। इससे संतान प्राप्ति में बाधा आती है। इससे परिवार मेें रोग और कष्ट बढ़ जाता है। 

पितृ पक्ष के नियम 

पितृ पक्ष में जिन तिथियों में पूर्वज यानी पिता,दादा,परिवार के लोगों की मृत्यु हुई होती है उस तिथि को उनका श्राद्घ किया जाता है। श्राद्घ में दोपहर के वक्त पितरों के नाम से श्राद्घ और ब्राह्मïण भोजन करवाना चाहिए। वहीं देवताओं की पूजा सुबह में जबकि पितरों की दोपहर के समय में होनी चाहिए। इस बार आश्विन कृष्ण द्वितीया तिथि 2 दिन 15 और 16 सितंबर को है। ऐसे में परेशानी यह है कि द्वितीया तिथि का श्राद्घ किस दिन किया जाएगा। 

शास्त्रों के नियम अनुसार जिस दिन दोपहर के वक्त ज्यादा समय तक जो तिथि व्याप्त हो उस दिन ही उसी तिथि को श्राद्घ किया जाना चाहिए। इस नियम के मुताबिक 15 तारीख को द्वितीय तिथि का श्राद्घ किया जाएगा। इस साल श्राद्घ पक्ष में एकादशी आक्र द्वादशी का श्राद्घ एक ही दिन किया जाएगा। द्वादशी तिथि का क्षय है। 

पितृपक्ष श्राद्ध तिथि 2019

13 सितंबर शुक्रवार प्रोष्ठपदी पूर्णिमा श्राद्ध

14 सितंबर शनिवार प्रतिपदा तिथि का श्राद्ध

15 सितंबर रविवार द्वितीया तिथि का श्राद्ध

17 सितंबर मंगलवार तृतीया तिथि का श्राद्ध

18 सितंबर बुधवार चतुर्थी तिथि का श्राद्ध

19 सितंबर बृहस्पतिवार पंचमी तिथि का श्राद्ध

20 सितंबर शुक्रवार षष्ठी तिथि का श्राद्ध

21 सितंबर शनिवार सप्तमी तिथि का श्राद्ध

22 सितंबर रविवार अष्टमी तिथि का श्राद्ध

23 सितंबर सोमवार नवमी तिथि का श्राद्ध

24 सितंबर मंगलवार दशमी तिथि का श्राद्ध

25 सितंबर बुधवार एकादशी का श्राद्ध/द्वादशी तिथि/संन्यासियों का श्राद्ध

26 सितंबर बृहस्पतिवार त्रयोदशी तिथि का श्राद्ध

27 सितंबर शुक्रवार चतुर्दशी का श्राद्ध

28 सितंबर शनिवार अमावस्या व सर्वपितृ श्राद्ध

29 अक्तूबर रविवार नाना/नानी का श्राद्ध