BREAKING NEWS

कानपुर : नमामि गंगे की बैठक के बाद PM मोदी ने नाव पर बैठकर गंगा की सफाई का लिया जायजा ◾झारखंड : अमित शाह बोले- CAB कानून के खिलाफ कांग्रेस भड़का रही है हिंसा◾मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं, कभी माफी नहीं मांगने वाला : राहुल गांधी◾'भारत बचाओ रैली' में बोलीं सोनिया गांधी- भारत की आत्मा को तार-तार कर देगा नागरिकता संशोधन कानून◾संविधान और देश को विभाजन से बचाने के लिए पूरा देश आवाज उठाए: प्रियंका गांधी ◾'भारत बचाओ' रैली से पहले राहुल गांधी का ट्वीट, कहा- BJP सरकार की तानाशाही के खिलाफ बोलूंगा◾पीएम मोदी निर्मल गंगा के दर्शन करने पहुंचे कानपुर, एयरपोर्ट पर CM योगी ने किया स्वागत ◾केजरीवाल को मिला प्रशांत किशोर की कंपनी आई-पैक का साथ, विधानसभा चुनाव में AAP के लिए करेंगे काम◾पति ने मेट्रो के आगे कूदकर की आत्महत्या, पत्नी ने बेटी को फांसी लगाने के बाद की खुदकुशी ◾CAB : असम के गुवाहाटी में सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक कर्फ्यू में दी गई ढील◾दिल्ली के मुंडका में लकड़ी के गोदाम में लगी भीषण आग, दमकल की 20 गाड़ियां मौके पर मौजूद◾भारत में CAB से पड़ने वाले असर को लेकर चिंतित है अमेरिका◾आज कानपुर दौरे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अविरल-निर्मल गंगा पर करेंगे मंथन◾एनएसएफ ने CAB विधेयक के खिलाफ आज छह घंटे का बंद का आह्वान किया ◾बजट 1 फरवरी को हो सकता है पेश : सूत्र ◾BJP की महिला सांसदों ने चुनाव आयोग से की राहुल गांधी की शिकायत ◾दिल्ली में अभी चुनाव हुए तो भाजपा को मिलेंगी 42 सीटें◾अवसाद में निर्भया कांड के दोषी, खाना-पीना कम किया : तिहाड़ जेल के सूत्र◾योगी ने राम मंदिर के लिए हर परिवार से 11 रुपये, पत्थर मांगे ◾सर्जिकल स्ट्राइक की इजाजत देने से पहले पर्रिकर ने कहीं थीं दो बातें : दुआ◾

दिलचस्प खबरें

ट्रैन में इन पीली-लाल लाइंस का जानें मतलब, आएंगी सफर के दौरान काम

 0

जब भी लोग कहीं बाहर घूमने के लिए जाते हैं तो वह गाड़ी, बस, रेल या प्लेन से सफर करते हैं। लेकिन ऐसा कहा जाता है कि रेल से ज्यादा लोग सफर करते हैं। रेल में सफर करने वालों में कुछ लोग खुश रहते हैं तो कुछ इतनी खामियां निकालते हैं जिनकी कोई हद ही नहीं। 

कई ऐसी चीजें रेल पर बनी होती हैं जिन पर अक्सर लोग ध्यान नहीं देते हैं। रेल कोच के आखिरी में पीले, लाल, नीले या फिर अन्य रंग की धारियां क्यों होती हैं। चलिए आपको हम बताते हैं। 

ये धारियां इसलिए होती हैं

भारत देश में रेलवे की सेवा 16 अप्रैल 1853 से शुरु हुई थी। भारतीय रेलवे को साल 1951 में नेशनलाइज्ड किया गया था। कई ऐसे साइन कोड ट्रेनों में हैं जिन्हें हम देखते हैं लेकिन उनका मतलब हमें शायद ही पता होगा। ट्रेन के नीले रंग के कोच के आखिर में खिड़की के ऊपर पीले या फिर सफेद रंग की धरियां होती हैं। 

बता दें कि यात्रियों की सुविधा के लिए ही इन धारियों को बनाया होता है। कोच के ऊपर बनी ये धारियां बताती हैं कि द्वितीय श्रेणी यानी जनरल डिब्बा यह है। 

काम आती हैं ये धारियां भी 

पीले रंग की मोटी धारियां नीले या लाल रंग के कोच पर आपने जरूर देखीं होंगी। इन धारियों बताती हैं कि विकलांग और बीमार लोगों के लिए यह कोच हैं। इसी तरह से लोकल ट्रेन पर ग्रे पर लाल कलर की लाइंस होती हैं जो यह बताती हैं कि यह फर्स्ट क्लास कोच है।

 अक्सर लोग रेल के कोच को तलाशने के लिए इन चीजों को ढूंढते नजर आते हैं। यह सारी चीजें सामने होती हैं लेकिन हमें इनकी जानकारी पूरी नहीं पता होती जिसकी वजह हम इन्हें नजरअंदाज कर देते हैं।