BREAKING NEWS

PM मोदी और राष्ट्रपति ट्रंप के बीच फोन पर हुई बात, ट्रंप ने मोदी को G-7 सम्मेलन में शामिल होने का दिया न्योता◾चक्रवात निसर्ग : राहुल गांधी बोले- महाराष्ट्र और गुजरात के लोगों के साथ पूरा देश खड़ा है ◾महाराष्ट्र में कोरोना का कहर जारी, आज सामने आए 2,287 नए मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 72 हजार के पार ◾वित्त मंत्रालय में कोरोना वायरस ने दी दस्तक, मंत्रालय के 4 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव ◾कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच, सरकार ने कहा- भारत महामारी से लड़ाई के मामले में अन्य देशों से बेहतर स्थिति में ◾जेसिका लाल हत्याकांड : उपराज्यपाल की अनुमति पर समय से पहले रिहा हुआ आरोपी मनु शर्मा ◾बाढ़ से घिरे असम के 3 जिलों में भूस्खलन, 20 लोगों की मौत, कई अन्य हुए घायल◾दिल्ली BJP अध्यक्ष पद से मनोज तिवारी का हुआ पत्ता साफ, आदेश गुप्ता को सौंपा गया कार्यभार◾दिल्ली हिंसा मामले में ताहिर हुसैन समेत 15 के खिलाफ दायर हुई चार्जशीट◾Covid-19 : अब घर बैठे मिलेगी अस्पतालों में खाली बेड की जानकारी, CM केजरीवाल ने लॉन्च किया ऐप◾कारोबारियों से बोले PM मोदी-देश को आत्मनिर्भर बनाने का लें संकल्प, सरकार आपके साथ खड़ी है◾ ‘बीएए3’ रेटिंग को लेकर राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, कहा-अभी तो स्थिति ज्यादा खराब होगी ◾कपिल सिब्बल का केंद्र पर तंज, कहा- 6 साल का बदलाव, मूडीज का डाउनग्रेड अब कहां गए मोदी जी?◾महाराष्ट्र और गुजरात में 'निसर्ग' चक्रवात का खतरा, राज्यों में जारी किया गया अलर्ट, NDRF की टीमें तैनात◾कोरोना वायरस : देश में महामारी से 5598 लोगों ने गंवाई जान, पॉजिटिव मामलों की संख्या 2 लाख के करीब ◾Covid-19 : दुनियाभर में वैश्विक महामारी का प्रकोप जारी, मरीजों की संख्या 62 लाख के पार पहुंची ◾डॉक्टर ने की जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या की पुष्टि, कहा- गर्दन पर दबाव बनाने के कारण रुकी दिल की गति◾अमेरिका में कोरोना संक्रमितों की संख्या में बढ़ोतरी जारी, मरीजों की आंकड़ा 18 लाख के पार हुआ ◾भारत में कोविड-19 से ठीक होने की दर पहुंची 48.19 प्रतिशत,अब तक 91,818 लोग हुए स्वस्थ : स्वास्थ्य मंत्रालय ◾महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में कोरोना के 2,361 नए मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 70 हजार के पार, अकेले मुंबई में 40 हजार से ज्यादा केस◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

ताजमहल के बंद तहखाने के डरावने रहस्य के बारे में जानकर हैरान रह जायेंगे आप

दुनिया में सात अजूबे हैं उसमें ताजमहल एक अजूबा है। ताजमहल पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है। ताज महल अपनी भव्य सुदंरता के लिए जाना जाता है। शाहजहां-मुमताज की प्रेम कहानी के लिए भी ताजमहल पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है। ताजमहल पूरी दुनिया में जितना अपनी सुदंरता के लिए फेमस है उतना ही वह अपने पीछे छुपाए हुए रहस्यों के लिए बहुत बदनाम भी है और प्रसिद्ध है। पिछले कई सालों से यह विवाद बना हुआ है कि ताजमहल जो दुनिया के अजूबों में से एक है इसका वास्तव में नाम ताजमहल नहीं तेजो महालय होना चाहिए था।

\"\"

बता दें कि ताजमहल के तैखाने में पूरे 22 कमरे हैं। सदियों से ताजमहल के यह तहखानें बंद पड़े हैं। आज तक किसी को भी यह पता नहीं चल पाया है कि यह तैखाने क्या हैं, इनका क्या रहस्य है और इन तहखानों को क्यों बंद किया हुआ है। आज हम आपको इन तहखानों के बारे में कुछ खास बातें बताएंगे और इन से जुड़े ऐसे सच जिनके बारे में दुनिया शायद ही जानती होगी।

\"\"

कार्बन डाइऑक्साइड की मात्रा को तहखाने में आने से रोका जाता है

कर्ई ऐसे सिद्धांतकार हैं जो यह कहते हैं कि ताजमहल के बेसमेंट में जो कक्ष बने हुए है वह मार्बल के बने हुए हैं। ऐसा कहा जाता है कि तहखाने में कार्बन डाइऑक्साइड की अगर मात्रा बढ़ जाएगी तो वह कैल्शियम कार्बोनेट में बदल जाएगी। कार्बन डाइऑक्साइड मार्बल्स को पाउडर का रूप देने शुरू कर देता है और उसकी वजह से दीवारों को नुकसान पहुंच सकता है। ताजमहल की दीवारों को नुकसान से बचाने के लिए तैखानों को बंद कर दिया गया। तैखानों में लोगों को भी जाने नहीं दिया जाता है।

\"\"

महल में मुमताज के शरीर को मम्मी के रूप में तहखाने में रखा गया है

कई इतिहासकारों का कहना है कि मुमताज महल का शरीर तहखाने में आज भी वैसे ही दफन किया गया है जैसे कि मुमताज मरने से पहले थीं। यह भी कहा जाता है कि मुमताज महल के शरीर को यूनानी तकनीक के अनुसार संरक्षित किया गया है। आपको बता दें कि इस तकनीक का इस्तेमाल इसलिए किया गया था क्योंकि इस्लाम धर्म में किसी की भी मृत्यु होती है तो उसके शरीर को काटने या फिर शरीर पर किसी भी तरह की कोर्ई क्षति पहुंचाना धर्म के खिलाफ माना जाता है या फिर प्रतिबंधित होता है। बता दें कि मुमताज महल जब मरी थी तो उनके मरने के बाद उनके शरीर को टिन के एक संदूक में ऐसी जड़ी-बूटियों के साथ रखा गया हुआ है जो मांस को कभी सडऩे नहीं देती है।

\"\"

तहखाने में हिंदू मूर्ती और वास्तुकला पाई गई है

साल 1934 में दिल्ली के एक निवासी ने दीवार पर एक छेद के जरिए ताजमहल के तैखाने के अंदर जो कमरे थे उनमें झांका कर देखा था। उस आदमी ने देखा कि वह कमरा स्तंभों से बना एक बहुत बड़ा हॉल था और वह स्तंभ हिंदू देवी- देवताओं की मूर्तियों से भरा पड़ा था। उस व्यक्ति के अनुसार कमरे में रौशनदानियां बनी हुई थी जो आमतौर पर बड़े हिंदू मंदिरों में देखने को मिलती है। उन रौशनदानियों को संगमर्मर के पत्थर से ढंका गया था जिसे देख कर लगता है कि किसी ने वहां के हिंदू मूल को छुपाने का पूरा प्रयत्न किया था।

\"\"

वहां के स्थानीय लोगों का भी मानना है कि ताजमहल पहले एक हिंदू मंदिर था जो तेजो महालय के नाम से प्रसिद्ध था। बाद में इसे ताजमहल का रूप दे दिया गया। परंतु सच्चाई क्या है यह आज भी किसी को नहीं पता। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने 22 कमरों को इसलिए बंद रखा है ताकि इस कमरे में छिपे सच्चाई के चलते भविष्य में दंगे ना हों।

\"\"

यदि ताजमहल सच में कोई हिंदू मंदिर हुआ तो यह सच भी लोगों को कभी बताया नहीं जाएगा। ऐसा करने पर इस सच के चलते देश में धर्मों को लेकर अनेक विवाद शुरू हो जाएंगे और इससे हिंदू-मुस्लिम के बीच विवाद का भयानक मंजर सामने आ सकता है।

\"\"