पूर्व भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर को शनिवार को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने पद्मश्री से सम्मानित किया। गौतम 2007 और 2011 में भारत के दो विश्व कप विजेता टीम का हिस्सा रहे थे और अब भले ही वो भारतीय क्रिकेट टीम का हिस्सा नहीं है पर अपने सामाजिक कार्यों के लिए गौतम काफी सुर्ख़ियों में रहते है .

गौतम गंभीर

गौतम गंभीर को क्रिकेट के खेल के लिए उनकी विशिष्ट सेवा के लिए देश के चौथे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार से सम्मानित किया गया। गौतम ने राष्ट्रपति कोविंद से राष्ट्रपति भवन में अपनी पत्नी नताशा गंभीर की उपस्थिति में पुरस्कार ग्रहण किया।

गौतम गंभीर

पुरस्कार हासिल करने के बाद गौतम गंभीर ने सोशल मीडिया पर पनी पत्नी और पुरस्कार के साथ तस्वीर साझा की और बताया की वो इस उपलब्धि के बाद बेहद खुश है। साथ ही उन्होंने अपनी पोस्ट में बड़े मजाकिया अंदाज में अपनी पत्नी को भी ट्रोल किया।

गौतम गंभीर

 

गौतम गंभीर ने अपने पोस्ट में मजाकिया अंदाज अपनाते हुए कहा की, “Back to reality with a LOUD thuddddddd!!!! Padmashri with his Sri Sri Srimati @natashagambhir2 Don’t worry about the तोप in the background, I get fired everyday at home 🙈#PADMASHRIGAUTAMGAMBHIR #PadmaShriAward #Padmashree.”

ट्विटर पर पोस्ट देखने के लिए क्लिक करें : https://twitter.com/GautamGambhir/status/1106850400840249350

यानी उनका कहना साफ है भले ही उन्हें पदमश्री मिला है पर उनकी जिंदगी में चलती श्री श्री श्रीमती की ही है और पीछे रखी तोप से ना डरें घर पर रोजाना वो फायर झेलते है। फैंस ने गौतम गंभीर को इस उपलब्धि के लिए ढेर सारी शुभकामनायें दी है।

गौतम गंभीर

गौतम गंभीर बाएं हाथ के बेहतरीन सलामी बल्लेबाज रहे है जो भारत की तरफ से तीनों क्रिकेट फॉर्मेट में खेल चुके है। पाकिस्तान के खिलाफ 2007 में टी 20 विश्व कप के फाइनल में, गंभीर भारत के लिए 54 गेंदों पर 75 रन बनाकर और 2011 के विश्व कप के फाइनल में उन्होंने 97 रनों की पारी खेलकर भारत को आसानी से जीत दिलाने में योगदान दिया था।

गौतम गंभीर

आपको बता दें गौतम गंभीर ने भारत के लिए 58 टेस्ट मैच और 157 एकदिवसीय मैच खेले और दोनों प्रारूपों में क्रमशः 4154 और 5238 रन बनाए। साथ ही आईपीएल में उन्होंने कोलकाता नाईट राइडर्स की तरफ से कप्तानी करते हुए दो बार खिताब दिलवाया है।

गौतम गंभीर

क्या आपको पता है भारत को 2007 विश्व टी 20 का खिताब एमएस धोनी ने बिना कोच के जिताया था ?