BREAKING NEWS

बच गई राजस्थान की कांग्रेस सरकार, मुख्यमंत्री गहलोत ने विधायकों के संग दिखाया शक्ति प्रदर्शन◾सीबीएसई बोर्ड की 12वीं कक्षा के परिणाम घोषित, 88.78% परीक्षार्थी रहे उत्तीर्ण ◾राजस्थान : कांग्रेस विधायकों का बैठक में पहुंचना जारी, सुरजेवाला बोले- कोई मतभेद है तो निकालेंगे समाधान◾श्रीपद्मनाभ स्वामी मंदिर प्रबंधन पर शाही परिवार का अधिकार SC ने रखा बरकरार◾सियासी संकट के बीच CM गहलोत के करीबियों पर IT का शकंजा, राजस्थान से लेकर दिल्ली तक छापेमारी◾राहुल ने केंद्र पर साधा सवालिया निशाना, कहा- क्या भारत कोरोना जंग में अच्छी स्थिति में है?◾जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ जारी, एक आतंकवादी ढेर ◾देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 8 लाख 78 हजार के पार, साढ़े पांच लाख से अधिक लोगों ने महामारी से पाया निजात ◾दुनियाभर में कोरोना संक्रमितों के आंकड़ों में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी, मरीजों की संख्या 1 करोड़ 29 लाख के करीब ◾CM शिवराज ने किया मंत्रिमंडल में विभागों का बंटवारा, नरोत्तम मिश्रा बने MP के गृह मंत्री◾असम में बाढ़ और भूस्खलन में चार और लोगों की मौत, करीब 13 लाख लोग प्रभावित◾चीन से तनाव के बीच सेना के आधुनिकीकरण के तहत अमेरिका से 72,000 असॉल्ट राइफल खरीद रहा भारत◾पूर्वी लद्दाख में तनाव कम करने के लिए बुधवार तक होगी लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की वार्ता◾राजस्थान : कांग्रेस महासचिव अविनाश पांडे का दावा- गहलोत सरकार के पास 109 विधायकों का समर्थन ◾सचिन पायलट ने 30 विधायकों के समर्थन का दावा किया, कांग्रेस बोली- सुरक्षित है गहलोत सरकार ◾विकास दुबे के लिए मुखबिरी करने के आरोपी पुलिसकर्मी को खुद के एनकाउंटर का डर, SC में दी याचिका◾सचिन पायलट की खुली बगावत, विधायक दल की बैठक में नहीं होंगे शामिल, बोले- अल्पमत में है गहलोत सरकार◾राजस्थान में गुटबाजी के संकट को टालने के लिये अजय माकन और रणदीप सुरजेवाला जयपुर भेजे गए ◾राजस्थान में जारी सियासी घमासान के बीच, सिंधिया का ट्वीट, बोले- कांग्रेस पार्टी में प्रतिभा और क्षमता का स्थान नहीं◾नहीं थम रहा महाराष्ट्र में कोरोना का विस्फोट, बीते 24 घंटे में 7,827 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 2.54 लाख के पार◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

ICC ने टेस्ट क्रिकेट की तैयारी में गेंदबाजों के लिये दो-तीन महीने की समय सीमा तय की

दुनिया भर में फैले कोरोना वायरस के कारण पूरे विश्व में लॉकडाउन लगा हुआ है जिसके कारण पूरी दुनिया में सभी काम काज ठप्प पड़े हुए हैं। कोरोना महामारी का प्रभाव खेल जगत पर भी बहुत पड़ा है। वैश्विक महामारी के कारण सभी खेल भी ठप्प पड़े हुए हैं हलांकि उम्मीद जताई जा रही है कि आने वाले कुछ समय में सभी खेल दोबारा से बहाल हो सकते हैं। 

इसी क्रम में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने गेंदबाजों के लिए तैयारी का समय दो से तीन महीने तय किया है ताकि वे चोटों से बच सकें जिसके कारण कोरोना वायरस महामारी के असर के कम होने के बाद टेस्ट क्रिकेट बहाल होने के लिये गेंदबाजों का इंतजार अन्य खिलाड़ियों की तुलना में लंबा होगा। 

सदस्य देशों ने कोविड-19 महामारी रोकने के लिये लगी पाबंदियों में ढील दी है और आईसीसी ने शुक्रवार को खेल बहाल करने के लिये दिशानिर्देश जारी किये। लेकिन गेंदबाजों को वापसी के लिये थोड़ा ज्यादा इंतजार करना होगा क्योंकि उनके चोटिल होने की संभावना अधिक होती है। खेल की विश्व संचालन संस्था ने इन दिशानिर्देशों में लिखा, ‘‘टेस्ट क्रिकेट में गेंदबाजों की तैयारी के लिये कम से कम आठ से 12 हफ्ते का समय चाहिए होगा। ’’

आईसीसी ने कहा, ‘‘गेंदबाजों को लंबे समय बाद खेल में वापसी पर चोटिल होने का ज्यादा जोखिम रहेगा। ’’इसके अनुसार, ‘‘खिलाड़ियों विशेषकर गेंदबाजों की सुरक्षित और प्रभावित वापसी जरूरी होगी। अगर उनकी (गेंदबाजों की) तैयारी का समय सीमित होगा तो इससे ज्यादा चोटें लगेंगी। ’’

पाकिस्तान को अगस्त में इंग्लैंड का दौरा करना है जिसमें उसे तीन टेस्ट और इतने ही टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने हैं, इन मैचों का आयोजन बंद स्टेडियम में किया जायेगा। इंग्लैंड के 18 गेंदबाजों ने आगामी सत्र की तैयारियों के लिये गुरूवार से सात कांउटी मैदानों में व्यक्तिगत ट्रेनिंग सत्र शुरू कर दिये। आईसीसी ने कहा कि टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में गेंदबाजों को वापसी की तैयारी के लिये कम से कम पांच से छह हफ्ते का समय जरूरी होगा। वहीं वनडे के लिये तैयारी का न्यूनतम समय छह हफ्ते तय किया गया है।

आईसीसी ने टीमों को ज्यादा खिलाड़ियों के इस्तेमाल की सलाह दी और गेंदबाजों पर पड़ने वाल भार के प्रति सतर्कता बरतने की सलाह भी दी। साथ ही उसने कहा कि टेस्ट क्रिकेट की तैयारी के लिये कम से कम आठ से 12 हफ्तों का समय जरूरी होगी। इस महामारी के चलते अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट निलंबित है जिससे दुनिया भर में तीन लाख से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है। अन्य खेलों की तरह क्रिकेट मार्च से ही स्थगित है।