कांग्रेस ने ‘शहरी माओवादी’ के समर्थन से जुड़े प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आरोप को लेकर शुक्रवार को उन पर पलटवार किया और आरोप लगाया कि आगामी चुनावों में भाजपा की हार सुनिश्चित देखकर वह हताश हो गए हैं और नक्सलवाद से लड़ने में अपनी विफलता को छिपाने की कोशिश कर रहे हैं।

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ‘‘मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में हार तय देखकर प्रधानमंत्री हताश हैं और वह नक्सलवाद से लड़ने में अपनी विफलता एवं कमजोर रुख को छिपाने की कोशिश में हैं, जबकि नोटबंदी के बाद उन्होंने नक्सलवाद के खात्मे का दावा किया था।’’

CBI अधिकारियों को पॉजीटिविटी और तालमेल से काम करना सिखाएंगे श्रीश्री रविशंकर

उन्होंने कहा, ‘‘रीढ़ विहीन मोदी सरकार को याद दिलाना होगा कि 27 अक्टूबर से 14 दिनों के भीतर छत्तीसगढ़ में नक्सल आतंक में 11 जवानों की जान चली गई। जब मोदी जी तुच्छ राजनीति कर रहे थे तो क्या उन्हें इन जवानों याद करने का समय मिला?’’ उन्होंने कहा, ‘‘नोटबंदी के बाद फरवरी 2108 तक 1,030 नक्सली हमले हुए, जिनमें 114 जवान शहीद हुए।’’

सुरजेवाला ने प्रधानमंत्री के पहले के एक कथित बयान का हवाला देते हुए कहा, ‘‘मोदी जी, क्या आप अब भी अपने उस बयान पर कायम हैं: नक्सली हमारे अपने लोग हैं। रमन सिंह (छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री) ने नक्सलियों को ‘धरती पुत्र’ बताया था।’’

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी ने छत्तीसगढ़ में शुक्रवार को एक सभा में कहा, ‘‘आपने देखना होगा कि जो अर्बन माओवादी हैं वे शहरों में रहते हैं, साफ-सुथरे रहते हैं, उनके बच्चे विदेश में पढ़ते हैं लेकिन वहां बैठे-बैठे वे हमारे आदिवासियों के बच्चों को तबाह करते हैं। कांग्रेस के लोग उनका समर्थन करते हैं।’’