राज्यपाल शासन लागू होने के बाद जम्मू-कश्मीर में सेना ने आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन ऑलआउट तेज करते हुए 22 आतंकियों की हिटलिस्ट तैयार की है। जिसमें से एक आतंकी दाऊद अहमद सोफी को सुरक्षाबलों ने कल ही ढेर कर दिया था। यह आतंकी आईएसजेके संगठन से जुड़ा था। अब सुरक्षाबलों की लिस्ट में 21 आतंकी बचे हैं।

बता दें कि सुरक्षाबलों ने इनके सफाये के लिए पूरा एक्शन प्लान तैयार कर लिया है। उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार सुरक्षाबलों की हिटलिस्ट में हिज्बुल मुजाहिद्दीन के 11, लश्कर ए तैयबा के सात और जैश-ए-मोहम्मद के दो, आईएस की भारतीय शाखा अंसार गजवातुल हिंद के एक आतंकी शामिल हैं।

अब अनजान जगह दफन होंगे आतंकियों के शव

वही, खबर है कि अब कश्मीर में टॉप आतंकियों के मारे जाने के बाद शव को परिजनों को नहीं सौंपा जाएगा। यानि सुरक्षाबल ढेर किए गए आतंकियों को अंजान जगह पर दफन कर देंगे। इस फैसले को इसलिए अमल में लाया जा रहा है क्योंकि आतंकियों के समर्थक घाटी में उपद्रव करते रहे हैं। सुपुर्द ए खाक के मौके पर भारी संख्या में लोग और कुछ आतंकी शामिल होते हैं। जनाजे पर हथियार लहराना तो आम है। जिससे स्थिति खराब होती है।

बता दें कि हर साल होने वाली अमरनाथ यात्रा 28 जून से शुरू होने वाली है। ऐसे में इसके मद्देनजर घाटी में बड़े स्तर पर सुरक्षाबलों को तैनात किया गया है और आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन तेज कर दिया गया है।

अन्य विशेष खबरों के लिए पढ़िये पंजाब केसरी की अन्य रिपोर्ट।