जम्मू-कश्मीर में जारी राजनीतिक उथल-पुथल के बीच राज्य के भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष रवींद्र रैना को आतंकवादी संगठनों की ओर से जान से मारने की धमकी मिलने से माहौल और गरमा गया है। पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के साथ पिछले तीन साल से चल रही गठबंधन सरकार से भाजपा ने मंगलवार को हटने की घोषणा की।

इसके बाद से जम्मू-कश्मीर में राजनीतिक माहौल उफान पर है। बता दें कि राज्य में बुधवार से राज्यपाल शासन लागू हो गया है। रैना ने बताया कि उन्हें आतंकवादी संगठनों की तरफ से जान से मारने की धमकी मिली है। उन्होंने कहा,’ जान से मारने की धमकी के संबंध में मैंने संबंधित अधिकारियों और राज्यपाल को सूचना दे दी है। मुझे पिछले कुछ समय से ही ऐसी धमकियां मिल रही हैं।’

भाजपा अध्यक्ष ने कहा,’ मुझे गुरुवार को ही जान से मारने की धमकी देने की एक काल कराची से भी आई है।‘‘ बता दें कि रवींद्र रैना उग्र छवि के नेता हैं और पाकिस्तान के खिलाफ मुखर बयान देने से घबराते नहीं हैं। उन्हें इसी वर्ष 13 मई को राज्य के भाजपा अध्यक्ष की जिम्मेदारी दी गई है।

ईद से एक दिन पहले जम्मू-कश्मीर में राइजिंग कश्मीर के मुख्य संपादक शुजात बुखारी और त्योहार मनाने के लिए अवकाश पर आए राष्ट्रीय राइफल के जवान औरंगजेब की हत्या कर दी गई। केंद्र सरकार ने रमजान माह के लिए निलंबित संघर्ष विराम की अवधि आगे नहीं बढ़ते हुए आपरेशन आल आऊट फिर शुरु करने की घोषणा की। मंगलवार को राज्य में कानून- व्यवस्था की बिगड़ती स्थिति का हवाला देते हुए महबूबा मुफ्ती सरकार से गठबंधन तोड़ दिया।

अन्य विशेष खबरों के लिए पढ़िये पंजाब केसरी की अन्य रिपोर्ट।