लोकतांत्रिक जनता दल (लोजद) के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव ने राजस्थान की मुख्यमंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की वरिष्ठ नेता वसुंधरा राजे पर की गई टिप्पणी के लिए आज खेद प्रकट किया और कहा कि इस संबंध वह उन्हें एक पत्र भी लिखेंगे।

शरद यादव ने चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता इलाजरत राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव से राजेंद, आयुर्विज्ञान संस्थान (रिम्स) से मुलाकात करके लौटने के बाद कहा, ‘‘श्रीमती राजे से मेरे पारिवारिक संबंध है। यदि मेरे बयान से वह आहत हुई हैं तो इसके लिए मैं खेद प्रकट करता हूं।’’

एग्जिट पोल पर शिवराज चौहान ने कहा – पूर्ण बहुमत से बनेगी भाजपा की सरकार

उल्लेखनीय है कि श्री शरद यादव ने राजस्थान विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान अलवर के मुंडावर सीट पर कांग्रेस गठबंधन के एक प्रत्याशी के समर्थन में आयोजित सभा में श्रीमती राजे पर टिप्पणी करते हुये कहा था, ‘‘वसुंधरा को आराम दो। वह बहुत थक गई हैं, बहुत मोटी हो गई हैं, पहले पतली थीं। हमारे मध्य प्रदेश की बेटी हैं।’’

लोजद अध्यक्ष ने कहा कि पांच राज्यों में हुये विधानसभा चुनाव पर कहा कि किसान, कारोबारी एवं अन्य समुदाय समेत सभी वर्ग के लोगों ने भाजपा के विरोध में मतदान किया है। इससे तीन-चार राज्यों में बड़ बदलाव देखने को मिलेंगे। इन पांच राज्यों में भाजपा को शिकस्त का मुंह देखना पड़गा और चुनाव पूर्व अनुमान भी इस ओर इशारा कर रहे हैं।

श्री यादव ने उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर की घटना को भयावह बताया और कहा कि भाजपा ने वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान युवाओं को रोजगार देने का वादा किया था जो आजतक पूरा नहीं हो सका। भाजपा नेता अपने वादे को पूरा करने की बजाय देश का बंटवारे करने में व्यस्त हैं।

लोजद अध्यक्ष ने कहा कि 10 दिसंबर को नयी दिल्ली में सभी विपक्षी दलों की बैठक होगी, जिसमें वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को सत्ता से उखड़ फेंकने के लिए संयुक्त कार्रवाई की रणनीति पर चर्चा होगी।