BREAKING NEWS

राजू श्रीवास्तव की हालत स्थिर, डॉक्टर उनका बेहतर इलाज कर रहे हैं : शिखा श्रीवास्तव◾कोलकाता में ममता से मिले पूर्व भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी◾महाराष्ट्र : रायगढ़ तट से मिली संदिग्ध नाव, AK-47 समेत कई हथियार बरामद ◾रोहिंग्याओं पर राजनीति! भाजपा ने कहा- केजरीवाल रोहिंग्याओं को ‘रेवड़ी’ बांट रहे, राष्ट्रीय सुरक्षा के समझौते को तैयार◾जयशंकर ने कहा- भारत स्वतंत्र, समावेशी व शांतिपूर्ण हिंद प्रशांत की परिकल्पना करता है◾गहलोत का भाजपा पर फूटा गुस्सा- देश को हिंदू राष्ट्र बनाया तो होगा पाकिस्तान जैसा हाल◾रायगढ़ में नाव को लेकर बवाल! फडणवीस बोले- खराब मौसम के कारण नाव अनियंत्रित होकर बहते हुए..... ◾ कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष ने कहा, कर्नाटक में कांग्रेस एकजुट, अकेले और सामूहिक नेतृत्व में लड़ेंगे विधानसभा चुनाव◾पता लगाएं किसने रोहिंग्या को फ्लैट में स्थानांतरित करने का फैसला किया? सिसोदिया ने गृहमंत्री को लिखा पत्र ◾रोहिंग्याओं को लेकर बवाल, थरूर बोले-मुद्दे पर सरकार में असमंजस देश के लिए कलंक◾Jagdeep Dhankhar: उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ से गुलाम नबी आजाद ने अहम मुलाकात की◾राहुल गांधी का भाजपा पर कटाक्ष, बोले- पीएम नरेंद्र मोदी को ऐसी राजनीति पर नहीं आती शर्म◾बीमा भारती के लेसी सिंह पर लगाए आरोपों पर भड़के नीतीश, कहा-अगर इधर-उधर का मन है तो अपना सोचें◾Maharashtra: अवैध शराब पर राज्य के गृह विभाग को वासुदेव के खिलाफ रिपोर्ट मिली, जल्द होगा निलंबित.....बोले फडणवीस ◾Gujarat News: AAP पार्टी का मास्टर प्लान! गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए 9 उम्मीदवारों की दूसरी सूची सांझा की ◾नीतीश के एक और मंत्री विवादों में, कृषि मंत्री सुधाकर सिंह पर लगा भ्रष्टाचार का आरोप◾Defamation Case : मुंबई कोर्ट का आदेश- संजय राउत को वीडियो कांफ्रेंस के जरिए किया जाए पेश ◾फेक न्यूज पर मोदी सरकार का एक्शन, एक पाकिस्तानी समेत 8 YouTube चैनल किए ब्लॉक ◾बाहुबली मुख्तार अंसारी पर बड़ी कार्रवाई, दिल्ली और UP में कई ठिकानों पर ED की रेड◾पश्चिम बंगाल : टेरर कनेक्शन पर एक्शन, STF ने अलकायदा के 2 आतंकियों को किया गिरफ्तार◾

UP चुनाव: स्वामी प्रसाद मौर्य के बाद 3 और विधायकों ने छोड़ा BJP का साथ, पार्टी में लगी इस्तीफों की झड़ी

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के नजदीक आते ही सभी पार्टियों में समीकरण बदलने लगे हैं, इस बीच सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को लगातार बड़े झटके लग रहे हैं। दरअसल, कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के बाद मंगलवार को 3 और विधायकों ने बीजेपी छोड़ दी है। इनमें बांदा जिले की तिंदवारी विधानसभा से विधायक ब्रजेश प्रजापति, शाहजहांपुर की तिलहर सीट से विधायक रोशनलाल वर्मा और कानपुर के बिल्हौर से से विधायक भगवती सागर शामिल हैं।

मौर्य ने त्याग पात्र में कही दलितों, ओबीसी, किसानों आदि के उत्पीड़न की बात 

मौर्य ने अपने त्याग पत्र में लिखा, "विभिन्न विचारधारा के बावजूद, मैंने योगी आदित्यनाथ कैबिनेट में समर्पण के साथ काम किया। लेकिन दलितों, ओबीसी, किसानों, बेरोजगारों और छोटे व्यापारियों के घोर उत्पीड़न के कारण, मैं इस्तीफा दे रहा हूं।" उन्होंने संवाददाताओं से यह भी कहा कि "मेरे बाहर निकलने का भाजपा पर क्या प्रभाव पड़ेगा, यह 2022 के विधानसभा चुनाव के बाद स्पष्ट होगा।" जैसे ही उनका पत्र ट्विटर पर सामने आया, अखिलेश यादव ने मौर्य के साथ एक तस्वीर ट्वीट की, जिसमें उनका और उनके समर्थकों का समाजवादी पार्टी में स्वागत किया गया। 

2 महीने पहले मौर्य ने अमित शाह से की थी शिकायत 

इस मुद्दे के बाहर निकलने से इस विचार को पुष्ट किया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ रैंकों में नाराजगी एक ऐसा मुद्दा है जिसे भाजपा ने अनसुना कर दिया है। बता दें कि मौर्य के निर्णय को बनने में महीनों लगे थे। सूत्रों का कहना है कि 2 महीने पहले उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से योगी आदित्यनाथ को लेकर शिकायत की थी। लेकिन कथित तौर पर इसका कुछ पता नहीं चला।सूत्रों का कहना है कि अमित शाह ने उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को स्वामी प्रसाद मौर्य और उनके समर्थकों को वापस लौटने के लिए मनाने का काम सौंपा है।

डिप्टी CM केशव प्रसाद मौर्य ने की यह अपील 

केशव प्रसाद मौर्य की पहली अपील बहुत ही सार्वजनिक थी। उन्होंने एक ट्वीट में कहा, "मुझे नहीं पता कि स्वामी प्रसाद मौर्य ने क्यों इस्तीफा दिया, लेकिन मैं उनसे अपील करता हूं कि इस्तीफा न दें, लेकिन हम बात करें। जल्दबाजी में लिए गए फैसले का उल्टा असर हो सकता है।" स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा, "केशव मौर्य ने इस बारे में पहले क्यों नहीं सोचा? वह आज मुझे क्यों याद कर रहे हैं? अभी सब बात करेंगे लेकिन जब बातचीत की जरूरत थी, तो उनके पास समय नहीं था।" 

विपक्षी खेमे में आशा की लहर, BJP रह गई स्तब्ध 

मौर्य के अचानक बाहर निकलने से भाजपा स्तब्ध रह गई, तो विपक्षी खेमे में आशावाद बढ़ गया और उसके प्रमुख खिलाड़ियों में से एक, शरद पवार का वजन बढ़ गया। उत्तर प्रदेश में अखिलेश यादव के साथ संयुक्त अभियान की घोषणा करते हुए राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के नेता ने कहा, मौर्य एक दर्जन से अधिक नेताओं को अपने साथ ले जाएंगे। उन्होंने मुंबई में कहा, "यूपी में बदलाव आ रहा है। आज मौर्य ने इस्तीफा दे दिया है और 13 विधायक उनके साथ जा रहे हैं। आने वाले दिनों में आप देखेंगे और लोग इस्तीफा देंगे।"

राष्ट्रीय चुनाव से पहले होने वाले सेमीफाइनल की तरह है UP चुनाव 

उत्तर प्रदेश की चुनावी रणनीति पर चर्चा करने के लिए योगी आदित्यनाथ और भाजपा के शीर्ष नेताओं के दिल्ली पहुंचते ही लखनऊ से बाहर निकलना शुरू हो गया। मौर्य पूर्वी उत्तर प्रदेश के पडरौना से विधायक हैं। उनकी बेटी संघमित्रा यूपी से बीजेपी सांसद हैं। पिछले साल, एक और प्रभावशाली ओबीसी चेहरा और भाजपा के सहयोगी ओम प्रकाश राजभर ने समाजवादी पार्टी को पार कर लिया था। 

उत्तर प्रदेश, भारत का सबसे अधिक आबादी वाला और राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण राज्य, 2024 के राष्ट्रीय चुनाव से पहले व्यापक रूप से सेमीफाइनल के रूप में देखे जाने वाले चुनाव में 10 फरवरी से सात राउंड में वोट होते हैं। परिणाम 10 मार्च को घोषित किए जाएंगे।

बढ़ते कोरोना के बीच दिल्ली में प्रतिबंध सख्त, केजरीवाल बोले- केंद्र ने NCR में पाबंदी लगाने का दिया आश्वासन