BREAKING NEWS

आज का राशिफल (08 फरवरी 2023)◾आत्मनिर्भर नए भारत में हिंसा और वामपंथी उग्रवादी विचार की कोई जगह नहीं है : अमित शाह◾जीवीके ने राहुल गांधी के दावों को खारिज किया, कहा : मुंबई एयरपोर्ट को बेचने का कोई दबाव नहीं था◾Shraddha Walker Murder Case : श्रद्धा के शरीर के 17 से ज्यादा टुकड़े किए, आफताब ने कबूला - चार्जशीट◾तुर्किये और सीरिया में आए भीषण भूकंप में 7000 से अधिक लोगों की मौत◾शिंदे ने मछुआरे समुदाय को नजरअंदाज करने के लिए ठाकरे परिवार पर निशाना साधा◾सुप्रीम कोर्ट में MCD मेयर चुनाव के लिए आप की याचिका पर बुधवार को होगी सुनवाई ◾युवा कांग्रेस ने अडाणी समूह के मामले को लेकर किया प्रदर्शन◾मनोज तिवारी : केजरीवाल मंदिर के पुजारियों के साथ अन्याय कर रहे हैं, इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा◾Bilkis Bano case: सुप्रीम कोर्ट ने दोषियों की सजा में छूट के खिलाफ याचिका पर जल्द सुनवाई का दिया आश्वासन◾अमित शाह बोले- नयी सहकारिता नीति बनने से देश में सहकारी आंदोलन मजबूत होगा◾'कांग्रेस की अडाणी से नजदीकी...', राहुल गांधी के बयानों पर भाजपा सांसद निशिकांत दुबे का पलटवार ◾ममता बनर्जी बोलीं- सिर्फ TMC ही ‘डबल इंजन’ सरकार को सत्ता से कर सकती है बाहर◾असम : बाल विवाह के खिलाफ कार्रवाई के बाद अब समय सीमा के अंदर आरोपपत्र दाखिल करने की बड़ी चुनौती ◾श्रद्धा वाकर हत्याकांड में अदालत ने चार्जशीट पर लिया संज्ञान, 21 को सुनवाई◾ UP Politics: राहुल गांधी का बड़ा आरोप, बोले- 'CM योगी धार्मिक नेता नहीं, बल्कि एक मामूली ठग, बीजेपी कर रही अधर्म'◾AgustaWestland Scam: सुप्रीम कोर्ट ने बिचौलिये क्रिश्चियन मिशेल को जमानत देने से इंकार किया◾CM हिमंत बोले- त्रिपुरा की क्षेत्रीय अखंडता से समझौता नहीं करेगी भाजपा◾झारखंड : मंडी शुल्क के खिलाफ अनाज व्यापारियों का आंदोलन, दुकानें और प्रतिष्ठान बंद रखने का निर्णय ◾गृह मंत्रालय का बड़ा ऐलान, 'देश के 31 जिलों में अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने का प्रावधान'◾

अखिलेश ने AIMIM से गठबंधन करने से किया इनकार, कहा- BJP को हराना है मकसद

समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि वह किसी भी पार्टी का स्वागत करेंगे जो भाजपा को हराना चाहती है, लेकिन एआईएमआईएम से गठबंधन नहीं करेंगे। यह पहली बार है जब अखिलेश यादव ने एआईएमआईएम के साथ किसी भी तरह के गठबंधन से इनकार किया है।

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (एसबीएसपी) के प्रमुख ओम प्रकाश राजभर द्वारा गठित भागीदारी संकल्प मोर्चा में उनके रुख ने पहले ही दरार पैदा कर दी है। एआईएमआईएम मोर्चा का एक महत्वपूर्ण घटक था, लेकिन 27 अक्टूबर को मऊ में एक रैली में राजभर ने सपा के साथ अपने समझौते की घोषणा की, जिसके बाद अन्य मोर्चा सदस्यों के बीच एक असहज शांति व्याप्त हो गई है।

एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने मोर्चा के साथ अपने संबंधों पर कोई बयान नहीं दिया है और राजभर भी इस मुद्दे पर चुप्पी साधे हुए हैं। संपर्क करने पर एसबीएसपी के एक नेता ने कहा कि इस मुद्दे पर टिप्पणी करने के लिए क्या है। जिन्हें स्थिति को समझना होगा, वे समझेंगे। उत्तर प्रदेश में एआईएमआईएम नेताओं ने कहा कि हम इंतजार कर रहे हैं और स्थिति देख रहे हैं। किसी भी स्थिति में, हम अपने दम पर चुनाव लड़ने में सक्षम हैं।

कासगंज मामले में आया नया ट्विस्ट, मृतक के पिता ने पुलिस को क्लीन चिट देने से किया इंकार