BREAKING NEWS

करनाल से बीजेपी के पूर्व सांसद और वरिष्ठ पत्रकार अश्विनी कुमार चोपड़ा का निधन, कैंसर से थे पीड़ित◾कमलनाथ सरकार के खिलाफ धरने पर बैठे MLA मुन्नालाल गोयल, घोषणा पत्र में किए गए वादों को पूरा नहीं करने का लगाया आरोप ◾नवाब मलिक बोले- अगर भागवत जबरदस्ती पुरुष की नसबंदी कराना चाहते हैं तो मोदी जी ऐसा कानून बनाए◾संजय राउत ने सावरकर को लेकर कांग्रेस पर साधा निशाना, बोले- विरोध करने वालों को भेजो जेल, तब सावरकर को समझेंगे'◾दोषियों को माफ करने की इंदिरा जयसिंह की अपील पर भड़कीं निर्भया की मां, बोलीं- ऐसे ही लोगों की वजह से बच जाते हैं बलात्कारी◾पाकिस्‍तान: सुप्रीम कोर्ट ने देशद्रोह मामले में फैसले के खिलाफ मुशर्रफ की याचिका पर सुनवाई से किया इनकार ◾सीएए और एनआरसी के खिलाफ लखनऊ में महिलाओं का प्रदर्शन जारी◾NIA ने संभाली आतंकियों के साथ पकड़े गए DSP दविंदर सिंह मामले की जांच की जिम्मेदारी◾वकील इंदिरा जयसिंह की निर्भया की मां से अपील, बोलीं- सोनिया गांधी की तरह दोषियों को माफ कर दें◾ट्रंप ने ईरान के 'सुप्रीम लीडर' को दी संभल कर बात करने की नसीहत◾ राजधानी में छाया कोहरा, दिल्ली आने वाली 20 ट्रेनें 2 से 5 घंटे तक लेट◾निर्भया : घटना के दिन नाबालिग होने का दावा करते हुए पवन पहुंचा सुप्रीम कोर्ट◾PM मोदी ने मंत्रियों से कहा, कश्मीर में विकास का संदेश फैलाएं और गांवों का दौरा करें ◾भाजपा ने अब तक 8 पूर्वांचलियों पर लगाया दांव◾यूरोपीय संघ के उच्च प्रतिनिधि ने PM मोदी से भेंट की◾दिल्ली पुलिस आयुक्त को NSA के तहत मिला किसी को भी हिरासत में लेने का अधिकार◾न्यायालय से संपर्क करने से पहले राज्यपाल को सूचित करने की कोई जरूरत नहीं : येचुरी◾ममता ने एनपीआर,जनसंख्या पर केन्द्र की बैठक में नहीं लिया भाग◾सिंध में हिंदू समुदाय की लड़कियों के अपहरण को लेकर भारत ने पाक अधिकारी को किया तलब◾नड्डा का 20 जनवरी को निर्विरोध भाजपा अध्यक्ष चुना जाना तय◾

अखिलेश यादव बोले-2022 का विधानसभा चुनाव अकेले लड़ेगी सपा

समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोमवार को कहा कि 2022 का विधानसभा चुनाव उनकी पार्टी अकेले ही लड़ेगी। अखिलेश ने कहा कि "बड़ी पार्टियों से गठबंधन का अंजाम देख चुके हैं। अब सपा 2022 का चुनाव अकेले लड़ेगी।" अखिलेश ने छोटे दलों के साथ गठबंधन की गुंजाइश से मना नहीं किया है। 

बसपा से गठबंधन टूटने के बाद मायावती के आरोपों पर पूछे गए सवाल के जवाब में अखिलेश ने कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया। ज्ञात हो सपा मुखिया अखिलेश यादव ने 2017 के विधानसभा चुनाव कांग्रेस के साथ गठबंधन कर के लड़ा था। इसमें दो नौजवानों को एक साथ लाने की बात पर खूब शोर मचा था। सपा सत्ता से बाहर हो गई। 

समाजवादी पार्टी यूपी में उपचुनाव से पहले पार्टी में कर सकती है फेरबदल

खास बात यह कि सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने सार्वजनिक तौर पर इन दोनों गठबंधन को सपा के लिए नुकसानदेह बताया था। चुनाव परिणाम आने के बाद सपा ने कांग्रेस से गठबंधन तोड़ दिया था। लोकसभा चुनाव से पहले अखिलेश ने दशकों पुरानी अदावत भुलाते हुए बसपा से हाथ मिलाया था। लेकिन इस बार भी अपेक्षाकृत परिणाम नहीं मिले। पार्टी महज पांच सीट ही जीत सकी, जबकि परिवार के तीन सदस्य चुनाव हार गए।