BREAKING NEWS

दिल्ली : कई दिनों से हो रही बारिश के चलते अब कुछ जगहों पर पड़ने लगा है कोहरा ◾देशभर में शारदीय नवरात्रों की धूम, वैष्णों देवी मंदिर में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़◾'आप किसी को बेवकूफ नहीं बना रहे हैं ...', अमेरिका पर भड़के विदेश मंत्री जयशंकर◾कोविड-19 : देश में पिछले 24 घंटो में कोरोना के 4,129 नए मामले दर्ज़, 20 लोगों की मौत ◾दिल्ली में मासूम बच्चें से दरिंदगी, दुष्कर्म के बाद प्राइवेट पार्ट में डाली रॉड ◾राजस्थान में सियासी हलचल तेज, गहलोत गुट के विधायकों ने पार्टी आलाकमान के सामने रखी तीन शर्त◾आज का राशिफल (26 सितंबर 2022)◾राजस्थानः 80 से ज्यादा विधायकों का इस्तीफा, गिर जाएगी गहलोत की सरकार? समझें पूरा गेमप्लान◾Election 2024: विपक्षी एकता की राह में कांग्रेस बनेगी रोड़ा? KCR और ममता बनर्जी का नहीं मिल रहा साथ◾Ind Vs Aus 3rd T20 Match: कोहली-हार्दिक ने किया कमाल, ऑस्ट्रेलिया को रौंदकर भारत ने 2-1 से जीती सीरीज◾अध्यक्ष बनने से पहले गहलोत ने गांधी परिवार को दिखायी ताक़त, दिल्ली से आया फोन, बोले- कुछ नहीं है बसकी बात ◾बांग्लादेश में हिंदू श्रद्धालुओं को मंदिर ले जा रही नौका पलटी, 24 की मौत ◾अंकिता हत्याकांडः सीएम धामी के आश्वासन के बाद NIT घाट पर हुआ अंकिता भंडारी का अंतिम संस्कार ◾HP News: सोमवार को हिमाचल प्रदेश का दौरा करेंगे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ◾गैंगवार से दहल जाती राजधानी, समय रहते पुलिस ने योजना बनाने के आरोप में चार को किया गिरफ्तार ◾Narendra Modi: मोदी का ट्वीट- इजराइलियों को पीएम ने यहूदी नववर्ष की शुभकामनाएं दी ◾गोवा में 20 बंग्लादेशी घुसपैठी गिरफ्तार, सीएम सावंत ने गृहमंत्रालय को निर्वासन प्रक्रिया शुरू करने का किया अनुरोध ◾Maharashtra: हम बोलते नहीं करके दिखाते! 2.5 साल से अटकी कई योजनाओं को दोबार शुरू किया... बोले CM शिंदे◾फतेहाबाद रैली के बाद विपक्षी एकता के साथ कितनी ताकत ! वामदल - समाजवादी दलों के जैसे कई क्षत्रपों का जमघट◾ कांग्रेस और वामदलों सहित एक मोर्चा बनाना समय की जरूरत : नीतीश ◾

इलाहाबाद HC ने 'शोर' करने वाले बाइकर्स के खिलाफ कार्रवाई के दिए निर्देश

संशोधित साइलेंसर के माध्यम से ध्वनि प्रदूषण फैलाने वाले दोपहिया वाहनों पर इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ पीठ ने राज्य के अधिकारियों को सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए है। अदालत ने अधिकारियों से ऐसी बाइकों के मालिकों के खिलाफ की गई कार्रवाई पर सुनवाई की अगली तारीख तक व्यक्तिगत हलफनामा दाखिल करने को कहा है। 

न्यायमूर्ति अब्दुल मोइन की पीठ ने मंगलवार को आदेश पारित किया है, जिसमें भारतीय और विदेशी निर्मित दोपहिया वाहनों में साइलेंसर के संशोधन के कारण होने वाले ध्वनि प्रदूषण का स्वत: संज्ञान लेते हुए 80 डेसिबल की अनुमेय सीमा से अधिक ध्वनि उत्पन्न होती है। 

मामले को एक जनहित याचिका के रूप में मानने और इसे एक उपयुक्त पीठ के समक्ष रखने का निर्देश देते हुए, न्यायमूर्ति मोइन ने प्रमुख सचिव (परिवहन), प्रमुख सचिव, (गृह), पुलिस महानिदेशक, अध्यक्ष, राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और पुलिस उपायुक्त को निर्देश दिया। (यातायात), लखनऊ बेंच को 10 अगस्त तक अनुपालन का अपना हलफनामा दाखिल करने को कहा।

अदालत ने वाहनों के ध्वनि प्रदूषण पर चिंता व्यक्त की और कहा, शोर मफलर / साइलेंसर के संशोधन से ऐसी स्थिति पैदा हो गई है, जहां सैकड़ों मीटर दूर एक वाहन को सुना जा सकता है, जिससे बच्चों, बूढ़े और कमजोर व्यक्तियों को असुविधा होती है।

पीठ ने कहा, स्कूटर और मोटरसाइकिल के लिए ताय सीमा 75 से 80 डेसिबल तक होती है और यह निर्माण स्तर पर तय की जाती है। साइलेंसर को संशोधित करके या मफलर को हटाकर, शोर की सीमा 80 डेसिबल से अधिक हो जाती है। समस्या को अधिकारियों द्वारा संबोधित किया जाना चाहिए।