BREAKING NEWS

योगी सरकार का बड़ा फैसला : डीआईजी एसटीएफ अनंत देव का हुआ ट्रांसफर◾ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो पाए गए कोरोना पॉजिटिव◾महाराष्ट्र : 24 घंटे में कोरोना से 224 लोगों की मौत, 5134 नये मामले ◾दिल्ली में कोरोना का कोहराम जारी, बीते 24 घंटे में 2008 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 1,02,831 तक पहुंचा◾पश्चिम बंगाल: कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते कोलकाता में फिर से लग सकता है लॉकडाउन ◾CBSE का बड़ा ऐलान, अगले साल 9वीं से 12वीं क्लास के सिलेबस में 30 फीसदी की होगी कटौती, बोर्ड ने ट्वीट कर दी जानकारी◾भारत में कोरोना टेस्टिंग का आंकड़ा पहुंचा 1 करोड़ के पार, मृत्यु दर दुनिया में सबसे कम : स्वास्थ्य मंत्रालय◾राहुल के आरोपों पर AgVa कंपनी का जवाब, कहा- वह डॉक्टर नहीं है, दावा करने से पहले करनी चाहिए थी पड़ताल◾यथास्थिति बहाल होने तक LAC से भारत को एक इंच भी पीछे नहीं हटना चाहिए : कांग्रेस◾राहुल का केंद्र सरकार से सवाल, कहा- भारतीय जमीन पर निहत्थे जवानों की हत्या को कैसे सही ठहरा रहा चीन?◾भारत-चीन बॉर्डर पर IAF ने दिखाया अपना दम, चिनूक और अपाचे हेलीकॉप्टर ने रात में भरी उड़ान◾विकास दुबे की तलाश में जुटी पुलिस की 50 टीमें, चौबेपुर थाने में 10 कॉन्स्टेबल का हुआ तबादला◾कोरोना वायरस : देश में मृतकों का आंकड़ा 20 हजार के पार, संक्रमितों की संख्या सवा सात लाख के करीब ◾पुलवामा में एनकाउंटर के दौरान सुरक्षा बलों ने 1 आतंकी मार गिराया, सेना का एक जवान भी हुआ शहीद ◾चीन मुद्दे पर US ने एक बार फिर किया भारत का समर्थन, कहा- अमेरिकी सेना साथ खड़ी रहेगी◾विश्वभर में कोविड-19 मरीजों की संख्या 1 करोड़ 15 लाख से अधिक, मरने वालों का आंकड़ा 5 लाख 3 हजार के पार ◾US में कोरोना संक्रमितों की संख्या 29 लाख के पार, अब तक 1 लाख 30 हजार से अधिक लोगों ने गंवाई जान◾गृह मंत्रालय से विश्वविद्यालयों को मिली हरी झंडी, परीक्षाएं कराने की मिली अनुमति◾महाराष्ट्र में कोरोना के 5,368 नए मामले आये सामने, 204 और मरीजों की मौत◾वांग - डोभाल बातचीत के बाद बोला चीन - LAC पर सैनिकों को पीछे हटाने का काम जल्द से जल्द किया जाना चाहिए ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

CBI ने कोर्ट को बताया- उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता का अपहरण कर तीन लोगों ने नौ दिन तक किया रेप

सीबीआई ने शुक्रवार को दिल्ली की अदालत को बताया कि उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता का 2017 में कथित रूप से अपहरण करने के बाद तीन लोगों ने अलग-अलग जगहों पर नौ दिन तक उसका बलात्कार किया और उस समय वह नाबालिग थी। यह मामला निष्कासित भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर द्वारा 2017 में महिला के कथित बलात्कार के मामले से अलग है। 

मामले से जुड़े एक वकील ने बताया कि बंद कमरे में हुई अदालत की कार्यवाही के दौरान जिला न्यायाधीश धर्मेश शर्मा ने सामूहिक बलात्कार मामले में सीबीआई द्वारा दायर आरोप पत्र का संज्ञान लिया और मामले को आगे की सुनवाई के लिए 15 अक्टूबर के लिए सूचीबद्ध किया। 

सीबीआई ने अपने आरोप पत्र में भारतीय दंड संहिता की धाराओं 120बी (आपराधिक षड्यंत्र), 363 (अपहरण), 366 (अपहरण या महिला को शादी के लिए मजबूर करना), 376 डी (एक से अधिक लोगों द्वारा यौन उत्पीड़न) और बाल यौन अपराध संरक्षण अधिनियम (पोक्सो) की धाराओं तीन और चार (बलात्कार एवं सजा) के तहत आरोपियों के रूप में तीन लोगों- नरेश तिवारी, बृजेश यादव और शुभम सिंह को नामजद किया है। 

उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता सड़क हादसा : सीबीआई के आरोपपत्र में सेंगर के विरूद्ध हत्या का आरोप नहीं

इन आरोपों के तहत अपराध तय होने पर अधिकतम उम्रकैद का प्रावधान है। उन्नाव में एक न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने दर्ज कराए गए बलात्कार पीड़िता के बयान के हवाले से सीबीआई ने कहा कि 11 जून 2017 को वह रात में पानी लेने अपने घर से बाहर निकली थी जब सिंह और तिवारी ने तीन अन्य लोगों के साथ मिलकर उसे एक कार में खींच लिया। 

आरोप पत्र के अनुसार कुछ दूर जाने के बाद सिंह और तिवारी ने कार में उसका कथित रूप से बलात्कार किया। इसमें कहा गया है कि उसे कानपुर जाने के मार्ग में पड़ने वाले एक मकान में ले जाया गया जहां चेहरा ढके दो अज्ञात लोगों ने उसका कथित रूप से बलात्कार किया। आरोप पत्र के अनुसार दो-तीन दिन बाद उसे यादव के घर लाया गया जहां उसने उसका कथित बलात्कार किया। इसके दो दिन बाद उसे उत्तर प्रदेश के औरैया जिले ले जाया गया, जहां से वह पुलिस को मिली। 

जांच में सीबीआई ने पाया कि बलात्कार पीड़िता का 12 जून के बजाए 11 जून को अपहरण किया गया क्योंकि सिंह और तिवारी 11 जून को उस जगह पर नहीं थे। आरोप पत्र के अनुसार हालांकि महिला ने तिवारी के दिए किसी भी मोबाइल फोन का इस्तेमाल करने से इनकार किया है, लेकिन जांच में खुलासा हुआ कि उसने फोन का इस्तेमाल किया था। 

इसमें बताया गया है कि तीन अन्य आरोपियों के बारे में पूछताछ किए जाने पर महिला ने बताया कि उसने वकील मनोज सेंगर के धमकाने के कारण उनका नाम लिया था। सीबीआई ने कहा कि अन्य आरोपियों की भूमिका का पता लगाने के लिए जांच जारी है। एजेंसी मामले की जांच के तहत 103 गवाहों से पूछताछ करेगी। इस मामले को सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर राष्ट्रीय राजधानी स्थानांतरित किया गया है।