BREAKING NEWS

महाराष्ट्र में अमित शाह ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के लिए नेहरू को ठहराया जिम्मेदार◾राज बब्बर बोले-अन्य विपक्षी पार्टियां डरी हुई हैं केवल कांग्रेस ही बीजेपी को टक्कर दे सकती है◾अक्षरधाम मंदिर के पास पुलिस वाहन पर 4 अज्ञात बदमाशों ने की गोलीबारी◾मॉब लिंचिंग की घटनाओं को लेकर थरूर ने केंद्र पर उठाए सवाल, बोले-पिछले 6 वर्षों में क्या देखा◾बलोच, सिंधी और पख्तून समूहों को PM मोदी और डोनाल्ड ट्रंप से मदद की आस◾ह्यूस्टन में PM मोदी ने ऊर्जा कंपनियों के 17 सीईओ से की वार्ता, अमेरिका से LNG पर करार◾VIDEO : ह्यूस्टन में कश्मीरी पंडितों से मिले PM मोदी, बोले- जो आपने कष्ट झेला वो कम नहीं है◾ह्यूस्टन में PM मोदी ने पेश की स्वच्छता की मिसाल, गिरा हुआ फूल खुद उठा कर सबको चौंकाया, देखें VIDEO◾भारतीय अमेरिकी समुदाय ने कहा- PM नरेंद्र मोदी की यात्रा ह्यूस्टन के लिए बड़ी बात◾अयोध्या के विवादित ढांचा को ढहाए जाने के मामले में कल्याण सिह को समन जारी◾‘Howdy Modi’ के लिए ह्यूस्टन तैयार, 50 हजार टिकट बिके ◾‘Howdy Modi’ कार्यक्रम के लिए PM मोदी पहुंचे ह्यूस्टन◾प्रधानमंत्री का ह्यूस्टन दौरा : भारत, अमेरिका ऊर्जा सहयोग बढ़ाएंगे ◾क्या किसी प्रधानमंत्री को ऐसे बोलना चाहिए : पाक को लेकर मोदी के बयान पर पवार ने पूछा◾कश्मीर पर भारत की निंदा करने के लिये पाकिस्तान सबसे ‘अयोग्य’ : थरूर◾राजीव कुमार की अग्रिम जमानत अर्जी खारिज ◾AAP ने अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित करने में देरी पर ‘धोखा दिवस’ मनाया ◾ शिवसेना, भाजपा को महाराष्ट्र चुनावों में 220 से ज्यादा सीटें जीतने का भरोसा◾आधारहीन है रिहाई के लिए मीरवाइज द्वारा बॉन्ड पर दस्तखत करने की रिपोर्ट : हुर्रियत ◾TOP 20 NEWS 21 September : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾

उत्तर प्रदेश

लखनऊ में गंदगी एवं कूड़े को लेकर न्यायालय का कड़ा रुख

इलाहाबाद उच्च न्यायालय की लखनऊ पीठ ने शहर की साफ-सफाई एवं कूड़े मुक्त किये जाने के मामले में नगर निगम सहित लखनऊ विकास प्राधिकरण (एलडीए), आवास विकास परिषद और अन्य संबंधित विभागों के आला अफसरों के द्वारा पेश रिपोर्ट पर अंसतोष जताते हुए फिर से कड़ा रुख अपनाया है। न्यायालय ने कहा कि सभी विभागों के अफसर फिर से स्पष्ट करे कि कितने ठेकेदार, एनजीओ और कर्मचारियों को सफाई का काम दिया गया।

अदालत ने कहा कि आम जनता की गाढ़ कमाई का दुरुपयोग मिलने पर बहुत सख्त कदम उठाया जाएगा। इसी के बावत न्यायालय ने सभी विभागों से फिर से विस्तृत हलफनामें मांगे है। न्यायमूर्ति मुनीस्वर नाथ भंडारी और न्यायमूर्ति सौरभ लावानिया की पीठ ने नगर निगम की ओर से दायर याचिका पर स्वयमेव संज्ञान लेकर दर्ज याचिका पर सोमवार को यह आदेश दिए।

अदालत ने एक अन्य याचिका को भी साथ मे सूचीबद्ध किया है याची की ओर से आरोप लगाए गए कि लखनऊ शहर में जगह-जगह कूड़ इक्टठा करने से आम आदमी का जीना दूभर हो गया है। शहर में धड्डल्ले से पॉलीथीन का प्रयोग हो रहा है। पॉलीथीन के रोकने का शासनादेश ठंडे बस्ते में चला गया है। पॉलीथीन कूड़ कचरा बढ़ रही है। नालो एवं नालियों में सफाई नहीं की जा रही है। नालो से निकला कचरा सड़को पर ढेर लगा है। छुट्टा जानवर सड़को पर है। पूरे शहर में अतिक्रमण से जाम की स्थिति है।

अदालत में सुनवाई के समय नगर आयुक्त एवं अन्य अधिकारियों की के रिपोर्ट पर संतुष्टि जाहिर नही की। अदालत ने कहा कि लखनऊ में कोई सफाई नहीं है जगह-जगह कूड़ सडको पर बिखरा पड़ है तथा ढ़र लगे है। अदालत ने कहा कि ऐसा लगता है कि महज कुछ लोगों और ठेकेदारो को लाभ देने के लिए केवल कागजों पर कार्रवाई दिखाई जा रही है।

अदालत ने नगर आयुक्त से पूछा कि सलाना कितना बजट आता है इस पर बताया कि बारह सौ करोड़ का बजट आता है। न्यायालय ने सख्त लहजे में कहा कि इस बजट का उपयोग आम जनता के लये होना चाहिये। कहा कि महज ठेकेदारो को लाभ देने के लिए इसका उपयोग न किया जाए। यह भी कहा कि हर विभाग में ठेकेदारो और चहेतो को लाभ देने संबंधी भ्रष्टाचार बन्द होना चाहिए।

अदालत ने नगर निगम सहित अन्य विभागों के साथ-साथ लखनऊ के जिलाधिकारी (डीएम) और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को भी निर्देश दिए है कि शहर की गंदगी अतिक्रमण, छुट्टा जानवरो एवं साड़ के बावत अपनी भूमिका निभाएंगे। अदालत ने कहा कि सड़कों को खोदाई एवं नालो की सफाई के बाद कचरे को तत्काल हटाया जाय। पॉलिथीन पर रोक के बावजूद भी प्रयोग हो रहा है इसपर अदालत ने नाराजगी जाहिर की। अदालत ने जिला प्रशासन से भी कहा कि तत्काल अवैध पॉलीथीन की बिक्री पर रोक लगाए और इसके लिए शासनादेश का कड़ई से पालन कराया जाए। मामले की अगली सुनवाई 22 मई को होगी।